UNCATEGORIZED

*आज आप का राशिफल एवं प्रेरक प्रसंग-काबिलियत का ईनाम*

-राशिफल*

साप्ताहिक भाग्य फल (11 से 17 जुलाई) :
मेष
मेष राशि वालों के लिए यह सप्ताह मनचाहा फल देने वाला साबित होगा। इस सप्ताह आपको कदम-कदम पर किस्मत का साथ मिलेगा। यदि आप लंबे समय से किसी कार्य योजना पर काम कर रहे थे तो उसमें इस सप्ताह आपको अच्छे रिजल्ट देखने को मिलेंगे। परीक्षा-प्रतियोगिता की तैयारी में जुटे छात्रों को सप्ताह की शुरुआत में कोई सुखद समाचार मिल सकता है। इस दौरान आप अपने करिअर और कारोबार पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित करते नजर आएंगे। जिसके आपको अच्छे परिणाम भी देखने को मिलेंगे। कार्यक्षेत्र में सीनियर और जूनियर दोनों का सहयोग मिलेगा। नौकरीपेशा लोगों को बेहतर अवसर और आय के अतिरिक्त साधन भी प्राप्त होंगे। हालांकि रोजी-रोजगार की दिशा में बड़ा कदम उठाते समय अपने शुभचिंतकों की सलाह लेना न भूलें। सप्ताह के उत्तरार्ध में व्यवसाय के सिलसिले में की गई यात्रा सुखद एवं लाभदायक साबित होगी। भूमि-भवन के क्रय-विक्रय की कामना पूरी हो सकती है। इस दौरान किसी प्रिय व्यक्ति से मुलाकात संभव है। प्रेम संबंध में प्रगाढ़ता आएगी। लव पार्टनर के साथ बेहतर ट्यनिंग बनेगी। यदि आप अब तक सिंगल हैं तो विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण बढ़ेगा। उसके साथ हुई मित्रता प्रेम संबंध में बदल सकती है। वैवाहिक जीवन सुखमय बना रहेगा। सेहत सामान्य रहेगी और परिवार के साथ हंसी-खुशी समय बिताने के अवसर प्राप्त होंगे।

उपाय: प्रतिदिन हनुमत उपासना और सुंदरकांड का पाठ करें।

वृष
वृष राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह कुछ उतार-चढ़ाव लिए रहेगा। सप्ताह की शुरुआत में नौकरीपेशा लोगों पर अचानक से अनचाही जिम्मेदारी मिल सकती है या फिर काम का अतिरिक्त बोझ आ सकता है। इस दौरान घर-परिवार के सदस्यों का सहयोग कम मिल पाएगा। जिससे मन थोड़ा व्यथित रहेगा। भाई-बहनों के साथ किसी बात को लेकर मतभेद हो सकता है। छात्रों का मन पढ़ाई से उचट सकता है। इस दौरान घर हो या फिर कार्यक्षेत्र छोटी-मोटी बातों को तूल न दें। कामकाजी महिलाओं को कार्यक्षेत्र और घर के बीच सामंजस्य बिठाने में थोड़ी मुश्किलें आ सकती हैं। बिजनेस में कंपटीटर से कड़ा मुकाबला करना पड़ सकता है। हालांकि यह स्थिति ज्यादा दिन तक नहीं रहेगी। इस दौरान किसी योजना या सट्टा लाटरी आदि में सोच-समझकर धन निवेश करें। सप्ताह के उत्तरार्ध में धार्मिक स्थान की यात्रा के भी योग बनेंगे। हालांकि यात्रा के दौरान अपनी सेहत और सामान दोनों का खूब ख्याल रखें। विशेष रूप से खान-पान पर विशेष ध्यान दें। प्रेम संबंध सामान्य रहेंगे। खट्टी-मीठी तकरार के साथ दांपत्य जीवन भी मधुर बना रहेगा। जीवन से जुड़े कठिन समय में पिता की तरफ से पूरा सहयोग मिलेगा। इस सप्ताह आप मौसमी बीमारी से खूब सतर्क रहें।
उपाय: देवी दुर्गा की उपासना और दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

मिथुन
मिथुन राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह जीवन में प्रगति के अवसर लेकर आएगा। सप्ताह की शुरुआत में ही आपको रोजी-रोजगार को आगे बढ़ाने के बेहतरीन अवसर प्राप्त होंगे। किसी इष्ट मित्र या किसी प्रभावी व्यक्ति के साथ लाभकारी योजना के साथ जुड़ने का मौका भी मिलेगा, लेकिन आप इस संबंध में उचित निर्णय लेने को लेकर थोड़ा असंमंजस में रहेंगे। घर की मरम्मत या साज-सज्जा में जेब से अधिक खर्च हो सकता है। आर्थिक दृष्टिकोण से इस समय आपको पैसों की किल्लत हो सकती है। यदि आप अपने कारोबार को आगे बढ़ाने की सोच रहे थे तो ऐसा करते समय सोच-समझकर उसमें धन निवेश करें। नौकरीपेशा लोगों को कार्यक्षेत्र में सीनियर और जूनियर दोनों का सहयोग मिलेगा, हालांकि विरोधियों से सचेत रहें, अन्यथा वो आपके काम में अड़ंगे डाल सकते हैं। वाहन सावधानी के साथ चलाएं अन्यथा चोट-चपेट लगने की आशंका है। प्रेम संबंध की दृष्टि से यह सप्ताह आपके लिए लकी साबित होगा। यदि आप किसी के सामने प्रपोज करने की सोच रहे थे तो ऐसा करने पर बात बन जाएगी। वहीं पहले से प्रेम संबंध में चल रहे लोगों की अपने लव पार्टनर के साथ नजदीकियां और आपसी विश्वास बढ़ेगा। दांपत्य जीवन सुखमय बना रहेगा। परिवार के साथ हंसी-खुशी के पल बिताने को मिलेंगे। सेहत को लेकर सावधान रहें। कोई पुरानी बीमारी एक बार फिर उभर सकती है।
उपाय: प्रतिदिन गणपति को दूर्वा चढ़ाकर श्री गणेश सहस्त्रनाम या फिर गणेश चालीसा का पाठ करें।

कर्क
कर्क राशि के जातकों को इस सप्ताह पास के फायदे में दूर का नुकसान करने से बचना होगा। सप्ताह की शुरुआत में करिअर-कारोबार को लेकर सोच-समझकर कदम आगे बढ़ाएं। कार्यक्षेत्र में किसी भी काम में लापरवाही न बरतें अन्यथा आपको बॉस के गुस्से का शिकार होना पड़ सकता है। वहीं कारोबारियों को व्यवसाय के सिलसिले में ज्यादा भागदौड़ करनी पड़ सकती है। बाजार में फंसा पैसा उनकी चिंता का बड़ा कारण बनेगा। घर-परिवार से जुड़े किसी मसले को हल करते समय अपनी वाणी और क्रोध पर नियंत्रण रखें,अन्यथा आपको परेशानी झेलनी पड़ सकती है। प्रयास करें कि परिवार के सदस्यों के साथ होने मतभेद मनभेद में न बदलने पाए। सप्ताह के उत्तरार्ध में सामाजिक कार्यों में रुचि जगेगी और उनसे जुड़ाव होगा। इस दौरान आप अपनी सेहत को लेकर ज्यादा जागरूक नजर आएंगे, लेकिन उसे सही रखने के लिए आपको अपने खान-पान के साथ दिनचर्या को भी सही करना होगा। घरेलू महिलाओं का अधिकांश समय पूजा-पाठ में बीतेगा। युवाओं का अधिकांश समय मौज-मस्ती करते हुए बीतेगा। प्रेम संबंध को बेहतर बनाने के लिए आपको अपने लव पार्टनर की भावनाओं की अनदेखी करने से बचना होगा। दांपत्य जीवन में मधुरता तो बनी रहेगी लेकिन जीवनसाथी की खराब सेहत आपकी चिंता का बड़ा सबब बन सकती है।
उपाय: प्रतिदिन किसी शिवालय में जाकर शिवलिंग पर दूध और शुद्ध जल चढ़ाकर रुद्राष्टकं का पाठ करें।

सिंह
सिंह राशि के जातकों को इस सप्ताह अपने लाभ के साथ दूसरों के हित की भी चिंता करनी होगी, अन्यथा आपके वर्षों से बने बनाए संबंध खराब हो सकते हैं। किसी के साथ नये संबंध बनाते समय पुराने संबंधों की उपेक्षा करने से बचें। आपको इस बात का पूरा ख्याल रखना होगा कि बंद घड़ी भी दिन में एक बार सही समय बताती है। यदि आपका कोई मामला कोर्ट-कचहरी में चल रहा है तो उसे बाहर ही सुलझाने की कोशिश करें, अन्यथा वह लंबा खिंच सकता है। व्यापार में दूसरों पर जरूरत से ज्यादा भरोसा करने से बचें अन्यथा आपको आर्थिक नुकसान झेलना पड़ सकता है। इस बात को पार्टनरशिप में बिजनेस करने वाले लोग विशेष तौर पर ध्यान रखें। इस सप्ताह किसी योजना अथवा शेयर बाजार में धन निवेश करने से पहले किसी विशेषज्ञ या शुभचिंतक की सलाह अवश्य ले लें। सप्ताह के अंत में लंबी या छोटी दूरी की यात्रा संभव है। यात्रा के दौरान अपने सामान और सेहत का विशेष ख्याल रखें। मनचाहे फलों में कमी और थकान भरी यात्रा से आपका तन और मन दोनों ही प्रभावित हो सकता है। प्रेम संबंध में सोच-समझकर कदम आगे बढ़ाएं और अपने लव पार्टनर की जिंदगी में जरूरत से ज्यादा दखल देने से बचें,अन्यथा आपको परेशानी झेलनी सकती है। जीवन के किसी भी चुनौती भरे समय में जीवनसाथी के साथ खड़े रहने पर आप काफी सुकून महसूस करेंगे।
उपाय: प्रतिदिन उगते हुए सूर्य देवता को तांबे के लोटे से जल देकर आदित्य हृदय स्तोत्र का तीन बार पाठ करें।

कन्या
कन्या राशि के जातकों को इस सप्ताह किस्मत का साथ मिलता नजर आएगा। इस सप्ताह रोजी-रोजगार की दिशा में किए गए प्रयास सफल होंगे और व्यवसाय में मनचाहा लाभ मिलेगा। यदि आप नौकरीपेशा व्यक्ति हैं तो आपको इस सप्ताह आपकी मेहनत के लिए बॉस से शाबासी मिल सकती है। हालांकि आपको अपनी योजनाओं को सभी के सामने महिमा मंडन करने से बचना होगा,अन्यथा आपके विरोधी उसमें अड़ंगे डालने का प्रयास कर सकते हैं। परीक्षा-प्रतियोगिता की तैयारी में जुटे छात्रों को उनकी मेहनत के अनुसार पूरा फल प्राप्त होगा। उन्हें सप्ताह के अंत तक कोई सुखद समाचार मिल सकता है,जिससे परिवार में खुशियों का माहौल बना रहेगा। नौकरीपेशा लोगों की आय के अतिरिक्त स्रोत बनेंगे। सत्ता-सरकार से जुड़े किसी प्रभावी व्यक्ति के माध्यम से लाभ की योजना से जुड़ने का मौका मिलेगा। सप्ताह के उत्तरार्ध में परिवार के साथ किसी पर्यटन स्थल की यात्रा होगी। संतान पक्ष से जुड़ी कोई बड़ी उपलब्धि आपके मान-सम्मान का बड़ा कारण बनेगी। भूमि-भवन या वाहन को खरीदने का सपना पूरा हो सकता है। हालांकि ऐसा करते समय अपने शुभचिंतकों की सलाह जरूर लें। प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे और आपसी विश्वास बढ़ेगा। लव पार्टनर के साथ क्वालिटी टाइम बिताने के अवसर प्राप्त होंगे। सेहत सामान्य रहेगी।
उपाय: प्रतिदिन गणपति की उपासना और गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें।

तुला
तुला राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह बेहद शुभ साबित होगा। सोचे हुए कार्य समय पर पूरे होने पर आपके भीतर गजब आत्मविश्वास और उत्साह देखने को मिलेगा। रोजी-रोजगार की तलाश खत्म होगी। जो लोग पहले से ही कहीं पर कार्यरत हैं, उन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी, प्रशंसा या मनचाही जगह पर नियुक्ति अथवा तबदला मिल सकता है। यदि आप लंबे समय से किसी भूमि, भवन या वाहन आदि के क्रय-विक्रय की सोच रहे थे तो इस सप्ताह आपकी यह इच्छा पूरी हो सकती है। यदि भूमि-भवन या पैतृक संपत्ति से जुड़ा कोई मामला कोर्ट-कचहरी में चल रहा है तो वह आपसी समझौते से कोर्ट के बाहर ही सुलझ जाएगा। जिससे आपके मन को काफी राहत मिलेगी। सुख-सुविधा से जुड़ी किसी नई चीज को खरीदने से घर में खुशियों का माहौल रहेगा। यह सप्ताह कमीशन पर काम करने वालों के लिए विशेष रूप से शुभ साबित होगा। परीक्षा-प्रतियोगिता की तैयारी में जुटे छात्रों को उनकी मेहनत के अनुसार परिणाम प्राप्त होंगे। संतान पक्ष की कोई उपलब्धि आपकी खुशियों और मान सम्मान का कारण बनेगी। सप्ताह के उत्तरार्ध में धार्मिक-सामाजिक गतिविधियों में शामिल होने का मौका मिलेगा। प्रेम संबंध आपसी विश्वास और निकटता बढ़ेगी। लव पार्टनर के साथ सुखद पल व्यतीत करने के अवसर प्राप्त होंगे। दांपत्य जीवन सुखमय बना रहेगा। सेहत सामान्य रहेगी।
उपाय: प्रतिदिन शक्ति की साधना और कनकधारा स्तोत्र का पाठ करें और चीटीं को आटा डालें।

वृश्चिक
वृश्चिक राशि के जातकों को इस सप्ताह क्रोध में आकर या फिर भावनाओं में बहकर कोई बड़ा फैसला लेने से बचना चाहिए अन्यथा बाद में पछताना पड़ सकता है। सप्ताह की शुरुआत में नौकरीपेशा को कार्यक्षेत्र में काम-काज का बोझ और तनाव झेलना पड़ सकता है। इस दौरान आपके विरोधी आपके काम में अड़ंगे डालने अथवा आपको आपके लक्ष्य से भटकाने की कोशिश कर सकते हैं। ऐसे में इस दौरान छोटी-मोटी चीजों को ज्यादा तूल देने की बजाय अपने काम पर फोकस करना बेहतर रहेगा। परिवार में किसी भी समस्या को सुलझाते समय विवाद की बजाय संवाद का सहारा लें। किसी से ऐसा वादा न करें, जिसे बाद में पूरा करना आपके लिए मुश्किल हो जाए। सप्ताह के उत्तरार्ध में अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखें और वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं। इस दौरान आप मौसमी बीमारी, चोट-चपेट आदि के शिकार हो सकते हैं। कोई पुरानी बीमारी एक बार फिर से उभर सकती है। ऐसे में अपनी सेहत और दिनचर्या सही रखें। व्यवसाय में थोड़ा-बहुत उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। हालांकि यह स्थिति ज्यादा दिन तक नहीं बनी रहेगी और जल्द ही आपको कामकाज पटरी पर लौटता हुआ दिखाई देगा। प्रेम संबंध को मजबूत बनाए रखने के लिए लव पार्टनर की भावनओं की अनदेखी न करें। वैवाहिक जीवन सुखमय बना रहेगा।
उपाय: प्रतिदिन हनुमानजी की पूजा में हनुमान चालीसा का सात बार पाठ करें।

धनु
धनु राशि के जातकों को इस सप्ताह किस्मत का पूरा साथ मिलेगा। सप्ताह की शुरुआत से ही सोचे हुए कार्य तेजी से पूरे होते हुए नजर आएंगे। इष्टमित्रों और घर-परिवार के सदस्यों का पूरा सहयोग मिलेगा। जीवन से जुड़ी कोई बड़ी उपलब्धि आपकी और आपके परिवार की खुशियों का बड़ा कारण बनेगी। कार्यक्षेत्र में आपके कामकाज की सीनियर आपकी तारीफ करेंगे। संभव है कि आपको कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिल जाए। इस दौरान करिअर और कारोबार के सिलसिले में की जाने वाली यात्रा सफल साबित होगी। नौकरीपेशा लोगों को प्रगति करने के नए अवसर और आय के अतिरिक्त स्रोत बनेंगे। व्यवसाय अथवा किसी कार्य विशेष के लिए की गई यात्राएं सफल और लाभदायक साबित होगी। हालांकि इन सबके बीच आप अपने लिए कम समय निकाल पाएंगे और खुद को तन और मन से थका हुआ पाएंगे। इस दौरान कोई पुरानी बीमारी फिर से उभरने से मन भी थोड़ा चिंतित रहेगा। घर के किसी प्रिय व्यक्ति की सेहत भी आपकी चिंता का बड़ा कारण बनेगी। सप्ताह के उत्तरार्ध में किसी प्रभावी व्यक्ति की मदद से किसी बड़ी समस्या का समाधान खोजने में कामयाब रहेंगे। प्रेम संबंध में प्रगाढ़ता आएगी। लव पार्टनर के साथ बेहतर ट्यूनिंग देखने को मिलेगी और वह आपकी ताकत बनेगा। वैवाहिक जीवन सुखमय बना रहेगा।
उपाय: प्रतिदिन लक्ष्मीनारायण भगवान की पीले पुष्प से पूजा और विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।

मकर
मकर राशि के जातकों को इस सप्ताह बहुत ही धैर्य और बेहद सधे हुए कदमों के साथ आगे बढ़ने की जरूरत रहेगी। यदि आप किसी व्यवसाय से जुड़े हैं और अपने कारोबार को आगे बढ़ाने की सोच रहे हैं तो खूब सोच-समझकर इसके लिए धन निवेश करें और इस संबंध में निर्णय लेते समय अपने किसी शुभचिंतक की सलाह अवश्य लें। सप्ताह की शुरुआत में करिअर अथवा कारोबार के लिए की गई यात्रा थकान भरी और निरर्थक साबित हो सकती है। यात्रा के दौरान आपको अपनी सेहत और सामान दोनों का खूब ख्याल रखना चाहिए। धन के लेनदेन में विशेष सावधानी बरतें। इस सप्ताह आप वाहन बेहद सावधानी के साथ चलाएं अन्यथा चोट-चपेट लगने की आशंका है। यदि आप नौकरी में बदलाव की सोच रहे हैं तो आपको इस विषय में फैसला लेते समय सभी पक्षों पर विचार कर लेना चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि आप पास के फायदे में दूर का नुकसान कर बैठें। सप्ताह के उत्तरार्ध में पैतृक संपत्ति से जुड़े विवाद गहरा सकते हैं। यदि इस विषय में खुद को असमंजस की स्थिति में पाएं तो कोई भी बड़ा फैसला लेने की बजाय उसे आगे के लिए टाल दें या फिर किसी इष्ट-मित्र की सलाह लें। प्रेम संबंध में कुछ एक गलतफहमियां पैदा हो सकती हैं। लव पार्टनर से मुलाकात न हो पाने के कारण मन खिन्न रह सकता है। जीवनसाथी की सेहत को लेकर मन चिंतित रह सकता है।
उपाय: प्रतिदिन भगवान शिव की पूजा और शिवमहिम्न स्तोत्र का पाठ करें।

कुंभ
कुंभ राशि के जातकों को इस सप्ताह अति उत्साह के साथ दूसरों पर जरूरत से ज्यादा विश्वास करने से बचना होगा। ये दोनों ही चीजें आपके बने-बनाए काम को बिगाड़ने का बड़ा कारण बन सकती हैं। सप्ताह की शुरुआत उन लोगों के लिए शुभ साबित होगी, जो विदेश से जुड़े काम करते हैं फिर विदेश में जाकर अपने करिअर या फिर कारोबार को जमाना चाहते हैं। प्रापर्टी या फिर कंस्ट्रक्शन से जुड़ी काम करने वालों को मनचाही सफलता और लाभ प्राप्त होगा। नौकरीपेशा लोगों की आय के लिए अतिरिक्त स्रोत बनेंगे। संचित धन में वृद्धि होगी। युवाओं का अधिकांश समय मौज-मस्ती में बीतेगा। घर में किसी प्रिय सदस्य के आगमन से घर में खुशियों का माहौल बना रहेगा। सप्ताह के उत्तरार्ध में आपको कार्यक्षेत्र में ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत रहेगी। आपके विरोधी आपको लक्ष्य से भटकाने या फिर आपके कार्य में अड़ंगे डालने का काम कर सकते हैं। यह समय सेहत की दृष्टि से यह सप्ताह बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता है। क्योंकि इस सप्ताह आप चोट-चपेट या फिर मौसमी बीमारी आदि के शिकार हो सकते हैं, जो आपकी खुशियों की चमक को थोड़ा फीका करने का काम करेगी। यदि आप किसी के सामने अपने प्रेम का प्रस्ताव रखने की सोच रहे हैं तो ऐसा करने के लिए आपके उचित समय आने का इंतजार करना चाहिए अन्यथा आपकी बनती बात बिगड़ सकती है और यदि आप पहले से ही प्रेम संबंध में चल रहे हैं तो आपको अपने प्रेम संबंध को मजबूत बनाने के लिए लव पार्टनर की भावनाओं की अनदेखी करने से बचना होगा। वैवाहिक जीवन सुखमय बना रहेगा। उपाय: प्रतिदिन संकटमोचक श्री हनुमान जी की विधि-विधान से पूजा और सुंदरकांड का पाठ करें।

मीन
मीन राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह मनचाही सफलता दिलाने वाला साबित होगा। सप्ताह की शुरुआत में सत्ता-शासन से जुड़े कार्यों में सफलता और लाभ की प्राप्ति होगी। जो लोग किसी स्थान विशेष पर तबादले या उच्च पद की प्राप्ति चाहते थे, उनका इंतजार इस सप्ताह समाप्त हो सकता है। परीक्षा-प्रतियोगिता की तैयारी में जुटे लोगों को सुखद समाचार की प्राप्ति होगी। मीन राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह आर्थिक दृष्टि से भी काफी अनुकूल साबित होगा। कारोबार में मनचाहा लाभ और प्रगति देखने को मिलेगी। व्यवसाय के सिलसिले में की गई यात्राएं सफल और लाभदायक साबित होंगी। राजनीति से जुड़े लोगों का अपनी पार्टी और समाज में मान-सम्मान और प्रभुत्व बढ़ेगा। लोग आपके द्वारा लिए गए निर्णय का न सिर्फ सम्मान करेंगे बल्कि उस पर अमल भी करेंगे। सप्ताह के उत्तरार्ध में कामकाजी महिलाओं को घर और कार्यक्षेत्र में सामंजस्य बिठाने में थोड़ी-बहुत मुश्किलें आ सकती हैं, हालांकि यह स्थिति कम समय तक ही रहेगी। आप अपने विवेक से इसका हल निकालने में कामयाब हो जाएंगी। प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे। लव पार्टनर के साथ हंसी-खुशी के पल बिताने के अवसर प्राप्त होंगे। सप्ताह के अंत में परिवार के साथ कहीं लंबी या छोटी दूरी की यात्रा पर घूमने-फिरने का प्रोग्राम बन सकता है। इस दौरान आपको अपनी सेहत और खान-पान पर विशेष ध्यान दें,अन्यथा आपको पेट संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं।
उपाय: प्रतिदिन भगवान विष्णु की पूजा में शुद्ध घी का दीया जलाकर नारायण कवच का पाठ करें। इसके साथ प्रतिदिन तुलसी जी की सेवा करें।

1️⃣1️⃣❗0️⃣7️⃣❗2️⃣0️⃣2️⃣2️⃣

*⚜️ आज का प्रेरक प्रसंग ⚜️*

*!! काबिलियत का ईनाम !!*
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

एक राजा के दरबार में एक अजनबी इंसान नौकरी मांगने के लिए आया। उससे उसकी काबिलियत पूछी गई, तो वो बोला- “मैं, आदमी हो चाहे जानवर, शक्ल देख कर उसके बारे में बता सकता हूँ।”

राजा ने उसे अपने खास “घोड़ों के अस्तबल का इंचार्ज” बना दिया।

चंद दिनों बाद राजा ने उससे अपने सबसे महंगे और मनपसन्द घोड़े के बारे में पूछा। उसने कहा, “हुज़ूर, ये घोड़ा नस्ली नही हैं।”

राजा को हैरानी हुई, उसने जंगल से तुरंत घोड़े वाले को बुला कर पूछा। उसने बताया, घोड़ा नस्ली तो है; पर इसकी पैदाइश पर इसकी मां मर गई थी, ये एक गाय का दूध पीकर उसके साथ पला है।

राजा ने अपने नौकर को बुलाया और पूछा… “तुमको कैसे पता चला कि घोड़ा नस्ली नहीं है?”

उसने कहा- “जब ये घास खाता है तो गायों की तरह सर नीचे करके, जबकि नस्ली घोड़ा घास मुँह में लेकर सर उठा लेता है।”

राजा उसकी काबिलियत से बहुत खुश हुआ, उसने नौकर के घर अनाज, घी, मुर्गे और अंडे बतौर इनाम भिजवा दिए और उसे अपने महल में तैनात कर दिया।

चंद दिनों बाद, राजा ने उससे रानी के बारे में राय मांगी। उसने कहा, “तौर तरीके तो रानी जैसे हैं लेकिन पैदाइशी नहीं हैं।”

राजा के पैरों तले जमीन निकल गई, उसने अपनी सास को बुलाया, मामला उसको बताया। सास ने कहा- “हक़ीक़त ये हैं कि आपके पिताजी ने मेरे पति से हमारी बेटी की पैदाइश पर ही रिश्ता मांग लिया था, लेकिन हमारी बेटी 6 माह में ही मर गई थी। लिहाज़ा हमने आपके रजवाड़े से करीबी रखने के लिए किसी और की बच्ची को अपनी बेटी बना लिया।”

राजा ने फिर अपने नौकर से पूछा- “तुमको कैसे पता चला?”

उसने कहा, “रानी साहिबा का नौकरों के साथ सुलूक गंवारों से भी बुरा है। एक खानदानी इंसान का दूसरों से व्यवहार करने का एक तरीका होता है, जो रानी साहिबा में बिल्कुल नहीं है।

राजा फिर उसकी पारखी नज़रों से खुश हुआ और बहुत से अनाज, भेड़-बकरियां बतौर इनाम दीं। साथ ही उसे अपने दरबार में तैनात कर दिया।

कुछ वक्त गुज़रा, राजा ने फिर नौकर को बुलाया और अपने खुद के बारे में पूछा।

नौकर ने कहा- “जान की सलामती हो तो कहूँ।” राजा ने वादा किया। उसने कहा- “न तो आप राजा के बेटे हो और न ही आपका चलन राजाओं वाला है।”

राजा को बहुत गुस्सा आया, मगर जान की सलामती का वचन दे चुका था, राजा सीधा अपनी मां के महल पहुंचा।

मां ने कहा- “ये सच है, तुम एक चरवाहे के बेटे हो, हमारी औलाद नहीं थी तो तुम्हें गोद लेकर हमने पाला।”

राजा ने नौकर को बुलाया और पूछा- बता, “तुझे कैसे पता चला?”

उसने कहा- “जब राजा किसी को इनाम दिया करते हैं, तो हीरे-मोती और जवाहरात की शक्ल में देते हैं… लेकिन आप भेड़, बकरियां, खाने-पीने की चीजें दिया करते हैं… ये रवैया किसी राजाओं का नहीं, किसी चरवाहे के बेटे का ही हो सकता है।”

राजा हैरान रह गया..!!

*शिक्षा:-*
किसी इंसान के पास कितनी धन-दौलत, सुख-समृद्धि, रुतबा, इल्म, बाहुबल हैं; ये सब बाहरी दिखावा हैं। इंसान की असलियत की पहचान उसके व्यवहार और उसकी नियत से होती है…

*सदैव प्रसन्न रहिये।*
*जो प्राप्त है, पर्याप्त है।।*
✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️✍️

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close