Breaking Newsउत्तरकाशी

*ऋषिकेश से उत्तरकाशी बरातियों को लेकर जा रही बस पलटी*

टिहरी- उत्तराखंड के टिहरी जिले में सवारियों से भरी बस पलट गई। हादसे के समय बस में 20 से 22 लोग सवार थे। इस दुर्घटना में कई लोग घायल हुए हैं। गंभीर रूप से घायलों को एम्स ऋषिकेश और जिला चिकित्सालय बौराड़ी रेफर किया गया है। पुलिस के अनुसार, प्रथम दृष्टया जांच में ड्राइवर के शराब के नशे में होना प्रतीत हुआ है। जांच के बाद मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
जानकारी के अनुसार, ऋषिकेश से उत्तरकाशी जा रही एक बारात की बस सं. UK14PA-0548 चम्बा – धरासू राष्ट्रीय राजमार्ग पर कण्डीसौड़ तहसील के अन्तर्गत खाण्ड गांव के पास उत्तरकाशी सीमा से लगभग 15 कि0मी0 दूर दोपहर 12.15 बजे के लगभग सड़क पर पलट गई। बस में 20 22 यात्री सवार थे।
हादसे में कुल 08 लोग घायल हो गए है, जिन्हें पुलिस और राजस्व विभाग की टीम द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, कंडिसौड़ पहुंचाया गया है जिनमें से 04 लोग गंभीर घायल है। गंभीर घायलों में से 03 को एम्स, ऋषिकेश व 01 को जिला चिकित्सालय बौराड़ी रेफर किया गया है। घटना में अभी तक कोई जनहानि नही हुई है। पुलिस व राजस्व विभाग द्वारा राहत व बचाव कार्य जारी है ।
पुलिस ने बताया कि, प्रथम दृष्टया जांच में ड्राइवर के शराब के नशे में होने प्रतीत हुआ है, अग्रिम जांच जारी है और शीघ्र ही इस संबंध में लापरवाही अथवा शराब के नशे की पुष्टि होने पर अभियोग कायम किया जाएगा।
घायलों के नाम कविता (30) पत्नी अरविंद,
ऋषिकेश एम्स रेफर किया गया।

आराध्या (5) पुत्री अरविंद निवासी ग्राम मंजरुवाल पो. मैण्डखाल तहसील कण्डीसौड़।
मिथलेश (50) पत्नी विनोद कुमार, पशुपालन विभाग कण्डीसौड़ जिला अस्पताल बौराड़ी रेफर किया गया।
बहादुर (33) पुत्र टेकनारायण ठाकुर, आईटीबीपी 12 बटालियन मातली उत्तरकाशी, निवासी झारखंड |
भक्त बहादुर ( 36 ) पुत्र सरंजन सिंह, निवासी नेपाल ।
सुमन नासकर ( 27 ) पुत्र शंकर नासकर।
मधुमिता (22) पत्नि सुमन नासकर, निवासी कोलकत्ता।
हेमराज ( 38 ) पुत्र मांगले, निवासी नेपाल ।
प्रियंका (19) पुत्री शंकर नासकर कोलकाता को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close