ऋषिकेशधर्म-कर्म

*स्वामी सम्पर्णानंद आश्रम तपोवन घुघतानी में चतुर्मास के अवसर पर भंडारे का भव्य आयोजन*

देवभूमि जेकेन्यूज, ऋषिकेश।
आज का शुभ दिन कन्याॠक अश्विनी मासे शुक्लपक्षे तद वर्तमान चतुर्मास चतुर्थी तिथो।
रविवार 20 सितम्बर की शुभ अमृत घटिका में श्री स्वामी समर्पण नन्द सरस्वती महाराज
के द्वारा तीन महीने से चल रहा चतुर्मास
आज के शुभदिवस के शुभ अवसर पर स्वामी सम्पर्णानंद आश्रम तपोवन घुघतानी जिला टिहरी गढ़वाल उत्तराखंड में,चातुर्मास व्रत के समापन पर परमपूज्य परमहंस स्वामी सम्पर्णानंद महाराज जी द्वारा प्रीतिभोज भंडारा में ऋषिकेश के सभी साधुगणों को आमंत्रित किया गया व इस भंडारे में भारत सरकार द्वारा कोविड -19 का ध्यान रखते हुए। इस भव्य आयोजन का समापन हुआ। परम पूज्य स्वामी द्वारा विगत कई वर्षों से चातुर्मास में पंचाग्नि साधना के पश्चात इस भव्य भंडारे का आयोजन होता रहता है। जिसमें समय – समय पर सब साधुगणों का मिलन होता है।

यह चातुर्मास साधना अहिंसा मार्ग की साधना और विश्व शांति के लिए किया जाता हैं। पंचाग्नि साधना के बाद श्रीस्वामीजी ने यह चातुर्मास साधना भी की ।और आज अपने तपोवन आश्रम में होमोपथिक निशुल्क चिकित्सा और दवा वितरण भी की।

स्वामी नारयण सरस्वती , स्वामि प्रज्ञानंद सरस्वती ,स्वामी भवात्मनांदा गिरि और संतों ने कहा इसतरह समाजसेवा और भारतीय सनातन संस्कृति और योग को आगे बढ़ाने में श्री स्वामी समर्पण आनंद सरस्वती जी का भूमिका बहुत महत्व पूर्ण देश और विदेश में है, अतः उनको इसी सराहनीय कार्य के लिए भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत किया जाना चाहिए।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close