अजब-गजब!

*अजब-गजब- प्लंबर मिस्त्रीे की चमकी किस्मत-रातों-रात बन गया करोड़पति*

कटिहार- मधुबनी में सैलून चलाने वाले अशोक ठाकुर पिछले दिनों करोड़पति बने थे अब कटिहार के बबलू मंडल का नाम भी शामिल हो गया है। आइपीएल टूर्नामेंट ने बिहार के एक युवक की किस्मत ही बदल डाली है। मोबाइल एप से ड्रीम एलेवन बनाकर एक प्लंबर मिस्त्री रातों-रात करोड़पति बन गया। इस सब में बड़ी बात यह है कि ड्रीम इलेवन में टीम बनाने के लिए उसने 59 रुपये लगाए थे। अब 30 फीसदी की कटौती के बाद उसे कुल 70 लाख रुपये मिले हैं। उसे आइपीएल की तरफ से आधिकारिक फोन भी आ चुका है। ड्रीम इलेवन में टीम बनाकर कटिहार का एक प्लंबर बबलू मंडल रातों रात करोड़पति बन गया। रातों रात करोड़पति बने बबलू मंडल के घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। वही परिवार में खुशी की लहर दौड़ गयी है।
इंसान की किस्मत कब पलट जाए कोई नहीं जानता वही वक्त कब किसे राजा और कब किसे रंक बना डाले यह भी कोई नहीं जानता। कटिहार के बबलू की किस्मत भी ऐसी पलटी की वह रातों रात करोड़पति बन गया। बबलू मंडल कटिहार जिले के मनिहारी प्रखंड स्थित हंसवर गांव का रहने वाला है। वह पेशे से एक प्लंबर मिस्त्री है। आईपीएल क्रिकेट से जुड़े ड्रीम इलेवन में टीम बनाकर उसने एक करोड़ रुपये जीता है।
मैच खत्म होने के बाद जैसे ही बबलू मंडल के मोबाइल पर मैसेज आया। उसे देखकर वह हैरान रह गया। परिवार के लोगों को इस बात की जब जानकारी दी तब पूरे घर में खुशी का माहौल हो गया। वही जब आस-पास के लोगों को इस बात की जानकारी मिली तब उनके घर पर लोगों का तांता लगना शुरू हो गया। लोग बबलू से मिले और उन्हे जीत की बधाईयां दी।
मनिहारी प्रखंड के हसवर गांव का रहने वाला बबलू मंडल अपने परिवार का पेट पालने के लिए पानी का नल ठीक करने का काम करता है। ड्रीम इलेवन ने उसे रातों रात करोड़पति बना दिया है। तीस प्रतिशत कटौती के बाद 70 लाख रुपये बबलू मंडल के अकाउंट में आ भी गये हैं। करोड़पति बनने के बाद बबलू मंडल ने कहा कि वह मजदूरी का काम करता है उसके पिता किसान हैं।
बबलू ने बताया कि उसके साथ काम करने वाले हेल्पर ने बताया था कि गांव में लोग ड्रीम इलेवन खेलते हैं। तुम भी क्यों नहीं खेलते। जब मैंने कहा कि मुझे खेलना नहीं आता। तब मेरे साथी ने मुझसे मेरा मोबाईल मांगा और उसमें एप डाउनलोड कर दिया। जिसके बाद मुझे बताया कि किस तरह से ड्रीम इलेवन में टीम बनाया जाता है। फिर मैंने टीम बनाना शुरू कर दिया। 59 रुपये में टीम बनाकर मैंने एक करोड़ रुपये जीत लिया है। जो बहुत ही खुशी की बात है। परिवार के लोग भी काफी खुश हैं।
ड्रीम इलेवन टीम की ओर से मोबाइल पर धन्यवाद दिया गया है। इस पैसे से सबसे पहले वह अपना घर बनाएंगा। जिसके बाद कुछ पैसे मंदिर में भी दान करेंगा।गांव और आस-पास के लोग भी घर पहुंच रहे हैं और बधाईयां दे रहे हैं। गांव वालों का कहना है कि पहली बार किसी ने इस गांव में एक करोड़ रुपया जीता है। यह हमलोगों के लिए खुशी की बात है। इससे पूरा समाज खुश है गांव में रहने वाले लोग अब बधाई देने उनके घर पहुंच रहे हैं।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close