Breaking Newsऋषिकेशधर्म-कर्मपौड़ी

फूलचट्टी स्थित गंगाघाट पर उत्तरप्रदेश के सीएम आदित्यनाथ योगी के पिता का अंतिम संस्कार किया गया!

सीएम योगी के बड़े भाई मानवेन्द्र सिंह बिष्ट ने नम आंखों से पिता को मुखाग्नि दी.

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश!
योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट की अंतिम यात्रा में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल, उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक और योग गुरु बाबा रामदेव घाट पर मौजूद थे!गंगाघाट पर किया गया CM योगी के पिता का अंतिम संस्कार बता दें बीते रोज दिल्ली के एम्स में योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट का निधन हो गया था.
जिसके बाद उनके पार्थिव शरीर को सड़क मार्ग से उनके पैतृक गांव पंचूर लाया गया. जहां उनके पार्थिव शरीर को दर्शनार्थ रखा गया.

जिसके बाद आज सुबह ऋषिकेश के फूलचट्टी स्थित गंगाघाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया.
इस दौरान उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री के ओएसडी राजभूषण सिंह रावत,विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल,उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत,योग गुरु बाबा रामदेव,परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द मुनि, सरस्वती,पौड़ी सांसद तीरथ सिंह रावत,भजापा संगठन मंत्री अजय कुमार,बद्रीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट और राज्यमंत्री भगत राम कोठारी ने श्रद्धांजलि अर्पित की.उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता का निधनअंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन का ध्यान रखते हुए घाट पर बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी.
प्रशासन ने अंतिम संस्कार में सिर्फ 20 लोगों को ही शामिल रहने की इजाजत दी थी।

इस अवसर पर अपने अनुभव को साझा करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट जी अत्यंत सरल, मृदुभाषी एवं मिलनसार थे साथ ही अपने गांव में शिक्षा के माध्यम से समाज की सेवा मैं भी तत्पर रहे थे। हिमालयन इंस्टीट्यूट हॉस्पिटल ट्रस्ट जॉलीग्रांट एवं एम्स ऋषिकेश में उपचार के दौरान उनके दर्शन एवं आशीर्वाद प्राप्त करने का अवसर मिला था।
समाज के प्रति उनके द्वारा किए गए कार्यों को हम सब सदैव याद रखेंगे!

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

21 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close