Breaking Newsऋषिकेशक्राइम

जापानी महिला से अश्लील बातें करना व शारीरिक संबंध बनाने हेतु परेशान करने पर तीन गिरफतार!

ऋषिकेश पुलिस की तत्परता से तीन घंटे के अंदर तीनों अभियुक्त हुए हावालात के अंदर!

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश!

09 मई 20 को कोतवाली ऋषिकेश में जापानी महिला शिकायत कर्ता हाल निवासी मुनी की रेती टिहरी गढ़वाल, के द्वारा एक शिकायती प्रार्थना पत्र दिया गया कि वह अलक योगा टीचर ट्रेनिंग स्कूल गली नंबर 3 आम बाग आईडीपीएल ऋषिकेश में योगा का कोर्स कर रही थी और वहां पर कोर्स करने वाले तीन योगा टीचर किशन, विकास प्रधान, योगी चंद्रकांत वह एक किचन स्टाफ के द्वारा मुझसे अश्लील बातें की गई, तथा शारीरिक रूप से संबंध बनाने के विषय में भी परेशान किया गया। महिला की शिकायत पर *कोतवाली ऋषिकेश में तत्काल मुकदमा अपराध संख्या 176/2020 धारा 354 (क), 354(घ) आईपीसी पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई थी।
अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस उप- महानिरीक्षक व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद देहरादून के द्वारा तत्काल टीम गठित कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया था।
जिसके अनुपालन में पुलिस अधीक्षक देहात व क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश के द्वारा टीम गठित की गई व टीम को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।
आज गठित टीम द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु उनके निवास स्थान माधव रेजीडेंसी गली नंबर 3 आम बाग कॉलोनी आईडीपीएल ऋषिकेश पर दबिश दी गई तो तीनों अभियुक्तों को उनके आवास से गिरफ्तार किया गया है।
अभियुक्तों के नाम हरिकिशन पुत्र सतपाल सिंह निवासी ग्राम बानचेड़ी पोस्ट वरपाल जिला अमृतसर पंजाब।
हाल निवासी- *माधव रेजिडेंसी गली नंबर 3 आम बाग कॉलोनी आईडीपीएल ऋषिकेश
उम्र 43 वर्ष।
चंद्रकांत दाहल पुत्र नरसिंह दाहल निवासी गंगा सूरजपुर कॉलोनी हरिपुर कला थाना रायवाला देहरादून*
हाल निवासी- *माधव रेजीडेंसी गली नंबर 3 आम बाग कॉलोनी आईडीपीएल ऋषिकेश
उम्र 32 वर्ष।
सोमराज उर्फ सेम पुत्र उत्तम चंद निवासी ग्राम चंबा थाना चंबा हिमाचल प्रदेश।
हाल निवासी-माधव रेजिडेंसी गली नंबर 3 आम बाग कॉलोनी आईडीपीएल ऋषिकेश*
उम्र 23 वर्ष, तीनों अभियुक्तों को समय से माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close