शहर में खास

कोरोना कहर के बीच महापौर के आदेश पर निगम सफाईकर्मियों ने झोंकी ताकत!

पानी के तीन टेंकरों के साथ अग्निशमन वाहन को भी निगम ने मोर्चे पर उतारा!

देवभूमि जे के न्यूज़ ऋषिकेश!

ऋषिकेश- नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने निगम सफाई कर्मचारियों को सम्पूर्ण ताकत के साथ मोर्चा संभालने के आदेश दिए हैं।इसका असर भी मंगलवार को स्पष्ट तौर पर देखने को मिला। दिनभर में कढी धूप में निगम की विभिन्न टीमें सेनेटाइजेशन में जुटी रही।
कोरोना कहर में लोगों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित नगर निगम प्रशासन शहर को सेनिटाइज करने के लिए जुटा हुआ है। निगम ने सीमित संसाधनों के मद्देनजर मंगलवार को तींन टेंकरों सहित अग्नि शमन वाहनों को भी स्वच्छता के मोर्चे पर उतार दिया और दिनभर इन वाहनों के जरिए भी विभिन्न वार्डों में छिड़काव कराया। मंगलवार को लॉक डाउन लागू होने के बाद लोग घरों से बाहर नहीं निकले। पूरा दिन जहां अपने परिवार के साथ बिताया, वहीं दिनभर नगर निगम के सफाई कर्मी मैदान में डटे रहे। दिन भर शहर से लेकर निगम के तमाम ग्रामीण वार्डों तक सफाई कर्मियों ने जी तोड़ मेहनत की। सुबह गली, मोहल्लों, सड़कों और गांवों में सफाई हुई तो दोपहर तक तमाम महत्वपूर्ण क्षेत्रों में एक-एक कोने से कूड़ा उठाया गया। सफाई के बाद छिड़काव भी हुआ। सफाई कर्मियों के जज्बे को सभी लोगों ने सलाम किया। मंगलवार को बाहर सड़कों पर सन्नाटा था लेकिन वहां मौजूद थे सफाई कर्मी।शहर में सफाई कर्मचारी आज भी आम दिनों की तरफ अपनी ड्यूटी पर सुबह से डटे रहेे। गलियों और सड़कों पर केवल सफाई कर्मचारी सफाई करते हुए दिखाई दिए। उसके साथ ही कूड़ा उठाने वाली गाडिय़ां लगी रहीं। शाम तक सफाई कर्मचारियों ने सफाई की और जगह-जगह से कूड़ा उठाया गया।साथ में चूना, ब्लीचिंग पाउडर के साथ छिड़काव भी किया। नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने बताया कि तमाम शहरवासियों के स्वास्थ्य को लेकर निगम प्रशासन बेहद संजीदा है।शहर को विभिन्न जोन में बांटकर जगह-जगह सेनिटाइजेशन किया गया है।महापौर ने कहा कि कर्मचारियों ने जिस लगन और मेहनत से काम किया, उसकी जितनी तारीफ करें, कम है। वायरस से अभी लंबी लड़ाई लडऩी है। इसलिए सभी को धैर्य और संयम से काम लेना होगा, क्योंकि एक-एक व्यक्ति का जीवन अनमोल है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close