ऋषिकेशधर्म-कर्म

रोटी तो मात्र पेट की ज्वाला शांत करने वाली वस्तु है। इस पेट में न सही, तो उनके पेट में ही सही!

प्रेरक प्रसंग!

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश!

स्वामी विवेकानंद के जीवन की यह एक घटना है। भ्रमण करने एवं भाषणों के बाद स्वामी विवेकानन्द अपने निवास स्थान पर आराम करने के लिए लौटे हुए थे। उन दिनों वे अमेरिका में ठहरे हुए थे और वे अपने ही हाथों से भोजन बनाते थे। वे भोजन करने की तैयारी कर ही रहे थे की कुछ बच्चे उनके पास आकर खड़े हो गए।

उनके अच्छे व्यव्हार के कारण बहुत बच्चे उनके पास आते थे। वे सभी बच्चें भूखे मालुम पड़ रहे थे। स्वामी जी ने अपना सारा भोजन बच्चों में बाँट दिया। वहीँ पर एक महिला बैठी ये सब देख रही थीं। उसने बड़े ही आश्चर्य से पूछा- “आपने अपनी सारी रोटियां तो इन बच्चों को दे डाली, अब आप क्या खाएंगे?”

स्वामी जी मुस्कुराते हुए बोले- माता! रोटी तो मात्र पेट की ज्वाला शांत करने वाली वस्तु है। इस पेट में न सही तो उनके पेट में ही सही। आखिर वे सब भगवान के अंश ही तो हैं। देने का आनंद, पाने के आनंद से बहुत बड़ा है।

*शिक्षा*– अपने बारे में सोचने से पहले दूसरों के बारे में सोचना ज्यादा आनन्ददायी होता है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

27 Comments

  1. You could definitely see your enthusiasm within the article you write.
    The arena hopes for more passionate writers such as you who aren’t afraid to mention how they believe.
    All the time follow your heart.

  2. Simply want to say your article is as astonishing.
    The clearness to your put up is just cool and i could assume you are a professional in this subject.
    Fine together with your permission allow me to seize your feed to stay up to date with coming near near post.
    Thanks one million and please carry on the gratifying work.

  3. You’re so cool! I don’t suppose I have read a single thing like that before.
    So nice to find another person with a few unique thoughts on this subject.

    Seriously.. thank you for starting this up. This web site is something that’s needed on the web,
    someone with a little originality!

  4. Very nice post. I simply stumbled upon your blog and wanted to
    mention that I have truly loved surfing around your
    weblog posts. After all I will be subscribing for your feed and I hope you write again soon! cheap flights
    y2yxvvfw

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close