ऋषिकेशशहर में खास

*सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का सुखद समापन*

ऋषिकेश: गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) और उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के संयुक्त तत्वावधान में 1 मार्च से शुरू हुआ योग महोत्सव दैनिक जीवन और सार्वजनिक व्यवहार में योग को अपनाने के संकल्प के साथ आज उत्तराखंड की राज्यपाल महामहिम बेबी रानी मौर्य के हाथ हाथों समाप्त हुआ। समापन समारोह को संबोधित करते हुए राज्य की राज्यपाल महामहिम बेबी रानी मौर्य ने कहा कि योग का मतलब जोड़ना है। योग भारत द्वारा पूरी दुनिया को दिया गया एक अमूल्य उपहार है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग को पूरे विश्व में एक नई पहचान दी है। राज्यपाल ने कहा कि युवाओं को योग का अनुकरण करना चाहिए तभी हम विकसित भारत का निर्माण कर सकते हैं। उसने कहा कि योग केवल एक अभ्यास नहीं है, बल्कि एक संस्कृति है, जिसे ऋषि संतों ने कठिन तप के माध्यम से प्राप्त किया है।

इससे पहले, राज्य के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अपने संबोधन में राज्यपाल का स्वागत किया और कहा कि योग की शक्ति से ही हम भारत को विश्व गुरु बना सकते हैं। आज, योग हमें दुनिया में फैलने वाली सभी वैश्विक बीमारियों से बचा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना अवधि के दौरान कोविड -19 से लड़ने में योग ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। महाराज ने कहा कि देश के प्रख्यात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों के कारण आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर योग लोकप्रिय हो गया है। भारत ऋषिमुनि मनीषियों की भूमि है। यहीं से योग जैसा अनुशासन पैदा हुआ जो शरीर को स्वस्थ रखता है और आत्मा को परमात्मा से मिलाता है। उन्होंने कहा कि योग ने कोरोना महामारी से सभी की रक्षा की। उन्होंने योग के प्रचार के लिए गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी सराहना की।

समापन समारोह में मौजूद वन मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि योग अब आम लोगों की दिनचर्या का हिस्सा बन गया हैदेवभूमि उत्तराखंड से दुनिया भर में। उन्होंने कहा कि पश्चिमी देशों ने भी योग के महत्व को स्वीकार किया है। यही कारण है कि पूरी दुनिया 21 जून को योग दिवस मनाती है। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल भी योग महोत्सव में उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि ऋषिकेश योग की भूमि है और यहां से गंगा बहती है, योग पूरे विश्व में बह रहा है। विभिन्न देशों के उच्चायुक्तों ने भी इस अवसर पर कार्यक्रम में भाग लिया। जिसमें मोहम्मद शिंजिक, बोस्निया के उच्चायुक्त, नेहट एमिनी, उत्तर मैसेडोनिया के राजदूत, कमलेश शशि प्रकाश, फिजी के उच्चायुक्त और त्रिनिदाद और तबागो के राजदूत डॉ। रोजर गोपाल ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

एक सप्ताह तक चलने वाले अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव में देश भर में और विदेशों से आए सैकड़ों योगाचार्यों, 425 से अधिक योग प्रेमियों पर जोर दिया गया। रवि शंकर, योगमाता शिवानी आदि ने भी ऑनलाइन योग में भाग लिया इस दौरान योग से संबंधित आचार्य बालकृष्णन, पीठेश्वर स्वामी नरेंद्र गिरि, योग माता उषा, जीएमवीएन के प्रबंध निदेशक डॉ0 आशीष चौहान, जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव और कई योग प्रशिक्षकों, साधकों ने भाग लिया। शाम के सांस्कृतिक कार्यक्रम में। हंसराज रघुवंशी के शो ने उपस्थित दर्शकों का मन मोह लिया देर शाम तक श्रोता उनके गानों पर झूमते रहे,हंसराज ने एक गढ़वाली गीत भी गाया जिसको लोगों ने खूब पसंद किया और उनके गानों पर थिरकते नजर आए। उन्होंने उत्तराखंडी गीत बेडू पाको बर मासा …. भी गाया है, जो उनके भोले भजन के बाकी हिस्सों के रूप में प्रसिद्ध है। और अन्य हिमाचली और हिंदी गाने उन्होंने गाए। हंसराज रघुवंशी को सुनने के लिए स्थानीय युवा बड़ी संख्या में आए थे।

इस अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के प्रमुख किरदार के रूप में जो सबसे बड़ा चेहरा था वो मुख्य व्यक्ति जिसकी कड़ी मेहनत का श्रेय जाता है वह है डॉ0 आशीष चौहान। डॉ0 आशीष चौहान जो वर्तमान में गढ़वाल मंडल विकास निगम के प्रबंध निदेशक (एमडी) हैं। उनकी योजना और निष्पादन प्रशंसनीय है। इस घटना के लिए कोविड के कारण यह एक बड़ी चुनौती थी कि वह उनके लिए यह आयोजन करें। इस बार कोविड की वजह से विदेशी मेहमान नहीं आ सके, जबकि पिछली बार जितना राजस्व उत्पन्न नहीं हुआ था। फिर भी कुशलता से उनके और उनकी पूरी टीम द्वारा की गई थी। इसके लिए डॉ0 आशीष चौहान और उनकी पूरी टीम प्रशंसा की पात्र है।

डॉ0 आशीष चौहान (IAS) के बारे में जानें: इस युवा अधिकारी डॉ0 आशीष चौहान (IAS) का धन्यवाद, जो गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMVN) के एमडी हैं। उनकी मेहनत रंग लाई। वह अपने समर्पित कार्यों के लिए जाने जाते हैं। वह जोधपुर, राजस्थान से संबंध रखता है। जब वह उत्तरकाशी के डीएम थे, तो उन्होंने सिविल सर्वेंट के रूप में सराहनीय काम किया। इससे पहले, उत्तराखंड के पूर्व कलेक्टर, उत्तराखंड के इस आईएएस अधिकारी डॉ0 आशीष चौहान के नाम पर एक बड़ी उपलब्धि दर्ज की गई थी। एक स्पेनिश नागरिक और पर्वतारोही एंटोनियो ने 2018 में उत्तराखंड का दौरा किया और उत्तरकाशी के पहाड़ों की सहायता के लिए मदद की तलाश कर रहे थे। उन्होंने तत्कालीन उत्तरकाशी डीएम डॉ0 आशीष चौहान डीएम ने न केवल उनकी मदद की, बल्कि पहाड़ की भौतिक स्थिति के बारे में भी उनका मार्गदर्शन किया। डीएम ने अपना मोबाइल नंबर भी साझा किया और उसे किसी भी संकट में पहुंचने के लिए प्रेरित किया। परिणामस्वरूप, पर्वतारोही एंटोनियो ने जिले में अपने समय के दौरान सहायता प्राप्त करना जारी रखा। एंटोनियो ने अपने सोशल मीडिया पेज पर यह जानकारी साझा की और आशीष चौहान को भी सूचित किया। स्पेन के नागरिक एंटोनियो ने सोशल साइट पर स्पेन की गुमनाम चोटी के ऊपर चढ़ने की तस्वीरें और जानकारी साझा की है। इस बारे में मीडिया को जानकारी भी दी गई। साथ ही, डॉ0 आशीष चौहान को सूचित किया गया कि स्पेन के एक वर्जिन शिखर को मजिस्ट्रेट प्वाइंट (शीर्ष) नाम दिया गया है और उस ट्रेक को ‘वाया आशीष’ नाम दिया गया है। भविष्य में पर्वतारोहण के स्पेन के रिकॉर्ड में, इसका नाम मजिस्ट्रेट प्वाइंट और वाया आशीष होगा। इस दौरान, चौहान ने कहा कि यह “एक महान सम्मान था और मैं एंटोनियो के इशारे से से ही इस सम्मान को छुआ हूं। उन्होंने कहा- अतीथि देवो भव: (अतिथि ईश्वर है) हमारी भारतीय संस्कृति के मूल में है और एक सरकारी अधिकारी होने के नाते, किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को मदद प्रदान करना मेरा कर्तव्य है। आईएएस डॉ० आशीष चौहान के नाम दर्ज इस उपलब्धि ने राज्य और देश को गौरवान्वित किया है। एमडी के रूप में डॉ० आशीष चौहान के जुड़ने के बाद अब जीएमवीएन को उम्मीद है कि उसे कम्फर्ट जोन में मिलेगा और कोर बिजनेस में तेजी आएगी।

कार्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के अवसर पर सहयोग देने वाले विभिन्न सामाजिक संस्थाओं हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा, स्वामीनारायण आश्रम और खासकर मीडिया के लोगों को सम्मानित किया गया जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव को विश्व के मानस पटल पर रखा और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योग नगरी ऋषिकेश में अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में प्रतिभाग करने के लिए प्रेरित किया।
इस अवसर पर देवभूमि जेके न्यूज़ के संपादक जय कुमार तिवारी, नेशनल फ्रंटियर और नेशनल वाणी के संपादक मनोज रौतेला, अमर उजाला से विनोद मुसान
मनोज राणा, विनीता खुराना, विक्रम पत्रकार, दुर्गेश मिश्रा, विनय पांडे, अमित कंडियाल, महावीर प्रसाद, अनुसुइया शर्मा सहित तमाम पत्रकारों को सम्मानित किया गया।

इस सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के प्रमुख आधार स्तंभों के रूप में जितेंद्र कुमार, महाप्रबंधक पर्यटन गढ़वाल मंडल विकास निगम, अवधेश कुमार सिंह महाप्रबंधक वित, अभिषेक कुमार आनंद समेत अनेक अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close