ऋषिकेशधर्म-कर्म

दयानंद आश्रम में आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा स्वामी दयानंद महाराज आश्रम के सहयोग में लगभग 1500 गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को वितरित किए!

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश!

ऋषिकेश 19 अप्रैल।कोरोना महामारी के संकट की घड़ी में शीशम झाड़ी स्थित दयानंद आश्रम में आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा स्वामी दयानंद महाराज आश्रम के सहयोग में लगभग 1500 गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को वितरित किए जा रहे खाने को बॉटने में अपना सहयोग प्रदान किया गया।इस दौरान अग्रवाल ने स्वामी दयानंद महाराज आश्रम का आभार व्यक्त करते हुए सार्वजनिक सेवा समिति, शीशम झाड़ी के कार्यकर्ताओं का उत्साह वर्धन किया।

दयानंद आश्रम के स्वामी सुधानंद जी महाराज ने बताया कि दयानंद आश्रम में कोरोना महामारी के दौरान 18 अप्रैल से प्रतिदिन 1500 गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को दो समय का खाना वितरित किया जा रहा है।जरूरतमंदों को खाना वितरित करने एवं सामाजिक दूरी बनाए रखने की व्यवस्था के लिए सार्वजनिक सेवा समिति, शीशम झाड़ी द्वारा लगातार अपना सहयोग प्रदान किया जा रहा है।जब तक प्रदेश में लॉकडाउन रहेगा तब तक प्रतिदिन ज़रूरतमंद एवं निसहाय लोगों को दो समय का खाना वितरित किया जाएगा।

श्री अग्रवाल ने कहा कि दयानंद आश्रम द्वारा हमेशा से ही संकट के समय में अपना सहयोग प्रदान किया जाता रहा है।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि संकट के इस समय में अनेक स्वयंसेवी संस्थाएं और सामाजिक संगठन बढ़-चढ़कर लोगों की मदद कर रहे हैं। इन संस्थाओं का सहयोग अनुकरणीय और प्रेरणादायक है। उन्होंने सभी संस्थाओं से आग्रह है कि स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर काम करें।

अग्रवाल ने कहा कि कोरोना महामारी की लड़ाई सभी के सहयोग से ही लड़ी जा रही है और सबके संयम, अनुशासन और आत्मबल के सहारे ही हम कोरोना वायरस महामारी को परास्त करेंगे।

इस अवसर पर प्रवंधक दयानंद आश्रम गुणानंद रयाल, वीरेंद्र पांडेय, आशीष श्रीवास्तव, सचिन रस्तोगी, कौशल सिंह चौहान, प्रदीप कुमार, चंद्रपाल कुमार, लक्ष्मण राजभर, विकास ज़ख्मोला, दीपक खत्री, आशीष मिश्रा, रवि राजभर सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close