Breaking News

*दर्दनाक हादसा: बच्ची को बचाने के दौरान कुएं में गिरे 30 से ज्यादा लोग, चार की मौत-पढें पूरी खबर विस्तार से*

विदिशा- मध्यप्रदेश के विदिशा जिले के गंजबासौदा में गुरुवार की शाम को कुएं में गिरे एक बच्चे को बचाने के प्रयास में कुएं में गिरे कई लोगों में से अब तक चार के शव निकाले लिए गए हैं. भोपाल में मुख्यमंत्री कार्यालय ने शुक्रवार सुबह को यह जानकारी दी.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यालय ने बताया कि कुएं में गिरे लोगों में से दो लोगों के शव कल देर रात और एक का शव शुक्रवार सुबह को निकाला गया. साथ ही बचाव अभियान अब भी जारी है. चौहान ने मीडिया को दिए एक संदेश में कहा कि मैं घटनास्थल पर मौजूद अधिकारियों से संपर्क में हूं और बचाव अभियान की निगरानी कर रहा हूं. उन्होंने मृतकों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये तथा मुफ्त इलाज इलाज देने की घोषणा की है.

*अब तक 15 से अधिक लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया-
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस अधिकारी भारत भूषण शर्मा ने बताया कि कल शाम को हुए इस हादसे के बाद चलाए गए बचाव अभियान में अब तक 15 से अधिक लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है और उन्हें अस्पताल ले जाया गया है. उन्होंने कहा कि मलबे में फंसे और लोगों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है. स्थानीय लोगों के अनुसार, कुआं लगभग 50 फीट गहरा है और उसमें पानी का स्तर करीब 20 फीट है. यह घटना जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर गंज बासौदा कस्बे के पास लाल पातर गांव में हुई.
कुएं में नीचे गिरे लोगों में से कई के मलबे में दबे होने की आशंका-
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक बच्चा गुरुवार शाम को कुएं में गिर गया था. इसके बाद कुछ लोग उस बचाने के लिए कुएं में उतरे जबकि कई लोग इनकी मदद करने और माजरा देखने के लिए कुएं के मुंडेर पर जमा हो गए. इसके बाद कुएं की मुंडेर अचानक ढह गई और उस पर खड़े लोग कुएं के पानी में गिर गए. उन्होंने बताया कि कुएं में नीचे गिरे लोगों में से कई के मलबे में दबे होने की आशंका है. चश्मदीद लोगों ने बताया कि रात करीब 11 बजे बचाव अभियान में लगा एक ट्रैक्टर भी चार पुलिसकर्मियों के साथ कुएं में फिसल गया था।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close