ऋषिकेशस्वास्थ्य

*तीर्थ नगरी ऋषिकेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु ऋषिकेश एम्स, रोटरी क्लब ऋषिकेश व लायंस क्लब ऋषिकेश ने संयुक्त रुप से चलाया अभियान*

देवभूमि जे के ऋषिकेश। तीर्थ नगरी ऋषिकेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु ऋषिकेश एम्स, रोटरी क्लब ऋषिकेश व लायंस क्लब ऋषिकेश ने संयुक्त रुप से चलाया अभियान। लोगों को जागरूक करने और संक्रमण से बचने के लिए बांटे मास्क व सैनिटाइजर। सुबह मॉर्निंग वॉक पर जाते हुए लोगों को सोशल डिस्टेंस व संक्रमण से बचने के उपायों की दी जानकारी।

पूरे विश्व में कोरोना संक्रमण लगातार अपने पांव पसार रहा है। सरकार द्वारा लगातार विज्ञापन के माध्यम से लोगों को सोशल डिस्टेंस व मास्क पहनने ओर समय-समय पर सैनिटाइजर से हाथ धोने की जानकारी दी जा रही है। चेतावनी देने के बावजूद भी लोग लगातार नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। सुबह मॉर्निंग वॉक पर जाते समय सैकड़ों लोग बिना मास्क लगाए हुए घूमते रहते हैं।सोशल डिस्टेंस की लगातार धज्जियां उड़ती हुई दिखाई दे रही है। इसी को देखते हुए आज ऋषिकेश एम्स के डॉक्टर, रोटरी क्लब ऋषिकेश वह लायंस क्लब ऋषिकेश ने मिलकर संयुक्त रूप से एक अभियान चलाया। सभी लोगों ने सुबह त्रिवेणी घाट से ऋषिकेश एम्स तक गंगा किनारे मॉर्निंग वॉक पर जाने वाले लोगों को कोरोना संक्रमण से बढ़ने वाले खतरे के बारे में जानकारियां दी। जो लोग मास्क के बिना वॉक करते हुए मिले उन सभी को मास्क दिए गए और सैनिटाइजर भी दिए गए। वहीं डॉक्टरों ने सभी को सोशल डिस्टेंस का पालन करने मास्क पहनने की सलाह दी। डॉक्टर ने बताया कि कोरोना संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है और 2022 तक कोई उम्मीद भी नहीं है ।कोरोना संक्रमण के चलते लोग लगातार अपनी जिंदगी से खिलवाड़ करते हुए दिखाई देते हैं। सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कर रहे हैं ।बिना मास्क के सार्वजनिक स्थलों पर घूमते हुए लगातार नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। जिससे लगातार संक्रमण फैल रहा है और लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। संक्रमण से बचाव करने हेतु इस अभियान के तहत सैकड़ों लोगों को जागरूक करने की कोशिश ऋषिकेश एम्स व लायंस क्लब ऋषिकेश और रोटरी क्लब ऋषिकेश के सदस्यों ने की ताकि लोगों की जिंदगी को बचाया जा सके।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close