स्वास्थ्य

*आरोग्य- इन 10 आदतों से जल्द घट सकता है मोटापा!*

मोटापा दिल की बीमारी का कारण बनता है वहीं व्यक्ति के काम करने की क्षमता को भी प्रभावित करता है. मोटे व्यक्ति जल्दी थक जाते हैं. हालांकि मोटापे से मुक्ति भी पाई जा सकती है. इसलिए मोटापे को लेकर हीन भावना से निकलकर उपायों को अपनाएं. इन दस तरीकों को अपनाकर मोटापे से दूर रह सकते हैं-

*सुबह खाली पेट गुनगुना पानी पीएं-*
सुबह उठने के बाद सबसे पहले गुनगुना पानी बासी मुंह पीएं. इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं. नींबू का रस मोटापे को कम करने में सहायक होता है.

*सुबह मॉर्निंग वॉक करें-*
सुबह उठने के बाद मॉर्निंग वॉक पर जरूर निकलें. सुबह टहलने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है. मार्निंग वॉक करते हुए शरीर से पसीना निकलना चाहिए. पसीना आपकी चर्बी को कम करेगा. कम से कम 45 मिनट तक वॉक करें या फिर 15 मिनट तक दौड़ें अगर ये नियमित करते हैं तो जल्द ही असर नजर आने लगता है.

*नाश्ता जरूर करें-*
सुबह नाश्ता जरूर करें. सुबह का नाश्ता प्रोटीन और कैलोरी से भरपूर होना चाहिए. फलों का सेवन करें. ऑयली फूड लेने से बचें.

*दोपहर का खाना संतुलित लें-*
लंच लेते समय ध्यान रखें कि यह संतुलित और पौष्टिक होना चाहिए. पेट भरकर खाने की आदत को त्यागें.

*फल खाएं-*
शाम के समय फल एक फल जरूर खाएं. कोशिश करें ये फल खट्टा हो.

*डिनर समय पर लें-*
रात का खाना समय पर खाएं. देर रात खाना खाने की आदत से भी मोटापा बढ़ता है. रात का खाना ऑयली नहीं होना चाहिए. स्वीट डिश का कम से कम इस्तेमाल करें.

*गुनगुना पानी पीएं-*
पानी अधिक पीना चाहिए. जितना पानी पीएंगे शरीर की उतनी ही अधिक सफाई होगी. पीते समय यह ध्यान रखें की पानी गुनगुना हो. गुनगुना पानी पीने से शरीर के कई रोग भी दूर होते हैं.

*शीतल पेय न लें-*
शीतल पेय पदार्थ शरीर के लिए अच्छे नहीं होते हैं इससे भी मोटापा बढ़ता है और पेट संबंधी अन्य रोगों के होने की संभावना रहती है. वहीं चाय और कॉफी लेने से भी बचना चाहिए.

*तनाव न लें-*
तनाव से दूर रहने की कोशिश करें, तनाव लेने से भी वजन बढ़ता है.

*अधिक देर तक खाली पेट न रहें-*
अधिक देर तक खाली पेट रहने से मोटापा बढ़ता है साथ ही कई और रोगों के होने का भी खतरा बढ़ जाता है.
*Vaid Deepak Kumar*
*Adarsh Ayurvedic Pharmacy* *Kankhal Hardwar* *[email protected]*
*9897902760*

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close