ऋषिकेशखेलशहर में खास

*स्पेशल ओलंपिक भारत के तहत उत्तराखंड को अलग इकाई के रूप में पहली बार क्षेत्रीय नेतृत्व करने का मिला उत्तरदायित्व*

ऋषिकेश- दिनांक 19 अक्टूबर 2021 को स्पेशल ओलंपिक भारत के तहत उत्तराखंड को अलग इकाई के रूप में पहली बार क्षेत्रीय नेतृत्व करने का उत्तरदायित्व मिला जिसमें क्षेत्र डायरेक्टर के रूप में श्री डीबीपीएस रावत जी पूर्व प्रधानाचार्य श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज ऋषिकेश को यह जिम्मेदारी दी गई, जिसके तहत पहली बार उत्तराखंड को राष्ट्रीय स्तर के लिए हैंडबॉल टेबल टेनिस पावर लिफ्टिंग बैडमिंटन वॉलीबॉल स्केटिंग के खिलाड़ी चुनने के लिए स्वतंत्रता पूर्वक चयन शिविर लगाने का अवसर प्राप्त हुआ। इस चयन शिविर के द्वारा अब उत्तराखंड के खिलाड़ियों को अधिक से अधिक प्रतिभाओं को निखारने का मौका मिलेगा उत्तर प्रदेश बहुत बड़ा राज्य होने के कारण कुछ प्रतिभाएं दब जाती थी लेकिन उत्तराखंड को अब स्पेशल ओलंपिक भारत के द्वारा अपने राज्य से राज्य स्तर पर चयन शिविर और स्पेशल खेल कराने की अनुमति मिल गई है। इस अवसर पर प्रथम क्षेत्रीय निदेशक श्री डीबीपीएस रावत जी ने कहा कि वह स्पेशल ओलंपिक भारत के द्वारा दिए गए इस जिम्मेदारी का पूरी कर्तव्यनिष्ठ था और निस्वार्थ रूप से निर्वहन करेंगे साथ ही विशेष बच्चों के लिए हर तरह की सुविधाएं जुटाने में लगातार प्रयासरत रहेंगे ।इस अवसर पर कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि जनरल मैनेजर ह्यूमन रिसोर्स टीएचडीसी श्री वीर सिंह जी और श्री भरत मंदिर स्कूल सोसाइटी के प्रबंधक श्री हर्षवर्धन शर्मा जी के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्री वीर सिंह के द्वारा विशेष बच्चों के लिए टीएचडीसी की तरफ से सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई गई।

कार्यक्रम अध्यक्ष श्री भरत मंदिर स्कूल सोसायटी के सचिव श्री हर्षवर्धन शर्मा जी ने स्पेशल बच्चों के के लिए खेलों का बहुत अधिक महत्व है इससे इनको अपनी प्रतिभाओं को निखारने का मौका मिलता है जिससे इनके व्यक्तित्व विकास में खेल बहुत अधिक सहायक सिद्ध होते हैं।

इस अवसर पर पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट, प्रधानाचार्य श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज मेजर गोविंद सिंह रावत, डॉक्टर सुनील दत्त थपलियाल, ज्योति सजवाण,निरपाल सिंह नेगी , अंजना रावत आदि ने विशेष बच्चों का उत्साहवर्धन कर दया नहीं सहयोग की भावना को प्रेरित किया, इस अवसर पर आयोजक मंडल में पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट और श्रीमती शशि राणा, जगदीश चौहान उपदेश उपाध्याय ,आरसी भट्ट, डॉक्टर मीरा,यति गुप्ता, नागेश राजपूत ,योगेश गोरानी, भूपेंद्र सिंह बिष्ट, जितेंद्र मल्ला ,राजदीप, दिनेश पैन्यूली, रंजन अंथवाल ,संजय प्रेमसिंह बिष्ट,हर्षित गौती धीमानआदि उपस्थित थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close