Breaking News

*ऋषिकेश-अंकिता भंडारी हत्या केस खुलासे के बाद स्थानीय लोगों का फूटा गुस्सा- आरोपियों को ग्रामीणों ने जमकर पीटा-रिसोर्ट में भी की तोडफ़ोड़*

डेस्क 23/09/2022- तहसील यम्केश्वर जनपद पौड़ी गढ़वाल में स्थित वंतरा रिजॉर्ट गंगा भोगपुर से लापता होने के बाद पुलिस द्वारा रिसॉर्ट के संचालक सहित तीन लोगों की गिरफ्तारी के बाद किए गए खुलासे के उपरांत ग्रामीणों ने भारी रोष उत्पन्न हो गया। जिसके चलते ग्रामीणों ने पुलिस की मौजूदगी में आरोपियों को न्यायालय ले जा रही गाड़ी को रुकवा कर आरोपियों के साथ पूरी तरह मारपीट कर घायल कर दिया और रिसोर्ट में भारी तोड़फोड़ कर दी जिसे देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया है।

ज्ञात हो कि अंकिता भंडारी विगत 18 सितंबर से गुम थी यह मामला राज्य से क्षेत्र का था जिसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए उत्तराखंड महिला आयोग की अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद मामले को नागरिक पुलिस के सुपुर्द किया गया। पुलिस ने 24 घंटे के अंदर रिजल्ट के संचालक सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने अपने कबूल नामे में स्वीकार किया कि उन्होंने अंकिता को 18 सितंबर की रात ही चीला नहर में हुए विवाद के बाद धक्का दे दिया था। जिसके बाद पुलिस ने तीनों आरोपियों को शुक्रवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया है।

जैसे ही पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया सूचना मिलते ही काफी संख्या में ग्रामीण लक्ष्मण झूला सहित रिजॉर्ट पहुंचे और शाम होते-होते ग्रामीणों ने रिसॉर्ट में तोड़फोड़ का रिजल्ट को भारी नुकसान पहुंचा दिया। कुछ लोग रिजल्ट में आग लगाने की बात भी कर रहे थे परंतु उन्होंने रिसोर्ट में भारी पुलिस बल के चलते आग लगाने की कोशिश को अंजाम नहीं दे पाए। इस दौरान जब पुलिस आरोपियों को अपने वाहन से लेकर जा रही थी ग्रामीणों ने उन पर हमला बोल दिया।

उन्हें घायल कर दिया तोड़फोड़ की सूचना के चलते मौके पर ऋषिकेश व आसपास के थानों से भारी संख्या में पुलिस बल को बुला लिया गया है। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, इस रिसोर्ट का मालिक पुलकित आर्य पूर्व राज्य मंत्री भाजपा विनोद आर्य का बेटा है, पुलकित आर्य लॉकडाउन में भी विवादों में आया था जब उत्तर प्रदेश के विवादित नेता अमरमणि त्रिपाठी के साथ उत्तरकाशी में प्रतिबंधित क्षेत्र में पहुंच गया था।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close