Breaking Newsऋषिकेशखेल

*फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल में गढ़वाल क्लब और डीसी क्लब रायवाला के बीच कांटेदार टक्कर चली, जिसमें 2-1 से गढ़वाल क्लब ने जीत हासिल की*

देवभूमि जेके न्यूज, ऋषिकेश।

आज गढ़वाल क्लब द्वारा फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल मैच में मुख्य अतिथि पुलिस क्षेत्राधिकारी भूपेंद्र सिंह धौनी और विशिष्ट अतिथि मेजर गोविंद सिंह रावत प्रधानाचार्य श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज कार्यक्रम अध्यक्ष अलक्षेंद्र विज्ञानी और युवा नेता कनक धनाई के द्वारा विधिवत रूप से समापन किया गया।
फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल में गढ़वाल क्लब और डीसी क्लब रायवाला के बीच कांटेदार टक्कर चली जिसमें 2-1 से गढ़वाल क्लब ने जीत हासिल की
,मुख्य अतिथि श्री भूपेंद्र धोनी जी ने कहा कि खेल में जीत और हार मायने नहीं रखती है खेल भावना मायने रखती और खेलों से युवा नशे से दूर हो सकते हैं जो अभियान वर्तमान में पुलिस के द्वारा चलाया जा रहा है साथ ही धोनी जी ने कहा कि फुटबॉल के प्रति उनका बहुत लगाव रहा है और फुटबॉल संतोष ट्रॉफी तक उनका चयन हो गया था

मेजर गोविंद सिंह रावत ने कहा कि फुटबॉल के प्रति उनका भी बचपन से अपार प्रेम रहा है और वह अपने छात्र जीवन में कई फुटबॉल प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर चुके हैं ,
कार्यक्रम अध्यक्ष अलक्षेंद्र और ने कहा कि युवाओं को खेलों के प्रति अपने रुझान को बनाए रखना चाहिए खेलों से ही शरीर स्वस्थ रहता है रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। आज खेलों के द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेकर युवा अपनी कैरियर बना रहे हैं और देश ही नहीं बल्कि विश्व में अपना नाम रोशन कर रहे हैं। पढ़ाई के साथ-साथ युवाओं को खेल में भी दिलचस्पी लेनी चाहिए।
कार्यक्रम संयोजक छात्रसंघ अध्यक्ष अनुराग पयालक्या ने कहा कि विजेता टीम को ₹25000 नगद और विजयी ट्रॉफी तथा दूसरे स्थान पर रहने वाली टीम को ₹11000 नगद और ट्रॉफी प्रदान की गई
इसके साथ ही कार्यक्रम में उपस्थित सभी कोचों को भी सम्मानित किया गया ,
इस अवसर पर पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट विवेक तिवारी, कनक धनाई, रंजन पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष विवेक शर्मा, नितिन सक्सेना, विपिन ,जितेंद्र मल्लाहआदि उपस्थित थे

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close