Breaking NewsUNCATEGORIZEDअपराध

*दुःखद-टिहरी -रिंडोल गांव की प्रीति को 15 दिनों से बंधक बनाकर , दर्दनाक पिटाई के शर्मनाक घटना का उत्तराखण्ड राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा ने लिया संज्ञान*

देवभूमि जे के न्यूज, 20-09-2022-

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के विकासनगर में टिहरी -रिंडोल गांव की प्रीति को 15 दिनों से बंधक बनाकर की दर्दनाक पिटाई के शर्मनाक घटना के संज्ञान में आते ही उत्तराखण्ड राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा श्रीमती कुसुम कण्डवाल ने पीड़िता व उसके परिजनों से बात की और मामले की जानकारी ली। जानकारी में उसके परिजनों ने बताया कि
टिहरी जिले के प्रतापनगर विधानसभा के अंतर्गत रिंडोल गांव की प्रीति पुत्री चिरंजीलाल की शादी 10 साल पहले देहरादून के विकासनगर जीवनगढ़ में हुआ जहां पर शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के प्रीति को परेशान करने लगे उस समय जैसे तैसे ससुराल और मायके पक्ष के लोगों ने आपस में बैठकर सहमति बनी और महिला प्रीति ससुराल में ही रहने लगी

अभी कुछ दिन पूर्व विकासनगर जीवनगढ़ में रह रही प्रीति की मां सरस्वती देवी ने अपने गाव रिंडोल गांव से प्रीति को फोन किया लेकिन प्रीति का फोन काफी दिन से नही लगा और न बात हो पा रही थी जिस पर प्रीति की मां सरस्वती देवी को कुछ शक हुआ और प्रीति की माँ सरस्वती देवी अचानक विकासनगर जीवनगढ़ में चली गई जैसे ही प्रीति की माँ विकासनगर जीवनगढ़ घर पर पहुंची तो घर में ससुराल में अफरा तफरी हड़कंप मच गया प्रीति की मां ने जब प्रीति के बारे में पूछा कि प्रीति कहां है तो वह टालमटोल करने लगे प्रीति की मां सीधे अंदर कमरे में गई उसके बाद प्रीति की हालत देखी तो बहुत प्रीति को पीट पीट कर प्रीति की स्थिति खराब कर रखी थी

प्रीति के मां सरस्वती देवी ने कहा कि प्रीति को इस कदर ससुराल वालों ने पीटा कि उसका शरीर के हर जगह पर चोट के गहरे गहरे निशान पड़े हैं उसके बाद हम प्रीति को लेकर जैसे-तैसे वापस टिहरी में आई है। इस मामले की जानकारी होते ही आयोग अध्यक्षा श्रीमती कण्डवाल ने इस विषय में डीआईजी पी रेणुका से बिना लापरवाही बरतते हुए आरोपियों के विरुद्ध त्वरित कठोर कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिये है। उधर पी रेणुका के निर्देश पर एसएसपी टिहरी ने मामले में अध्यक्षा कण्डवाल से बात की और पीड़िता को सुरक्षित उचित उपचार हेतु देहरादून भेजा है।
पीड़िता के देहरादून पहुँचने पर उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती कुसुम कंडवाल ने कोरोनेशन अस्पताल के सीएमएस से बात की और पीड़ित महिला को वहां बेड देने एवं तत्काल उत्तम इलाज मुहैया कराने के लिए निर्देश दिए। उनके आदेश पर पीड़िता का उपचार कोरोनेशन अस्तपाल में शुरू हो गया है।
महिला आयोग की अध्यक्षा ने कहा कि देवभूमि में भी ऐसे मामलों से वह बहुत आहत है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामले के आरोपियों को बिल्कुल भी बख्शा नही जाएगा राज्य महिला आयोग ऐसे आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलायेगा।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close