ऋषिकेशशहर में खासस्वास्थ्य

चिकित्सा क्षेत्र में नर्सेस का रोल अत्यधिक महत्वपूर्ण -एम्स निदेशक!

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश! अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में आयोजित अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह के तहत विभिन्न रचनात्मक कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिनमें पोस्टर प्रतियोगिता, स्लोगन, फोटोग्राफी प्रतियोगिताएं आदि शामिल हैं। एम्स संस्थान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह मंगलवार को विधिवत संपन्न हो गया। सप्ताहव्यापी कार्यक्रम के तहत नर्सिंग ऑफिसरों ने कोविड- 19 फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स का पुष्पवर्षा कर हौंसला बढ़ाया। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय नर्सिग सप्ताह के तहत आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता में 20, फोटोग्राफी में 15 और स्लोगन प्रतियोगिता में 10 नर्सिंग ऑफिसरों ने प्रतिभाग किया। इस दौरान नर्सिंग ऑफिसरों ने जनजागरुकता स्लोगन लिखी त​ख्तियों के माध्यम से कोविड- 19 में अग्रीम पंक्ति में मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ व अन्य कर्मचारियों का उत्साहनवर्धन किया। इस अवसर पर निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने कहा कि चिकित्सा क्षेत्र में धीरे- धीरे नर्सेस का रोल अत्यधिक महत्वपूर्ण हो गया है। उन्होंने कहा ​कि एम्स संस्थान इन्हें नर्स हेल्थ प्रेक्टिसनर के रूप में देखना चाहता है। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत जी ने कहा कि हेल्थ केयर वर्कर के तौर पर प्राइमरी रोल नर्सेस का है, लिहाजा वह हेल्थ केयर प्रेक्टिसनर्स के रूप में दूर-दराज तक बेहतर चिकित्सा सेवा का संदेश दें व जनता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत जी ने बताया कि नर्सेस को आईसीयू जैसे महत्वपूर्ण स्थान पर नर्सिंग की भूमिका और अहम हो गई है,लिहाजा उन्हें कंधे से कंधा मिलाकर व नई तकनीकियों को ध्यान में रखते हुए ​चिकित्सा सेवाकार्य के लिए तत्परता से आगे आना होगा। उन्होंने जोर दिया कि नर्सेस को प्राइमरी हेल्थ केयर की जिम्मेदारी अपने ऊपर लेने की आवश्यकता है, जिससे मरीजों को लाभ मिल सके। इस अवसर पर एओ नर्सिंग डा. प्रदीप अग्रवाल, स्टोर ऑफिसर विमल कुमार सचान, असिस्टेंट नर्सिंग सुपरिटेंडेंट (एएनएस) अज्जो उन्नि कृष्णन, वंदना, पुष्पारानी,रूचिका शर्मा, रवनीत कौर, ज्योतिष, मनोज कुमार, जितेंद्र कुमार शर्मा, जीनो जैकब, शीजा जनार्दन, निखिल बी., कमलेश, कैप्टन कल्पना,अखिल आदि मौजूद थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

53 Comments

  1. Hey I know this is off topic but I was wondering if you knew of any widgets I could add to my blog that automatically tweet my newest twitter
    updates. I’ve been looking for a plug-in like this for quite some time and was hoping maybe
    you would have some experience with something like this.
    Please let me know if you run into anything. I truly enjoy reading
    your blog and I look forward to your new updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close