ऋषिकेशशहर में खास

पुलिस महानिरीक्षक ने किया ऋषिकेश में महाकुंभ पर आने वाले यात्रियों की सुरक्षा के दृष्टिगत बनने वाले आधुनिक कंट्रोल रूम, रेलवे स्टेशन योग नगरी ऋषिकेश तथा वीरभद्र का निरीक्षण!

देवभूमि जे के न्यूज़ ऋषिकेश!
आज दिनांक 16 मार्च 2020 को पुलिस महानिरीक्षक महोदय के द्वारा आगामी कुंभ मेला 2021 के दृष्टिगत ऋषिकेश कोतवाली ,मुनि की रेती व नीलकंठ में बनने आधुनिक सीसीआर (कंट्रोल रूम), व फायर कर्मचारियों के लिए बन रहे ट्रांजिट हॉस्टल का निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल के अतिरिक्त अपर पुलिस अधीक्षक कुभं/जीआरपी मनोज कत्याल, अपर पुलिस अधीक्षक कुंभ मनीषा जोशी, ऋषिकेश पुलिस उपाधीक्षक वीरेंद्र सिंह रावत, क्षेत्राधिकारी दीपक कुमार, कोतवाली प्रभारी रितेश शाह व मुख्य अभियंता वाई डी पांडे , अनुपम भटनागर, कोटद्वार रितेश पाल सिंह व अन्य विभागीय अधिकारी निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता मौजूद थे।
वर्ष 2021 में आयोजित कुंभ मेले के दृष्टिगत ऋषिकेश कोतवाली में फायर स्टेशन के अतिरिक्त कर्मचारियों की आवासीय व्यवस्थाओं का निरीक्षण, सीसीआर, पुलिस कर्मचारियों की आवासीय व्यवस्था जाएगी। जिसका निर्माण कार्य अक्टूबर तक संपन्न कर लिया जाएगा। भ्रमण के दौरान पुलिस महानिरीक्षक के द्वारा बताया गया कि आगामी यात्राकाल के साथ कांवड़ मेले तथा वर्ष 2021 में आयोजित होने वाले कुंभ मेले के दृष्टिगत उपरोक्त कार्य किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया की मुनिकीरेती क्षेत्र में क्षतिग्रस्त हो चुकी महिला बैरक के अलावा एलआईयू के भवन का पुनर्निर्माण किया जाएगा। ऋषिकेश में कुंभ मेले के लिए इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम और ट्रांजिट हॉस्टल का निर्माण होगा। इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल रूम के लिए लगभग 7 करोड़ 29 लाख रुपए का प्रस्ताव तैयार किया गया है। करीब 85 लाख की लागत से अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों अभिसूचना इकाई व अन्य इकाइयों के लिए ट्रांजिट हॉस्टल बनाया जाएगा। इसके लिए धनराशि स्वीकृत हो चुकी है। यह कंट्रोल रूम कुंभ मेला क्षेत्र के जनपद देहरादून, जनपद पौड़ी और टिहरी गढवाल के थानों और चौकियों से भी जुड़ा रहेगा।
निरीक्षण के दौरान उच्चाधिकारीयो के द्वारा ऋषिकेश रेलवे स्टेशन योग नगरी, वीरभद्र का भी निरीक्षण किया गया। जहां पर रेलवे स्टेशन से संबंधित अधिकारी भी मौजूद थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close