ऋषिकेशराजनीति

*भाजपा कार्यालय में स्व. मुखर्जी के बलिदान दिवस पर आयोजित गोष्ठी का शुभारंभ कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर किया*

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश 23 जून2022- जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर भाजपा ऋषिकेश मंडल की ओर से गोष्ठी कार्यक्रम आयोजित किया गया। मौके पर कैबिनेट मंत्री डॉ अग्रवाल सहित विभिन्न वक्ताओं ने उनके डॉ मुखर्जी के जीवन पर प्रकाश डाला।

रेलवे रोड स्थित भाजपा कार्यालय में स्व. मुखर्जी के बलिदान दिवस पर आयोजित गोष्ठी का शुभारंभ कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर किया गया। डॉ अग्रवाल ने कहा कि डॉ मुखर्जी ने धारा 370 हटाने के पक्ष के लिए अनेक प्रयत्न किए और इसी के चलते उनका बलिदान हुआ। मगर देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाने दिया और धारा 370 को हटाकर उनका सम्मान किया।

कहा कि अगस्त 1947 को स्वतंत्र भारत के प्रथम मंत्रिमंडल में एक गैर-कांग्रेसी मंत्री के रूप में वित्त मंत्रालय का काम संभाला। डॉ मुखर्जी ने चितरंजन में रेल इंजन का कारखाना, विशाखापट्टनम में जहाज बनाने का कारखाना एवं बिहार में खाद का कारखाने स्थापित कराए। उनके सहयोग से ही हैदराबाद निजाम को भारत में विलीन होना पड़ा।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि वर्ष 1950 में भारत की दशा दयनीय थी। इससे डॉ. मुखर्जी के मन को गहरा आघात लगा। उनसे यह देखा न गया और भारत सरकार की अहिंसावादी नीति के फलस्वरूप मंत्रिमंडल से त्यागपत्र देकर संसद में विरोधी पक्ष की भूमिका का निर्वाह करने लगे।

कहा कि डॉ मुखर्जी को कभी भी एक ही देश में दो झंडे और दो निशान भी उनको स्वीकार नहीं थे। अतः कश्मीर का भारत में विलय के लिए डॉ. मुखर्जी ने प्रयत्न प्रारंभ कर दिए। इसके लिए उन्होंने जम्मू की प्रजा परिषद पार्टी के साथ मिलकर आंदोलन किया।

इस मौके पर मंडल अध्यक्ष दिनेश सती, महामंत्री सुमित पंवार, पूर्व दर्जाधारी संदीप गुप्ता, कृष्ण कुमार सिंघल, वरिष्ठ भाजपाई देवेंद्र दत्त सकलानी, जितेंद्र अग्रवाल, शम्भू पासवान, संजय शास्त्री, सरोज डिमरी, किशन मंडल, पूजा जोशी नितिन सक्सेना, ऋषि राजपूत, राकेश पारछा, जगावर सिंह, त्रिलोक परमार, राजू शर्मा, प्रदीप कोहली, संजीव सिलस्वाल सहित सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

इसके अलावा भाजपा वीरभद्र मंडल की ओर से कार्यसमिति द्वारा एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें कैबिनेट मंत्री व क्षेत्रीय विधायक डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने मुख्य वक्ता के रूप में प्रतिभाग किया। इस मौके पर जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान को भी याद किया गया।

मालवीय नगर स्थित दुर्गा मंदिर में आयोजित कार्यसमिति का शुभारंभ डॉ अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित कर किया। डॉ अग्रवाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी परिवार वाद पर विश्वास करने वाली पार्टी नहीं है, बल्कि एक संगठन है और इसका हर कार्यकर्ता इस संगठन की ताकत है। आज हमारे संगठन की ही शक्ति है कि भाजपा देश मे ही नहीं अपितु विश्व में सबसे बड़े राजनैतिक दल के रूप में उभरकर आयी है।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि ये हमारे कार्यकर्ताओ की ही मेहनत व नीतियों का परिणाम है कि आज राज्यसभा में हमारे सांसदों की संख्या सौ से ज्यादा हो गयी है। उन्होंने कहा कि भाजपा हर जाति, हर धर्म, हर क्षेत्र, हर प्रदेश की पार्टी है यही कारण है कि हम आज इतनी बड़ी जीत हासिल कर पाए हैं।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि आप सभी आम कार्यकर्ता नहीं है बल्कि पार्टी की रीढ़ की हड्डी है। देवतुल्य कार्यकर्ताओं की यही खासियत है कि वह हर परिस्थितियों में ढाल बनकर खड़ा रहता है। लगातार चौथी व बम्पर वोटों से जीत को उन्होंने कार्यकर्ताओं की जीत बताया। उन्होंने कार्यकर्ताओं के सम्मान में कहा कि आप वह फ़ौज है जिनके आगे कोई टिक नहीं सकता। आपके आशीर्वाद से वह विधायक बने है और दुवाओं से मंत्री।

इस मौके पर वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता संजय शास्त्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 8 साल स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज किए जाएंगे। कहा कि हमारे प्रधानमंत्री देश ही नहीं विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता है। जनता को उनकी नीति, नीयत, कार्यों का पूर्ण विश्वास है और विपक्ष का षड्यंत्र और दुष्प्रचार उस विश्वास को हिला भी नहीं पाया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के राष्ट्र प्रथम के उद्घोष के साथ सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सफल प्रयास का मंत्र विकास की नकारात्मक राजनीति पर भारी पड़ा है।

इस मौके पर मंडल अध्यक्ष वीरभद्र अरविंद चौधरी, महामंत्री व पार्षद सुंदरी कंडवाल, महामंत्री सुरेंद्र सिंह, अनुसूचित मोर्चा अध्यक्ष राजकुमार भारती, युवा मोर्चा अध्यक्ष विजय जुगरान, मनीष मैठाणी, शशि सेमल्टी, अविनाश सेमल्टी, उषा लखेड़ा, वायुराज, रमेश चंद शर्मा, निर्मला उनियाल, गुंजन शर्मा आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close