अजब-गजब!पौड़ीशिक्षा

*उत्तराखंड- झांझी गुरूजी के टून होकर विद्यालय में पढ़ाने की अनोखी कहानी -पढ़े खबरों की जुबानी*

उत्तराखंड-पौड़ी गढ़वाल- किसी भी इंसान की जिन्दगी में उसकी सफलता के पीछे एक शिक्षक का बड़ा हाथ होता है। शिक्षक वो होता है जो हमें जीवन जीने की कला सिखाता है। हमें सही क्या है और गलत क्या है उसकी सही पहचान कराता है। प्राचीन समय में ईश्वर का ज्ञान कराने वाला ही गुरु ही होता था। मगर अब हालात बदल गए हैं। शिक्षा देने वाले ही दुर्व्यवहार कर रहे हैं, नीच हरकतों पर उतर आए हैं।

जब शिक्षक ही नियम और कायदों की धज्जियां उड़ाएं तो बच्चे आखिर उनसे क्या सीखेंगे? पौड़ी जिले के दूरस्थ थलीसैंण ब्लाक के एक प्राथमिक विद्यालय में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। यहां के प्रधानाध्यापक की शर्मनाक हरकत देख कर आप भी चौंक उठेंगे। जी हां, इस स्कूल के प्रधानाचार्य का नशे में धुत होकर स्कूल आने का मामला सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। दरअसल प्रधानाध्यापक प्रदीप कुमार का नशे में धुत होकर बच्चों को पढ़ाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था जिसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी आनंद भारद्वाज ने वीडियो का संज्ञान लेते हुए खंड शिक्षा अधिकारी बीरोंखाल को जांच के आदेश दिए। जांच में सामने आया कि प्रधानाध्यापक शराब के नशे में बच्चों को पढ़ा रहे थे, जिससे नियमों का भी उल्लंघन किया गया है। साथ ही विद्यालय के माहौल को खराब करने का काम किया गया है। जिसको देखते हुए उनके द्वारा प्रधानाध्यापक प्रदीप कुमार को निलंबित कर दिया गया है। स्थानीय ग्राम प्रधान का कहना है कि यह प्रधानाध्यापक स्कूल में पिछले लंबे समय से तैनात थे और कई बार प्रधानाध्यापक नशे में धुत होकर स्कूल आते थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close