ऋषिकेशमनोरंजन

*पहाड़ के उदयीमान कलाकारों को भी सिखाई जायेंगी फिल्म और थियेटर की बारिकियां-मृदुनदक्ष भट्ट*

ऋषिकेश-उत्तराखंड की नेर्सगिक खूबसूरती, दिलकश नजारे और शानदार लोकेशन रुपहले पर्दे के निर्माता- निर्देशकों की पहली पंसद बने हुए हैं।शायद यही कारण है कि उत्तराखंड के तमाम रमणीक स्थलों पर इन दिनों हो रही धड़ाधड़ फिल्मों की शूटिंग के साथ लाईट ,केमरा, एक्शन की गूंज सुनाई दे रही है।इसके साथ ही एक और अच्छी खबर यह भी है कि उत्तराखंड के सुदूरवर्ती क्षेत्र के बच्चों युवाओं और कलाकारों को थिएटर की गतिविधियों से जुड़ने का अवसर मिलेगा। स्थानीय भाषा गढ़वाली में भी थिएटर संबंधी क्रियाकलापों को प्रोत्साहित किया जाएगा।यह बात पंजाबी और हिंदी सीरियलों के अभिनेता मृदुनंदक्ष भट्ट ने कही उन्होंने कहा कि जनपद रुद्रप्रयाग के सुदूरवर्ती गांव में अलंकार थिएटर चंडीगढ़ की शाखा खोली जा रही है ।मृदुनदक्ष भट्ट जिला रुद्रप्रयाग के निवासी हैं। वर्ष 2018 में आई फिल्म ननकाना में गुरदास मान के छोटे भाई लालू का उनके
द्वारा निभाया गया किरदार खूब सराहा गया था।वह स्टार भारत के सीरियल काल भैरव रहस्य 2 सोनी टीवी के सीरियल मेरे साईं मैं भी अपने अभिनय का जलवा बिखेर चुके हैं। सीरियल खस्मा नू खानी पंजाबी सीरियल के जरिए अपनी छाप छोड़ने वाले मृदुनदक्ष भट्ट ने थिएटर के माध्यम से 200 से भी अधिक नाटकों में अलग-अलग भूमिकाएं निभाई हैं।उनके ऋषिकेश आगमन पर अंतरराष्ट्रीय गढवाल महासभा की और से उनका जोरदार अभिनंदन किया गया।महासभा के देहरादून रोड़ स्थित कार्यालय में एक संक्षिप्त वार्ता में उन्होंने उत्तराखंड के सुदूरवर्ती क्षेत्र के बच्चों युवाओं और कलाकारों को थिएटर की गतिविधियों से जुड़ने का अवसर देने की जानकारी दी।उन्होंने बताया कि क्षेत्रीय भाषा गढ़वाली में भी थिएटर संबंधी क्रियाकलापों को लेकर कलाकारों को महत्वपूर्ण जानकारियां देकर उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा। उनके द्वारा उत्तराखंड के सुदूरवर्ती गांव में थिएटर की शाखा शीघ्र खोल दी जायेगी जोकि
स्थानीय कलाकारों के लिए मील का पत्थर साबित होगी।
इस मौके पर महासभा के उत्तम सिंह असवाल,गणेश बिजल्वाण, अंजली वर्मा, आल्या बिजल्वाण, मोनिका पंवार मनोज नेगी उपस्थित थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close