Breaking NewsUNCATEGORIZEDअपराध

*जल्लाद प्रेमी ने गर्लफ्रेंड की हत्या के बाद शव के किए 35 टुकड़े-डेड बॉडी को ऐसे लगाया ठिकाने*

डेस्क- दिल्ली पुलिस ने आफताब नाम के ऐसे दरिंदे को गिरफ्तार किया है, जिसने 6 महीने पहले अपनी लिव-इन हिंदू पार्टनर की न सिर्फ बेरहमी से हत्या कर दी, बल्कि उसके शव के 35 टुकड़े कर दिये. यही नहीं, आफताब अपने घर में बड़ा फ्रीजर लेकर आया, जहां उसने करीब 18 दिनों तक शव के टुकड़ों को सुरक्षित रखा और हर रात 2 बजे वो एक थैले में श्रद्धा के शव के एक-दो टुकड़ों को थैली में लेकर निकलता और यहां-वहां फेंक कर चला आता. अंतत: करीब 6 महीने बाद उसके पापों का खुलासा हुआ है और दिल्ली पुलिस ने आफताब को गिरफ्तार कर लिया है. आफताब से काफी पूछताछ के बाद ये दिल दहला देने वाली कहानी सामने आई है.

लिव-इन पार्टनर ने ही ले ली थी जान-

दिल्ली की महरौली पुलिस ने पूरी कहानी का खुलासा करते हुए बताया कि आफताब और श्रद्धा मुंबई में लिव-इन पार्टनर के तौर पर रहने लगे थे. घर वालों ने विरोध किया तो दोनों दिल्ली आ गए. दिल्ली पुलिस ने कहा कि मुंबई से आए एक व्यक्ति ने हमसे शिकायत की कि उनकी बेटी काफी समय से गायब है. वो अपने पार्टनर के साथ रहती थी. उसकी आखिरी लोकेशन दिल्ली में मिली थी. दिल्ली पुलिस के एडिशनल डीसीपी-1 अंकित चौहान ने बताया कि मुंबई के व्यक्ति ने महरौली पुलिस थाने में जैसे ही शिकायत दर्ज कराई, वैसे ही पुलिस एक्शन में आ गई. और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया.

अलग-अलग टुकड़ों में फेंका-

दिल्ली पुलिस के एडिशनल डीसीपी-1 अंकित चौहान ने बताया कि दोनों मुंबई में प्राइवेट नौकरी करते थे. दोनों डेटिंग ऐप के माध्यम से मिले थे. दोनों साथ में रहने लगे. इसके बाद दिल्ली शिफ्ट हो गए. इस बीच, दोनों में शादी के मुद्दे पर विवाद हुआ तो मई महीने में आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी. उसने श्रद्धा को टुकड़ों में काट दिया, और टुकड़ों को कई दिनों के अंतर में अलग-अलग फेंक दिया.आफताब श्रद्धा का लिव-इन पार्टनर है. हत्या के बाद आफताब ने प्रेमिका के शव के 35 टुकड़े किए. बदबू न आए इसके लिए उसने एक फ्रीज खरीदी और शव के टुकड़े को उसमें रख दिया. पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह शव के टुकड़े को पॉलिथीन में रखकर महरौली के जंगल में लेकर रोजाना जाता था और उसे अलग-अलग दिशाओं में फेंक देता था. ताकि रातभर जंगल में घूमने वाले जानवर उन टुकड़ों को खा लें और किसी को श्रद्धा की हत्या के बारे में पता ना चले.

ऐसे हुए खुलासा-
जब श्रद्धा ने काफी दिनों तक फेसबुक पर पोस्ट नहीं डाली तो उसके दोस्तों को शक हुआ. उन्होंने श्रद्धा के माता-पिता को इस बारे में जानकारी दी. श्रद्धा के परिजन जब मुंबई पुलिस के पास पहुंचे तो मुंबई पुलिस ने कहा कि यह दिल्ली का मामला है. इसके बाद परिजन दिल्ली के महरौली थाने पहुंचे और यहां एक लिखित शिकायत दी जिसके बाद पुलिस ने आफताब को हिरासत में लिया और जब उससे सख्ती से पूछताछ की तो पूरा मामला खुल गया.

जंगल में चारों दिशाओं में फंके शव के टुकड़े-
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, आफताब और श्रद्धा करीब 7-8 महीने पहले मुंबई से दिल्ली आए थे. वे दोनों लिव-इन रिलेशनशिप में रहने लगे. श्रद्धा लगातार आफताब पर शादी का दबाव बना रही थी और 18 मई को इसी बात को लेकर दोनों के बीच काफी ज्यादा झगड़ा हुआ. विवाद इतना बढ़ गया कि आफताब ने श्रद्धा का मुंह दबा दिया जिससे उसकी की मौत हो गई. श्रद्धा की मौत होते ही आफताब परेशान हो गया. इसके बाद आफताब ने तेज धारदार हथियार से श्रद्धा के 35 टुकड़े किए और उन टुकड़ों से बदबू ना आए इसके लिए उसने बाजार से एक फ्रिज खरीदा और डेड बॉडी के टुकड़ों को फ्रिज के अंदर रख दिया. इसके बाद वह रोजाना रात तकरीबन एक से दो बजे के बीच महरौली के जंगल में जाकर टुकड़ों को फेंक आता था.

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close