ऋषिकेशशहर में खासस्वास्थ्य

एम्स ऋषिकेश में भर्ती कोरोना पॉजिटिव पेसेंट की रिपोर्ट नेगेटिव आई -एम्स निदेशक!

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश! अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में भर्ती कोरोना पॉजिटिव पेसेंट की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद मरीज को शनिवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। गौरतलब है कि यह एम्स में भर्ती दूसरा पेसेंट है, जो कि संस्थान की नर्सिंग ऑफिसर है। इससे पूर्व दून से एम्स में रेफर होकर आए कोरोना पॉजिटिव पेसेंट की उपचार के बाद कोविड 19 रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि संस्थान में भर्ती कोविड पॉजिटिव लगातार दूसरे मरीज की भी उपचार के बाद रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इससे स्वास्थ्यकर्मियों व कोविड वाॅरियर्स में उत्साह का माहौल है। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि कोरोना वायरस ग्रसित मरीजों के उपचार को लेकर हमारी कार्यप्रणाली में कहीं कोई कमी नहीं है,लिहाजा इस मामले से एम्स के कोविड को लेकर लिए गए संकल्प को और बल मिला है। और संस्थान दोगुनी ऊर्जा से कोविड संक्रमित मरीजों की सेवा कर रहा है। शुक्रवार को एम्स संस्थान में भर्ती कोरोना पॉजिटिव एक महिला नर्सिंग ऑफिसर की कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जनरल सर्जरी विभाग की इस महिला हेल्थ वर्कर यूरोलॉजी आईपीडी में ड्यूटी पर थी, जहां भर्ती हुए एक अन्य कोरोना पॉजिटिव मरीज से उसे संक्रमण हुआ था। जिसके बाद नर्सिंग ऑफिसर को एम्स अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था। उनकी दूसरी कोविड जांच भी नेगेटिव आई है,लिहाजा इस मरीज को कोरोना मुक्त घोषित कर दिया गया है। सरकार द्वारा निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार शनिवार को इस मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती के 10 दिन पूर्ण हो रहे हैं, लिहाजा शनिवार को मरीज को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि इससे पूर्व दो मई को दून से रेफर होकर आए कोरोना पॉजिटिव कैंसर पेसेंट की एम्स में उपचार के बाद कोविड जांच रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है। इसके बाद इस मरीज को आइसोलेशन वार्ड से कैंसर वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है,जहां इनका कैंसर का उपचार चल रहा है। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत के स्टाफ ऑफिसर डा. मधुर उनियाल जी ने बताया कि एम्स में भर्ती अन्य कोरोना पॉजिटिव मरीजों की सेहन में भी तेजी से सुधार हो रहा है, सभी रोगी स्वस्थ हैं। उन्होंने बताया कि अन्य भर्ती पांच में से कोई भी मरीज आईसीयू में नहीं है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

30 Comments

  1. Excellent site you have here but I was wanting to
    know if you knew of any community forums that cover the same topics talked
    about here? I’d really love to be a part of community where I can get comments from other experienced people that share
    the same interest. If you have any suggestions, please let me know.
    Appreciate it! adreamoftrains web hosting sites

  2. You have made some really good points there. I looked on the
    web to learn more about the issue and found most people will go
    along with your views on this site.

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close