ऋषिकेशशहर में खासस्वास्थ्य

नगर निगम महापौर ने प्रशासनिक अधिकारियों की ली महत्वपूर्ण बैठक*

कोरोना के बड़ते खतरों देख शहर के तमाम प्रमुख होटलों को क्वारंटाइन सेंटर बनाए जाने का लिया गया निर्णय*

*देवभूमि जे के न्यूज़!

ऋषिकेश- कोरोना वायरस के चलते ऋषिकेश एम्स हॉस्पिटल में आज हुई महिला की मौत के बाद स्थानीय प्रशासन में हड़कंप मच गया है।
ऋषिकेश एम्स अस्पताल के चिकित्सकों एवं कर्मचारियों के रहने के लिए स्थानीय प्रशासन ने शहर के तमाम प्रमुख होटलों को अधिग्रहण करने का निर्णय लिया है।प्रशासन ने अब तेजी से बदल रहे हालातों को देखते हुए शहर के होटलों को क्वारंटाइन सेंटर बनाए जाने के लिए कवायद तेज कर दी है।एम्स में कोरोना पॉजिटिव महिला की आज हुई मौत के बाद प्रशासन ने एम्स के केे चिकित्सा कर्मियों केे रहने की व्यवस्था नगर के होटलों में करने का निर्णय लिया है।
शुक्रवार की दोपहर नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने प्रशासनिक अधिकारियों और शहर के होटल संचालकों की बैठक ली।बैठक मेे ऋषिकेश के होटलों को क्वारंटाइन सेंटर बनाए जाने का निर्णय लिया गया है। बैठक में महापौर अनिता ममगाई ने कहा कि कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण परिस्थितियां रोज बदल रही हैं। आने वाले कुछ दिन और चुनौती भरे हैं। इनसे निपटने के लिए हर आवश्यक कदम उठाए जायेेंं। उन्होंने कहा कि नगर निगम प्रशासन स्थानीय प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कोविड-19 की चुनौतियो का सामना करेगा।उन्होंनेे कहा कि लाँँक डाउन के चलते पर्यटकों की आवाजाही रुकी हुई है। सभी होटल खाली हैं। प्रशासन अपनी तरफ से ज्यादा से ज्यादा क्वारंटाइन सेंटर बनाकर उन्हें आरक्षित रखना चाहता है। निगम आज से ही इन होटल को सैनिटाइजेशन करने का कार्य शुरू कर देग। बैठक मेंनगर आयुक्त नरेंद्र कुरियाल, उपजिलाधिकारी
प्रेमलाल,आई ए एस अपूर्वा पांडेय,पुलिस उपाधीक्षक वीरेंद्र रावत,तहसील दार रेखा आर्य, कोतवाली प्रभारी रितेश शाह,संदीप गुप्ता ,मदन नागपाल,सुनील ग्रोवर आदि मौजूद रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close