Breaking Newsस्वास्थ्य

*पैनेसिया हॉस्पिटल देहरादून द्वारा ऋषिकेश नगर निगम में विशाल चिकित्सा शिविर का हुआ आयोजन*

चिकित्सा शिविर का उद्घाटन महापौर नगर निगम ऋषिकेश अनीता मंमगाई द्वारा किया गया।


ऋषिकेश सोमवार को नगर निगम के प्रांगण में पैनेशिया हॉस्पिटल धर्मपुर, देहरादून द्वारा ऋषिकेश नगर निगम प्रांगण में एक विशाल चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया।


शिविर का उद्घाटन नगर निगम महापौर अनीता मंमगाई ने रिबन काटकर किया।

इस अवसर पर महापौर ने कहा कि निश्चित रूप से इस चिकित्सा शिविर का लाभ लोग उठाएंगे, इस शिविर में लगभग सभी रोगों के जानकार चिकित्सक मौजूद है, निगम में चिकित्सा शिविर लगाने का उद्देश्य यही है कि ऋषिकेशवासी अनुभवी डॉक्टरों से अपना चिकित्सीय जांच करा कर अपना इलाज कराएं।


पैनेसिया हॉस्पिटल देहरादून के मैनेजिंग डायरेक्टर रणवीर सिंह चौहान ने कहा कि इस शिविर का उद्देश्य है कि अच्छे से अच्छे डॉक्टर सभी के संपर्क में आकर अपना यहां जांच कराकर इलाज कराएं।

ऋषिकेश में यह शिविर निश्चित रूप से ऋषिकेश वासियों के लिए नामी-गिरामी डॉक्टरों से परामर्श लेकर अपनी बीमारियों के इलाज कराने का सुनहरा मौका है। हम इस अवसर पर सभी प्रकार की जांच दवाइयों पर 50% की छूट दे रहे हैं यहां पर डॉक्टरों की कोई फीस नहीं है।
देहरादून पैनेसिया हॉस्पिटल सभी आधुनिक चिकित्सा से परिपूर्ण अस्पताल है, और यहां अनुभवी चिकित्सकों द्वारा सभी प्रकार के रोगों की इलाज की सुविधा है। जिसमें 24 घंटे इमरजेंसी एंबुलेंस सेवा सहित फिजीशियन, स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, यूरोलॉजी, ऑर्थो, आईसीयू, सीसीयू, वेंटिलेटर, न्यूरो सर्जरी, जनरल सर्जरी, पैथोलॉजी, एक्स-रे, सिटी स्किन की सारी सुविधाएं उपलब्ध है।
इस चिकित्सा शिविर में डॉक्टर सुनील भट्ट फिजीशियन, डॉक्टर ए के सिंह मस्तिष्क, रीढ़ एवं नस रोग विशेषज्ञ, डॉक्टर जावेद खान न्यूरो सर्जन, डॉ प्रियंका रतूड़ी एवं डॉक्टर मीनू मैठाणी स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, डॉक्टर सौरभ शर्मा पेट रोग विशेषज्ञ, जो कि भूतपूर्व कनिष्क हॉस्पिटल देहरादून के चिकित्सक है।

मौके पर पैनेसिया हॉस्पिटल के निदेशक विक्रम रावत डॉ हरिओम, शुभम चंदेल, ललित किशोर शर्मा, हॉस्पिटल इंचार्ज डॉ सुनील भट्ट, सुमित कुमार, सुमित धीमान, अंकित रतूड़ी, दानवीर यादव, बृजपाल बिरजू ,सहित तमाम लोग उपस्थित थे। चिकित्सा शिविर का 250 लोगों ने लाभ उठाया।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close