टेक्नॉलॉजी

*पत्नी को पति के किस करवट सोने चाहिए- जीवनसाथी को खुश रखने के वास्तु टिप्स*

यदि आपका जीवन-साथी आपके अनुकूल है तो जीवन आनंदमय हो जाता है। हर कोई शांतिपूर्ण जीवन जीना चाहता है। वास्तु के दृष्टिकोण से या वैज्ञानिक रूप से, सुखी जीवन के लिए जो कुछ महत्वपूर्ण है उसमें आपकी सोने की दिशा भी शामिल है। यह आपके जीवन को बदल सकती है।

भारत में शयन कक्ष और वैज्ञानिक रूप से सोने की सबसे सही दिशा के बारे में जानने के लिए इन वास्तु उपायों पर एक नज़र डालें।

वास्तु के अनुसार सोने की सबसे सही दिशा-
पति-पत्नी के बेडरूम के लिए वास्तु
पति-पत्नी के लिए बेडरूम का वास्तु ऐसा होना चाहिए कि वहाँ का माहौल रिश्ते को मज़बूत करे। यदि पति-पत्नी घर के स्वामी हैं तो शयन कक्ष दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए। अगर जोड़ा नवविवाहित है और बड़े भाई या कामकाजी माता-पिता के साथ रह रहा है, तो बेडरूम उत्तर-पश्चिम में होना चाहिए। विवाहित जोड़ों को उत्तर-पूर्व दिशा वाले बेडरूम से बचना चाहिए, क्योंकि इससे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है। बच्चे की योजना बना रहे जोड़े थोड़े समय के लिए दक्षिण-पूर्वी बेडरूम का उपयोग सकते हैं।-बेडरूम की सुगंध नींद को प्रभावित करती है।

वास्तु के अनुसार बिस्तर की दिशा-
बिस्तर हमेशा कमरे की दक्षिण-पश्चिम वाली दीवार की ओर होना चाहिए। इसे दरवाज़े के सामने नहीं होना चाहिए। वास्तु के अनुसार पति-पत्नी के लिए सोने की सबसे अच्छी स्थिति है – सिर को दक्षिण, दक्षिण-पूर्व या दक्षिण-पश्चिम की ओर रखना। यह सलाह दी जाती है कि सोते समय सिर उत्तर की ओर न रखें। इससे आप तनावग्रस्त और थका हुआ महसूस कर सकते हैं।बिस्तर रखने के लिए दक्षिण-पश्चिम वाली दीवार सबसे अच्छी होती है।

अच्छी नींद क्यों ज़रूरी है?
अच्छी नींद आपको दिन भर प्रसन्नता की स्थिति में रखती है। यह कई बड़ी बीमारियों से बचाती है। अच्छी नींद दिमाग को सतर्क रखने और आपको सही निर्णय लेने में भी मदद करती है। कुल मिलाकर, एक अच्छी नींद लेकर आप अपने काम में अधिक उत्पादक और खुश बने रहते हैं।
साफ़-सुथरा बेडरूम आपको बेहतर नींद देता है।

सोने की दिशा के लिए महत्वपूर्ण सलाहें-
कमरे के कोने में नहीं सोना चाहिए। इससे ऊर्जा परिसंचरण बाधित होता है। कोशिश करें कि पलंग की दोनों तरफ़ कुछ जगह खाली हो। पति को पलंग की दाहिनी ओर तथा पत्नी को बायीं ओर सोना चाहिए। अगर आप रात में कई बार उठते हैं तो आपको बेडरूम के माहौल में सुधार करना चाहिए।
बिस्तर के दोनों तरफ़ खाली जगह छोड़ें।

किन चीज़ों से बचना चाहिए?
किसी बीम के नीचे सोने से बचें, जिस पर भवन के पूरे ढाँचे का भार होता है। यह परिवार के लिए दुर्भाग्य लेकर आ सकता है। बिस्तर के नीचे कबाड़ न रखें। धातु के बिस्तर से बचें, क्योंकि यह बीमारी का कारण बनता है। अंत में, ऐसे बेडरूम से भी बचना चाहिए जिसकी निचली मंज़िल पर इसके ठीक नीचे रसोईघर हो।
बिस्तर का सही स्थान-

बेडरूम में फ़र्नीचर की सही जगह-
अपने बेडरूम में फ़र्नीचर को सही जगह पर रखकर आप अधिक सुविधाजनक महसूस कर सकेंगे। वास्तु शास्त्र के अनुसार बेडरूम में भारी सामान पश्चिम, दक्षिण-पश्चिम या दक्षिण दिशा में रखना चाहिए।भारी फ़र्नीचर के लिए पश्चिम या दक्षिण दिशा।

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स से रहें सावधान
आजकल हममें से ज़्यादातर लोग किसी न किसी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को बेडरूम में रखते ही हैं। अगर आप अपने गैजेट्स को बेडरूम में रख रहे हैं, तो ध्यान रखें कि वे बिस्तर से कुछ दूरी पर हों। अधिकांश इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स से पैदा होने वाली चुंबकीय तरंगें नींद में बाधा उत्पन्न कर सकती हैं, और अनिद्रा जैसी समस्याओं का कारण बन सकती हैं।
बेडरूम के अंदर इलेक्ट्रॉनिक चीज़ों से बचें।

बेडरूम का प्रवेश द्वार-
प्रवेश द्वार दीवारों के उत्तर, पश्चिम या पूर्व दिशा में होना चाहिए। आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि प्रवेश के लिए केवल एक ही दरवाज़ा हो, और इसे कभी भी दक्षिण दिशा वाली दीवार पर नहीं होना चाहिए।बेडरूम के प्रवेश द्वार की दिशा महत्वपूर्ण होती है।

सोते समय पैरों की दिशा-
हमेशा अपने पैरों को पूर्व की ओर रखते हुए सोने की सही स्थिति चुनें। इससे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएँ दूर होती हैं। पश्चिम और दक्षिण दिशाएँ भी इसके लिए आदर्श होती हैं।प्रवेश द्वार पैरों की तरफ़ नहीं होना चाहिए

बेडरूम के लिए सही रंग चुनें-
गहरे रंगों से बचें! ऑफ़-व्हाइट, पिंक और क्रीम जैसे हल्के रंग चुनें। हमेशा याद रखें कि हर रंग का अपना महत्व होता है। ऐसा रंग चुनें जो आपकी मनःस्थिति को और बेहतर बनाए।हल्के रंगों का अपना महत्व होता है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close