ऋषिकेश

*ऋषिकेश- शरारती तत्वों ने आस्था पथ पर रखे अक्षय पात्र रूपी घड़े को किया आग के हवाले*

ऋषिकेश- इस समाज में सिरफिरों की कमी नहीं है। पता नहीं समाज का अहित कर उन्हें क्या मिलता है? और वे अपने कुकृत्य से समाज को क्या बताना चाह रहे हैं? इसकी एक बानगी आज सुबह आस्था पथ पर देखने को मिली समाजसेवी भारत भूषण वाली ने बताया कि आस्था पद पर साईं मंदिर के पास नगर निगम द्वारा एक अक्षय पात्र रखा गया था जो कि प्लास्टिक का बना हुआ था घड़े के रूप में इस अक्षय पात्र में लोग अपने अपने घरों के कपड़े जूते और जरूरत का सामान उस घड़े में डालते थे और जरूरतमंद उसे लेकर अपना काम चलाते थे! अभाव की जिंदगी जी रहे लोगों के लिए यह घड़ा निश्चित रूप से एक आशा की किरण थी जोकि निगम ऋषिकेश द्वारा जगह-जगह लगाया गया है। परंतु कुछ शरारती तत्वों ने रात को इस प्लास्टिक के घड़े में आग लगा दिया और घड़ा पूरी तरह से जल गया। निश्चित रूप से बेहद निंदनीय कुकृत्य है जिसने भी किया उसकी मानसिकता बेहद निम्न कोटि की थी। सुबह आस्था पथ पर सैर सपाटा के लिए निकले लोगों ने जब जले हुए इस घड़े को देखा तो सब ने इसकी घोर निंदा की।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close