पौड़ीव्यक्ति विशेष

यमकेश्वर-हेमंत बहुखंडी की जीवन गाथा- संघर्ष- कर्तव्यनिष्ठा- समर्पण की भावना से ओत-प्रोत*

यमकेश्वर- आपको यमकेश्वर क्षेत्र से भरोसा फाउंडेशन के संस्थापक भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री हेमंत बहुखंडी जी के जीवन गाथा में संघर्ष और कर्तव्य निष्ठा, समर्पण के बारे में आपको अवगत करा रहा हूं।

हेमंत बहुखंडी जी के पिताजी का का नाम स्वर्गीय पंडित राम चंद्र शास्त्री और माता जी का नाम श्रीमती पुष्पा देवी है। वह गुरुग्राम में शिक्षक थे।आपका जन्म 20 सितंबर 1957 को गुरुग्राम में हुआ। आप का लालन-पालन और शिक्षा गुरुग्राम में हुई।
आप बचपन से ही मेधावी रहे हैं।
हेमंत बहुखंडी जी की शादी 7 फरवरी 1984 को श्रीमती सुशीला देवी से हुई।
आपके दो पुत्र हैं दोनों होनहार हैं । बड़े राहुल बहुखंडी और छोटे आशीष बहुखंडी। दोनों बेटों को आपने अदभुत संस्कार दिए हैं। दोनोंअपने फील्ड काफी नाम कमा रहे हैं साथ ही इस भरोसा फाउंडेशन को भी निरंतर आगे बढ़ाने अभूतपूर्व योगदान दे रहे हैं।
हेमन्त बहुखंडी जी को खेलों में बचपन से ही रुचि थी । बहुत अच्छा हॉकी खेलते है।

आपने 12 सितंबर 1976 को हरियाणा पुलिस ज्वाइन किया और आप 30 सितंबर 2015 को पुलिस निरीक्षक के पद से सेवा निवृत हुए। आपने स्टेट लेवल हॉकी खेली है कॉलेज के दिनों से ही आप हरियाणा के कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी से हॉकी टीम का स्टेट लेवल सदस्य रहे। आप फुल बैक के खिलाड़ी के रूप में प्रसिद्ध रहे।
इसी खेल प्रतिभा के कारण आपको हरियाणा पुलिस में चयन किया गया। हरियाणा पुलिस। हरियाणा पुलिस के टीम के तरफ से कई मैच खेले। आपकी पुलिस सेवा और कर्तव्य परायणता के कारण ही पुलिस के विशिष्ट मेडल देश तत्कालीन राष्ट्रपति श्रीमती पतिभा पाटिल के द्वारा 26 जनवरी 2010 को गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर आप कोअलंकृत, सम्मानित किया गया। यह सम्मान पुलिस मेडल।
, उसके तदुपरांत। आपकी समाज सेवा की भावना के कारण। सेवी संस्थाओं से। जुड़े रहे। और सम्मान पाया। उसके बाद आपने भरोसा फाउंडेशन की स्थापना की जिससे आपने समाज सेवा की परिभाषा ही बदल दी। आपने इस भरोसा फाउंडेशन एनजीओ के माध्यम से बच्चों में खेल भावना से ओतप्रोत किया।
आपने कई बार हरियाणामें हॉकी टूर्नामेंट , क्रिकेट टूर्नामेंट, मैराथन का भी सफल आयोजन किया। साथ ही कई असहाय बच्चों को गोद लेकर उनके रहने और पढ़ने और खेल के ट्रेनिग तक जिम्मेदारी ले रखी हैं।
साथ ही पर्यावरण को स्वक्ष रखने के लिए आपने कई बार बड़े स्तर पर प्लांटेशन भी की है।
इसके अलावा भी कई काम हैं स्वदेशी को बढ़ावा देना अनगिनत सेवाए आपकी संस्था ने दी है।
वो भी बिल्कुल फ्री….

आपकी यही बेदाग छवि मातृ भूमि प्रेम आपको उत्तराखंड खींच लाई। आप शुरू से हैं उत्तराखंड से जुड़े रहे हैं और इसी उत्तराखंड प्रेम की वजह से। आपको गुरग्राम उत्तराखंड गढ़वाल महासभा द्वारा निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया। आपकी लोकप्रियता का यह जीवंत उदाहरण है। आप रिटायरमेंट के बाद अपने ग्राम गोला मल्ला दुगड्डा ब्लॉक यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र पहुंचे और इस क्षेत्र की गरीबी पलायन से व्यथित हो गए।
इसके बाद अपने पैतृक घर के बगल में ही अपना नया घर बनाया। ताकि गांव में रहकर यहां के लोगों की सेवा कर सके। इस महा विपदा कोविड-19अपने इस विधानसभा क्षेत्र में भोजन कपड़े और दवाइयों का वितरण किया। कुछ गरीब बच्चे को और कई स्कूलों में आपनेऔर पुस्तकें भी वितरण की। और आज ही के दिन भरोसा फाउंडेशन के रिजिनल यमकेश्वर विधानसभा के दुगड्डा ब्लॉक पौखाल बाजार में खोला गया हैं। ताकि आप सभी लोगों से जुड़े रहे।
यहाँ इन सबके अलवा सबसे महत्वपूर्ण कार्य हमारा कार्य ये भी आपके समस्याओं का समाधान हम सरकारी सहयोग आपके प्रतिनिधि बनकर करने का हैं।
जैसे स्वास्थ सम्बन्धी समस्याएं हो, वन विभाग से संबंधी , शिक्षा से संबंधी हम इस व्यवस्था में रहकर आपकी हर सम्भव मदद की जाएगी। हमारा सौभग्य हैं कि हमारे सारे अधिकारी बहुत अच्छे आये है ।बस आपकी समस्या को उनको तक पहचाने और समाधान कराने की कोशिश होगी।इसके लिए आप हमारे पौखाल ऑफिस में सूचित करें।
अगर हमारे कार्य से संतुष्ट न हो मुझें सूचित कर सकते हैं।

इस क्षेत्र के विकास के लिए बहुत सारी परियोजनाओं को लाने प्लांनिग है।जिसमें प्रमुख स्पोर्ट्स एकेडमी हैं जिसके लिए जमीन की तलाश जारी हैं। छोटे-छोटे कुटीर उद्दोगों लगाने का प्लानिंग है। ताकि यहां के लोग खुद रोजगार युक्त हो और पलायन मुक्त हो।
धन्यवाद।
-बिनोद पाण्डेय “बेखबर”*

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close