ऋषिकेश

*प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने के लिए वृक्षारोपण अत्यावश्यक-मेजर गोविन्द सिंह रावत*

श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज में हरेला सप्ताह मनाया जा रहा है।

श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज में के प्रांगण में फलदार वृक्षों का रोपण किया गया। हरेला पर्व के अवसर पर 16 जुलाई से 25 जुलाई तक पौधों का रोपण किया जा रहा है।
इस अवसर पर श्री भरत मंदिर के उद्यान में फलदार पौधे आम, जामुन, शीशम, कचनार,सहजन, कटहल एवं अनेकों प्रकार के पौधों का रोपण किया गया। श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य मेजर गोविंद सिंह रावत ने के विषय में बताते हुए कहा कि वृक्षरोपण का शाब्दिक अर्थ है-‘वृक्षों को उगाना’ । प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने के लिए वृक्षारोपण अत्यावश्यक है। मानव जीवन को सुखी तथा समृद्ध बनाए रखने के लिए वृक्षों का बहुत महत्व है। वृक्षों का महत्त्व सभ्यता के विकास से पूर्व मानव वृक्षों पर या वक्षों से ढकी कंदराओं में ही रहा करता था तथा फल-फूल खाकर ही जीवित रहता था। वृक्षों की छाल को तन ढकने के लिए प्रयोग करता था।

वृक्ष हमारे जीवन से जुड़ा हुआ है और वृक्ष के बिना जिंदगी कल्पना करना बेमानी होगी। प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन काल में अपनी सामर्थ्य के अनुसार अधिक से अधिक वृक्ष लगाने चाहिए ताकि भावी पीढ़ी हमें याद कर सके। कोरोना ने हमें सिखाया है की जीवन जीने के लिए वृक्ष बेहद जरूरी है। कोरोना संक्रमण के दौरान ऑक्सीजन के लिए लोग मारे मारे फिर रहे थे कितने लोगों ने ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़ दिया इसलिए वृक्ष बेहद महत्वपूर्ण है।
इस अवसर पर वाई पी त्रिपाठी, एसपी बहुगुणा, जितेंद्र विष्ट, लखविंदर सिंह, सुशीला बर्थवाल, शालिनी कपूर, सुनीता, नलिनी जोशी, रंजन अंथवाल सहित तमाम विद्यालय परिवार के कर्मचारी उपस्थित थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close