Breaking Newsउत्तराखण्ड

*देहरादून-हरिद्वार- ऋषिकेश से चलने वाली दर्जनों ट्रेनों की आवाजाही बंद-त्योहारी सीजन में यात्रियों की बढ़ी मुश्किल*

प्रतीकात्मक तस्वीर।

देहरादून- त्योहार के सीजन में रेलयात्रियों के लिए एक चिंता बढ़ाने वाली खबर है। देहरादून आने और यहां से जाने वाली ट्रेनें 24 से 29 अक्टूबर तक रेल ब्लॉक के चलते प्रभावित रहेंगी। कुछ ट्रेनें रद्द रहेंगी तो कुछ आधे रास्ते से ही वापस लौट जाएंगी। इस तरह सोमवार से रेल यात्रियों की दिक्कतें बढ़ने वाली हैं। इस समय त्योहार का सीजन चल रहा है। देहरादून आने और यहां से जाने वाली अधिकांश ट्रेनें एडवांस में पैक हो चुकी है। कुछ ट्रेनों में लंबी वेटिंग चल रही है,अचानक ब्लॉक से रेल यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ेगी। रेल ब्लॉक के पहले दिन सहारनपुर मेल एक्सप्रेस रद्द रहेगी। चार दिन देहरादून से सिर्फ रात में चलने वाली नंदादेवी-कोटा एक्सप्रेस का संचालन होगा। स्टेशन अधीक्षक सीताराम सोनकर ने बताया कि 24 से 29 अक्टूबर तक लक्सर रेलवे स्टेशन पर रेलवे ट्रैक पर काम होने हैं। इसके लिए ट्रेनों का ब्लॉक रहेगा।
इनमें ऋषिकेश, हरिद्वार के साथ ही देहरादून की ट्रेनें भी शामिल हैं। दून की जो ट्रेनें रद्द रहेंगी, उनके बारे में भी जान लें। दिल्ली से देहरादून आने वाली वाली मसूरी एक्सप्रेस, अमृतसर से देहरादून आने-जाने वाली ट्रेन, दिल्ली-दून के बीच चलने वाली जनशताब्दी, काठगोदाम से देहरादून के बीच चलने वाली वाली नैनी दून जन शताब्दी, उज्जैन और इंदौर के लिए चलने वाली ट्रेन और देहरादून से सहारनपुर जाने वाली मेल एक्सप्रेस रद्द रहेगी। दिल्ली, मुजफ्फरनगर, इलाहबाद, काठगोदाम, हावड़ा और वाराणसी से आने वाली ट्रेन सहारनपुर, नजीबाबाद, लखनऊ और मुरादाबाद तक आएंगी। इस तरह 24 से 29 अक्टूबर तक रेल ब्लॉक के चलते ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित रहेगी। चार दिन देहरादून से सिर्फ रात में चलने वाली नंदादेवी-कोटा एक्सप्रेस का संचालन होगा। ट्रेनों के रद्द रहने से रेल यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। उनको बस, टैक्सी या अन्य माध्यम से सफर करना पड़ेगा।
(न्यूज सोर्स)

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close