Breaking Newsऋषिकेशदेशभक्तिशहर में खास

*बीआरओ चीफ आशु सिंह राठौड़(AVSM) (VSM)ने उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल से की शिष्टाचार भेंट*

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश।

ऋषिकेश 12 जनवरी।विधानसभा अध्यक्ष के कैम्प कार्यालय में आज बीआरओ (बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन) चीफ इंजीनियर आशु सिंह राठौड़(AVSM)(VSM) ने उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल से शिष्टाचार भेंट की।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने 3 साल से उत्तराखंड को दी जा रही उनकी सेवाओं के लिए चीफ इंजीनियर को सम्मानित किया।

अवगत करा दे की बीआरओ चीफ इंजीनियर आशु सिंह राठौड़ द्वारा उत्तराखंड को लगातार तीन साल सेवा प्रदान करने के बाद अब स्थानांतरित होने पर दिल्ली में अपनी सेवाएँ देंगे एवं विगत कुछ दिनों बाद ही वह दिल्ली में अपने पदभार को ग्रहण करेंगे।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने बीआरओ के शिवालिक रेंज के चीफ इंजीनियर के पद पर कार्यरत एस एस राठौड़ को पुष्प गुच्छ भेंट करते हुए दिल्ली में दी जाने वाली सेवाओं के लिए उन्हें अग्रिम शुभकामनाएं दी। उत्तराखंड से विदाई से पूर्व बीआरओ चीफ़ ने आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष से भेंटवार्ता की।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इन 3 सालों में चीफ इंजीनियर के नेतृत्व में उत्तराखंड में बहुत से ऐसे कार्य किए गए हैं जिसका लाभ सीमा पर रक्षा के साथ-साथ उत्तराखंड की आर्थिक, सामाजिक एवं पर्यटन स्थिति को भी मिला है। अग्रवाल ने कहा कि उनके नेतृत्व में बहुत सी सफलताएं हासिल हुई है जिसमें कई लंबित परियोजनाओं पर त्वरित निर्णय लेकर कार्यों को शुरू किया गया। अग्रवाल ने कहा कि बीआरओ चीफ के नेतृत्व में उत्तराखंड में चार धाम संबंधित कार्यों, चाइना बॉर्डर तक सड़क निर्माण एवं पुल निर्माण सहित कही महत्वपूर्ण योजनाओं को सफलतापूर्वक पूर्ण किया गया है।जिसके लिए उन्होंने बीआरओ चीफ़ का धन्यवाद भी व्यक्त किया।

इस अवसर पर बीआरओ चीफ ने विधानसभा अध्यक्ष को अवगत किया कि बीआरओ द्वारा 10 साल में पहली बार उत्तराखंड में इस वर्ष 662 करोड़ रुपए से अधिक बजट खर्च किया गया है।उन्होंने कहा कि बीआरओ का लक्ष्य भारतीय सीमाओं पर सुचारु सड़क व्यवस्था उपलब्ध कराना है ताकि सीमा क्षेत्र में तैनात जवानों को आवाजाही व आवश्यक सामग्री को सुगमता से पहुंचाई जा सके।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close