Breaking Newsअपराध

*उत्तराखंड-पहाड़ की शांत वादियों में भी नापाक हरकत- फिरौती के लिए दो लड़कों का अपहरण-पुलिस एवं SOG कि मुस्तैदी से सुखद पटाक्षेप*

अल्मोड़ा-बागेश्वर ज्वाइंट एसओजी टीम ने कुछ ही घन्टो में सकुशल बरामदगी की, परिजनों से छह लाख रूपये की फिरौती मांगी जा रही थी। पुलिस टीम को सीएम ने की एक लाख के ईनाम की घोषणा।

बागेश्वर जनपद के कपकोट से फिरौती हेतु अपहर्त दो बालकों की अल्मोड़ा एवं बागेश्वर एसओजी टीम ने की कुछ ही घण्टों में सकुशल बरामदगी करते हुए चार अपहरणकर्ताओं को खैरना से गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों द्वारा इन बच्चों का कपकोट से अपहरण कर लिया था और परिजनों से छह लाख रूपये की फिरौती मांगी जा रही थी। पहाड़ की शांत वादियों में घटित इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा किये जाने पर मुख्यमंत्री ने पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु एक लाख रूपये नगद पुरूस्कार की घोषणा की है। खास बात यह है कि गिरफ्तार अपहरणकर्ताओं की आयु भी 19 से 25 साल के बीच है।

घटनाक्रम के अनुसार गत 08 सितंबर, 2021 को थाना कपकोट क्षेत्र अंतर्गत दो नाबालिग बालक उम्र 16 एवं 13 वर्ष का अपहरण हो गया। इस मामले में हर सिंह पुत्र मंगल सिंह निवासी, ग्राम गांसी, थाना कपकोट, बागेश्वर द्वारा एफआईआर दर्ज कराई गई थी। हर सिंह द्वारा थाना कपकोट में तहरीर देकर बताया गया था कि उनके नाबालिक पुत्र उम्र 16 वर्ष व उसके दोस्त उम्र 13 वर्ष जो कि कपकोट अस्पताल दवा लेने गये थे का अज्ञात बदमाशों द्वारा अपहरण कर लिया गया है। बालकों को छोड़ने के एवज में छह लाख रूपये की फिरौती की मांग की जा रही है। उक्त घटना के सम्बन्ध में सम्बन्ध में थाना कपकोट जनपद बागेश्वर में धारा 364 (A) भादवि बनाम् अज्ञात पंजीकृत किया गया।

सीएम धामी ने लिया संज्ञान
इस दौरान सीएम नैनीताल के दौरे में थे। उक्त सनसनीखेज घटना की जानकारी प्राप्त होते ही मुख्यमंत्री द्वारा पूरी कुमाऊं पुलिस को हाई अलर्ट करते हुए पुलिस उपमहानिरीक्षक कुमाऊं परिक्षेत्र डॉ. नीलेश आनंद भरणे को नाबालिग बच्चों की किडनैपिंग एवं फिरौती के मामले में अपहरणकर्ताओं की शीघ्र गिरफ्तारी कर अपहर्त बच्चों की सकुशल बरामदगी करने के कड़े निर्देश दिए गए।

डीआईजी के निर्देश पर गठित हुई टीम
डीआईजी के निर्देश पर एसएसपी अल्मोड़ा पंकज भट्ट के नेतृत्व में टीम गठित कर मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए शीघ्र अभियुक्तों की गिरफ्तारी एवं नाबालिक बच्चों की सकुशल बरामदगी हेतु निर्देशित किया गया। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार द्वारा उक्त सम्पूर्ण घटनाक्रम की मॉनिटरिंग करते हुए डीआईजी कुमाऊं परिक्षेत्र एवं एसएसपी अल्मोड़ा को तत्काल घटना के अनावरण किये जाने हेतु निर्देश दिये गये।

अपराधियों ने कबूला जुर्म, इस तरह बनी थी योजना
पुलिस हिरासत में आरोपियों अपना अपराध कबूलते हुए पूरे मामले का खुलासा किया। पुलिस के अनुसार नीरज टाकुली के द्वारा अपने मित्र मोहित टाकुली से सम्पर्क कर उक्त बालकों के अपहरण की योजना बनायी गयी। इसके बाद विशाल आगरी, विकास पाण्डे एवं कमल कुमार आर्या को योजना में शामिल कर कमल कुमार आर्या के वाहन संख्या-यूके-06 एजे- 0040 से बागेश्वर पहुंचकर मोहित टाकुली के माध्यम से उक्त दोनों बालकों को वाहन में बैठाकर मोहित टाकुली को बागेश्वर छोड़कर बालकों का अपहरण कर उन्हीं के मोबाईल फोन से बालकों के परिजनों को फोन कर धमकी देकर छह लाख रूपये की फिरौती की माँग की गयी। फिरौती ना देने पर दोनों बालकों को मारने की धमकी दी गयी।

बार—बार कर देते थे मोबाइल बंद-
अपहरणकर्ताओं द्वारा बालक के एटीएम से 25 हजार रूपये नगद निकाले गये एवं शेष धनराशि 19 हजार व 18 हजार रूपये गूगल पे के माध्यम से तत्काल ट्रान्सफर करवाये गये। शेष धनराशि लेकर बताये हुए स्थान पर आने हेतु कहा गया। आरोपियों द्वारा बात करने के उपरान्त तत्काल मोबाईल फोन बन्द कर दिये जाते थे। जिस कारण उनकी लोकेशन प्राप्त नही हो सकती थी।

लगातार घटना पर नजर रखे रहे एसएसपी पंकज भट्ट, खैरना में दबोचे गये आरोपी-
एसएसपी अल्मोड़ा पंकज भट्ट द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए अल्मोड़ा एसओजी प्रभारी उनि नीरज भाकुनी के नेतृत्व में अल्मोड़ा एवं एसओजी बागेश्वर की टीम गठित कर अपहरण कर्ताओं की गिरफ्तारी एवं अपहर्त किये गये बालकों की सकुशल बरामदगी हेतु तत्काल कार्यवाही किये जाने के निर्देश देते हुए समस्त पुलिस बल को अलर्ट किया। इस दौरान एसओजी अल्मोड़ा एवं बागेश्वर की टीम द्वारा मुखबिर की सूचना के आधार पर एक वाहन संख्या यूके- 06 एजे-0040 काले रंग की टीयूवी-300 को बेस तिराहा अल्मोड़ा के पास रोकने का प्रयास किया गया तो चालक द्वारा वाहन को तेजी से हल्द्वानी की ओर दौड़ा दिया गया। तब एसओजी टीम द्वारा वाहन का पीछा कर उक्त वाहन को तमन्ना फास्ट फूड निकट छड़ा, खैरना के पास पकड़ लिया गया।

वाहन में दुबक कर बैठे थे नाबालिग, पुलिस ने छुड़ाया
इस दौरान वाहन में दुबकाकर रखे गये अप्रह्त बालकों को आज बृहस्पतिवार को बरामद कर लिया गया। पुलिस ने अपहरण के आरोप में तत्काल विशाल आगरी, विकास पाण्डे, नीरज टाकुली व कमल कुमार आर्या को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से फिरौती हेतु ले चुकी धनराशि 25 हजार रूपये में से 22 हजार नगद बरामद किये गये एवं अपहरणकर्ताओं द्वारा बालकों के परिजनों से अलग अलग खातों में 37000/ रुपये की धनराशि गूगल पे के माध्यम से डलवाई गयी थी जिनके खातों की जांच की जा रही है।

छोटी उम्र बड़ा अपराध, महज 19 से 25 साल के बीच हैं अपहरणकर्ताओं की उम्र-

गिरफ्तार किये गये अपरहरणकर्ताओं ने बहुत छोटी सी उम्र में इतना बड़ा अपराध कर दिया है। विशाल आगरी पुत्र बीएल आगरी पालङीछीना, चौगवछीना, थाना झिरौली जनपद बागेश्वर का निवासी है। हाल में पुलस लाइन रूद्रपुर, उधम सिंह नगर रह रहा है। उसकी उम्र मात्र 20 साल है। विकास पाण्डे पुत्र संजय पाण्डे आवास विकास, न्यू LIC कालोनी, रूद्रपुर, जनपद उधम सिंह नगर का है। उसकी उम्र 19 वर्ष है। कमल कुमार आर्या पुत्र प्रेम राम आर्या शिवनगर वार्ड नंबर 2, ट्राजिट कैम्प, नौगपानाय, तहसील खटीमा, जनपद उधम सिंह नगर हाल निवासी शिवनगर वार्ड नंबर 2, ट्राजिट कैम्प, उधमसिंहनगर का है। उसकी उम्र भी सिर्फ 25 वर्ष है। चौथा आरोपी नीरज टाकुली पुत्र प्रेम सिह टाकुली निवासी ग्राम सूपी, थाना कपकोट, जनपद बागेश्वर की उम्र 20 वर्ष है। घटना की योजना में शामिल अन्य आरोपी मोहित टाकुली, निवासी ग्राम सूपी, थाना कपकोट है, जिसकी भी जल्द गिरफ्तारी कर ली जायेगी।

पुलिस टीम को सीएम ने की एक लाख के ईनाम की घोषणा-
मामले में शीघ्र खुलासा किए जाने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु एक लाख रूपये इनाम देने की घोषणा की गई है।
पुलिस टीम में शामिल-
उनि नीरज भाकुनी, प्रभारी एसओजी जनपद अल्मोड़ा। कानि दिनेश नगरकोटी, एसओजी, अल्मोड़ा। कानि. सन्दीप, एसओजी अल्मोड़ा। कानि दीपक खनका, एसओजी अल्मोड़ा। उनि कुंदन रौतेला, एसओजी बागेश्वर। कानि. नरेंद्र एसओजी बागेश्वर तथा कानि राजेन्द्र शामिल रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close