Breaking Newsऋषिकेशस्वास्थ्य

एम्स ऋषिकेश का कर्मचारी निकला कोरोना पॉजिटिव!

यूरोलॉजी डिपार्टमेंट में था तैनात!

देवभूमि जेके न्यूज, ऋषिकेश!

बीस बीघा निवासी गली नंबर तीन, 27 वर्षीय युवक निकला कोरोनावायरस संक्रमित।
ज्ञात हो कि युवक एम्स में यूरोलॉजी विभाग में कार्यरत है। पिछले दिनों वह उड़ीसा से यात्रा कर वापस ऋषिकेश आया था, उसे घर पर ही कोरोंटाइन किया गया था, और उसकी सैंपल जांच के लिए भेज दी गई थी ।
सैंपल में संक्रमित होने का सकारात्मक परिणाम आया है ।जिसके कारण शासन प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। उसके साथ 2 लोगों में संक्रमित होने का अंदेशा जताया जा रहा है।अब बात की जांच की जा रही है कि इस दौरान यह अपने परिवार और बाहर कौन-कौन लोग इसके संपर्क में आए होंगे?
वहीं एम्स ऋषिकेश ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में कार्यरत एक हेल्थ केयर वर्कर के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। संस्थान के संकायाध्यक्ष (अस्पताल प्रशासन) प्रो.यूबी मिश्रा ने बताया कि एम्स के यूरोलॉजी विभाग की आईपीडी में कार्यरत नर्सिंग ऑफिसर जांच में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उन्होंने बताया कि इस हेल्थ केयर वर्कर में 24 अप्रैल को इस बीमारी के मामूली लक्षण विकसित हुए हैं मगर उस दिन उसने एम्स की स्क्रीनिंग ओपीडी में रिपोर्ट नहीं की। अगले दिन 25 अप्रैल को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें बढ़ने पर उसका स्क्रीनिंग ओपीडी में सैंपल लिया गया। जिसके बाद 25 अप्रैल की रात को उसके कोविड 19 पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। उन्होंने बताया कि इस नर्सिंग स्टाफ के किसी अन्य कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से संक्रमण होने की आशंका है। प्रो.मिश्रा ने बताया कि संस्थान ने ऐहतियात के तौर पर यूरोलॉजी आईपीडी में कार्यरत सभी स्टाफ मेंबर्स की कोविड19 स्क्रीनिंग व टेस्टिंग करनी शुरू कर दी है। सभी कर्मचारियों का सैंपल लिया जा रहा है। साथ ही यूरोलॉजी आईपीडी में भर्ती मरीजों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं। इन मरीजों को कोविड 19 टेस्टिंग रिपोर्ट में नेगेटिव पाए जाने पर ही अस्पताल से डिस्चार्ज किया जाएगा। उन्होंने बताया कि एम्स प्रशासन द्वारा इस संपूर्ण आईपीडी ब्लॉक को कोरोंटाइन किया जा रहा है। फिलहाल इस ब्लॉक में किसी भी नए मरीज की भर्ती नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि आवश्यकता पड़ने पर प्रशासन के सहयोग से मरीज के आसपास रहने वाले लोगों की भी एम्स द्वारा कोविड की सघन जांच की जाएगी। एम्स प्रशासन के अनुसार अस्पताल में जनरल ओपीडी व कोविड19 स्क्रीनिंग ओपीडी सेवाएं फिलहाल जारी रहेंगी जिससे मरीजों को किसी तरह की स्वास्थ्य परीक्षण संबंधी दिक्कतें नहीं हों।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close