ऋषिकेश

*डा. सुरेश चंद शर्मा का जाना पूरे ऋषिकेश के लिए अपूर्ण क्षति- उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष*

देवभूमि जेके न्यूज।

ऋषिकेश 17 नवंबर। प्रसिद्ध समाजसेवी एवं जनसंघ व भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं नगर पालिका परिषद ऋषिकेश के पूर्व उपाध्यक्ष, पूर्व प्रधानाचार्य डॉ सुरेश चंद्र शर्मा के आकस्मिक निधन पर आज भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि डॉ. सुरेश चंद शर्मा का जाना पूरे ऋषिकेश के लिए अपूर्ण क्षति है।

स्वर्गीय डॉ सुरेश चंद्र शर्मा के चित्र पर पुष्प अर्पित करने के पश्चात श्री अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने जीवन पर्यंत राष्ट्र विचारों से ओतप्रोत होकर समाज हित में कार्य किया l श्री अग्रवाल ने इसे अपूर्ण क्षति बताया है।श्री अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा है कि स्वर्गीय सुरेश चंद जी एक प्रखर वक्ता थे उन्होंने अनेक महत्वपूर्ण दायित्व का निर्वहन करते हुए राष्ट्र विचारों को महत्व दिया।

इस अवसर पर ऋषिकेश मंडल अध्यक्ष दिनेश सती ने कहा डॉ सुरेश चंद्र शर्मा द्वारा पार्टी व संगठन को दिये गये योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने ऋषिकेश नगर में पार्टी को मजबूत करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है।

इस अवसर पर राज्य मंत्री कृष्ण कुमार सिंघल, संजय शास्त्री, कुसुम कंडवाल ने सुरेश चंद शर्मा के आकस्मिक निधन पर अपनी शोक संवेदना व्यक्त की एवं उनके किए गए कार्यों को याद किया।इस अवसर पर विगत दिनों शहीद हुए ऋषिकेश के जवान राकेश डोभाल की स्मृति में 2 मिनट का मौन भी रखा गया ।

इस अवसर पर इस अवसर पर संदीप गुप्ता, उषा जोशी, इंद्र कुमार गोदवानी, देवेंद्र सकलानी, संजय व्यास, जितेंद्र अग्रवाल, राकेश अग्रवाल, शिव कुमार गौतम, नितिन सक्सेना, अनुराग पयाल, विवेक शर्मा, असरफी रणावत, सरोजनी नेगी, माधव नोटियाल अनिल चौहान, धर्मपाल गुप्ता, कमलेश जैन, राजकुमारी पंत, शारदा सिंह, सरोज डिमरी, जयंत किशोर शर्मा, संजय व्यास, अनीता रैना कमलेश जैन, उषा नेगी, बीना देवी, विवेक शर्मा, संजीव पाल आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन सुमित पंवार ने किया।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close