ऋषिकेशराजनीति

*स्वच्छता अभियान में सहयोग के लिए मोक्षदायिनी मां गंगा की ली गई शपथ को आत्मसात करें लोग- अनिता ममगाई*

*नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से नगर निगम ने शुरू किया स्वच्छता संदेश अभियान* *झाड़ू थामकर कर मेयर ने दिया स्वच्छता संदेश*

देवभूमि जेके न्यूज ऋषिकेश।

ऋषिकेश- नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से नगर निगम प्रशासन ने स्वच्छता संदेश अभियान का किया शुभारंभ। नगर की हृदय स्थली त्रिवेणी घाट पर महापौर अनिता ममगाई ने वर्ष 2021 के स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आने के लिए अभियान का शुभारंभ किया ।इस दौरान झाड़ू थाम कर नगर की प्रथम नागरिक महापौर ने लोगों से जहां अभियान में सहयोग की अपील की वहीं उन्होंने मौजूद उपस्थिति को मोक्षदायिनी मां गंगा की शपथ दिलाकर शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाने में अपना पूर्ण सहयोग देने की शपथ भी दिलाई।
वृहस्पतिवार को स्वच्छता अभियान की शत प्रतिशत सफलता को लेकर मेयर की अगुवाई में गंगा तट पर नुक्कड़ नाट्य टीम के द्वारा जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान सरकार की महत्त्वाकांक्षी योजना के तहत स्वच्छता अभियान के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए अवगत कराया गया। नाट्य टीम के कलाकारों ने अपने प्रस्तुति से दर्शकों को खूब हंसाया। अभियान का शुभारंभ करते हुए महापौर अनिता ममगाई ने कहा कि जन सहयोग के बूते ही तमाम अभियान सफल होते हैं। उन्होंने कहा कि नगर निगम प्रशासन पिछले डेढ़ वर्षों से देव भूमि की ख्याति के अनुरूप शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत रहा है । विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए लोगों को शपथ दिला कर शहर को सुंदर बनाने में सहयोग की अपील की जाती रही है। लोगों को इसके लिए जागरूक होने की जरूरत है। उन्हें यह सोचना होगा कि जिस मोक्षदायिनी की शपथ ले रहे हैं उन शब्दों क आत्मसात भी करें।इस दौरान नगर आयुक्त नरेंद्र क्वीरियाल, सहायक नगर आयुक्त विनोद लाल, स्थानीय पार्षद रीना शर्मा, पार्षद विजय बडोनी, पार्षद विजेंद्र मोगा, पार्षद राजेश दिवाकर, पार्षद शौकत अली, अनिल ध्यानी, पवन शर्मा, सुजीत यादव, आशीष द्रविड़, राजीव राणा सहित नगर निगम के सफाई निरीक्षक व सभी हवलदार मोजूद रहेे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close