ऋषिकेशस्वास्थ्यहरिद्वार

*दिवंगत सत्या देवी की आंखें देख सकेंगी दुनिया*

हरिद्वार- बिल्केश्वर कॉलोनी हरिद्वार निवासी श्रीमती सत्या देवी की आंखें मृत्यु के बाद भी अमर हो गई हैं परिजनों द्वारा उनका नेत्रदान कराने से दो लोगों की अंधेरी जिंदगी रोशन होगी नेत्रदान कार्यकर्ता व लायंस क्लब ऋषिकेश देवभूमि के चार्टर अध्यक्ष गोपाल नारंग ने बताया कि हरिद्वार निवासी श्रीमती सत्या देवी का मंगलवार रात्रि निधन हो गया था माता जी के निधन उपरांत उनके पुत्र जोगेंद्र अरोड़ा ने नेत्रदान कराने के लिए फोन किया ।ज्ञात रहे कि पूर्व में श्री अरोड़ा अपने पिता बलदेव राज अरोड़ा के भी नेत्रदान करा चुके हैं। उनकी सूचना पर श्री नारंग ने अपने साथी महेंद्र अरोड़ा के साथ निर्मल आई हॉस्पिटल की टीम को उनके निवास पर भेजा व नेत्रदान का पुनीत कार्य कराया। प्रारंभिक जांच में निर्मल आई हॉस्पिटल की डॉक्टर सारिका और डॉक्टर योगेश के अनुसार दोनों कॉर्निया स्वस्थ हैं जिन्हें आवश्यक जांचों के उपरांत दो नेत्रहीनों की आंखों में प्रत्यारोपित कर दिया जाएगा ‌नेत्रदान की लगन के लिए अरोड़ा परिवार का विशाल बिंदल, विनय भाटिया, अंशुल पुरी ,कमल कालड़ा, भारत भूषण रावल, राजेश अरोरा आशु पाहवा ,अमित गोयल गोयल ने आभार जताया। नेत्रदान महादान हरिद्वार ऋषिकेश प्रमुख रामशरण चावला के अनुसार मिशन का 121 वां सफल प्रयास है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close