ऋषिकेशशहर में खासशिक्षा

*प्रबंधकीय मान्यता प्राप्त विद्यालय एसोसिएशन द्वारा 15 अक्टूबर को विद्यालय खोलने हेतु आवश्यक बैठक बुलाई*

आज 5:00 अक्टूबर को प्रबंधकीय मान्यता प्राप्त विद्यालय एसोसिएशन की एक महत्वपूर्ण बैठक आदर्श बाल विद्यालय मनीराम मार्ग पर एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रमोद कुमार शर्मा की अध्यक्षता में आहूत की गई ।जिसमें सरकार द्वारा 15 अक्टूबर से प्रदेश के सभी विद्यालयों को खोलने पर चल रहे मंथन पर विचार विमर्श किया गया। जिसमें सरकार द्वारा विद्यालयों एवं अभिभावकों से विचार मांगे जा रहे हैं।
एसोसिएशन का मानना है कि समाज की तरकीबन सभी प्रकार की गतिविधियां फिर से प्रारंभ कर दी गई है। केवल शिक्षा जगत को छोड़ते हुए, शिक्षा जगत जो कि समाज की महत्वपूर्ण गतिविधि होती है जिससे देश के छात्र-छात्राओं का भविष्य निर्भर करता है। उसको भी पटरी पर लाने के लिए प्रभावी कदम की आवश्यकता है जिसे इस सत्र को शून्य सत्र होने से बचाया जा सके।
एसोसिएशन का मानना है कि उत्तराखंड शिक्षा बोर्ड से संबंधित सभी विद्यालयों का मानना है कि विद्यालय खोलने की प्रक्रिया ना होकर उसमें मुख्य परिवर्तन किए जाए जिससे कोविड-19 के अंतर्गत आने वाले नियमों का कठोरता से पालन हो, जैसे बच्चों और शिक्षकों को मैं मास्क की प्रतिबद्धता, स्कूल का सैनिटाइज थर्मल स्क्रीनिंग कर स्कूल खोलना अथवा तीन पारियों में बेहद जरूरी विषयों हिंदी, इंग्लिश, गणित, विज्ञान की पढ़ाई जिससे प्रत्येक पाली का अधिकतम समय सीमा 2 घंटे की हो।
स्कूल में कोई प्रार्थना सभा ना हो और लंच ब्रेक ना हो प्रत्येक कक्षा में प्रत्येक देश पर एक बच्चा बैठे सभी कक्षाओं में बच्चों के स्कूल आने और जाने के समय में अंतर हो। यदि कोई बच्चा वायरल फ्लू ,सर्दी, खांसी ,जुकाम या किसी भी अन्य प्रकार की बीमारी से ग्रसित हो उनको अभिभावक स्वयं ही तब तक स्कूल ना भेजें जब तक कि वह पूर्ण स्वस्थ नहीं हो जाता है। ऐसे बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा लगातार विद्यालय द्वारा दी जाती रहे जो अभिभावक यदि अपने बच्चे को स्कूल नहीं भेजना चाहते हो। उन पर बच्चे को स्कूल भेजने का कोई दबाव ना हो यदि कोई बच्चा कहीं और से संक्रमित होता है तो उसकी जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन के ऊपर न लिदी जाए ।शिक्षा विभाग के अधिकारी समय-समय पर समस्त विद्यालयों का निरीक्षण करते रहें इन सभी बिंदुओं पर यदि विद्यालय खोले जाते हैं तो एसोसिएशन इसका स्वागत करता है। कोविड-19 बीमारी के समाप्त होने की तिथि का कोई विशेषज्ञ जवाब नहीं दे सकता है कि यह अभी और कितने दिनों तक देश में विद्यमान रहेगी हमें इसके साथ ही दैनिक कार्यों को निष्पादन करने की आदत डालनी पड़ेगी।
यह बात सत्य है तो फिर देश के बच्चों को हम कब तक घर में बिठा कर रख सकते हैं इसके लिए विद्यालय और विभाग सभी को आज तक और निर्भीक होकर आगे आने की आवश्यकता है जिससे बच्चों का यह सत्र शून्य सत्र होने से बच जाए ।
इस बैठक का संचालन सचिव मधुर जखमोला ने किया। बैठक में मुख्य रूप से संरक्षक कमला प्रसाद भट्ट, विमला रावत, कमल शर्मा उपाध्यक्ष, राहुल रावत, संजय पांडे सचिव, राकेश त्यागी, देवेंद्र ,प्रीत सिंह आदि सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

7 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close