ऋषिकेशशहर में खास

*कूड़े निस्तारण के लिए “वेस्ट टू कम्पोस्ट “का महापौर ने किया शुभारंभ*

*योजना से लोगों को खाद के जरिए मिलेगें रोजगार के अवसर-मेयर*

देवभूमि जेके न्यूज ऋषिकेश।

ऋषिकेश- विभिन्न योजनाओं को धरातल पर लाने के साथ-साथ नगर निगम ने गीले कूड़े से खाद बनाने का काम भी शुरू कर दिया है। कूड़ा निस्तारण के लिए निगम ने उम्दा पहल के रूप में वेस्ट टू कंपोस्ट का रविवार को महापौर अनिता ममगाई ने नगर आयुक्त नरेंद्र सिंह क्वीरियाल के तहसील स्थित सरकारी आवास पर फीता काटकर शुभारंभ किया।
गीले कूड़ा निस्तारण के लिए निगम ने कम्पोजिट पिट बनाना शुरू कर दिया है ।इसी कड़ी में नगर आयुक्त नरेंद्र क्वीरियाल ने अपने सरकारी निवास में 1 पिट बनवाई है जिससे लोगों को यह संदेश जाए कि वह भी यह काम अपने घर में कर सकते हैं।रविवार को महापौर ने विधिवत रूप से कम्पोस्ट पिट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर महापौर ने कहा कि यह एक नई शुरुआत है जिसके जरिए जैविक खाद बनेगी और उसका इस्तेमाल अपनी किचन गार्डन में लोग कर सकेंगे।महापौर के अनुसार जल्द ही खाद बनाने वाली मशीन कंपोस्टर भी निगम लगाएगा। महापौर ने बताया कि निगम का लक्ष्य प्रत्येक वार्ड में कंपोस्ट पिट लगाने का है। इसके लिए जमीनी धरातल पर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि इससे निगम लोगों को खाद के जरिए रोजगार उत्पन्न करने का अवसर देगा ।योजना मैं रूचि रखने वाले प्रत्येक व्यक्ति की हर संभव मदद निगम प्रशासन की ओर से की जाएगी। निगम आयुक्त नरेंद्र सिंह क्वीरियाल ने बताया कि कम्पोस्ट पिट 76 फ़ीट लंबी व 6 फ़ीट चौड़ी है । इसमें 5000 किलो गीला कूड़ा डाल सकते हैं। 2 महीने में 50% यानी ढाई हजार किलो तक ऑर्गेनिक खाद इससे मिल सकेगी ।
कंपोस्ट इंजीनियर रोहित के मुताबिक अगर कोई घर में कंपोस्ट पिट बनवाना चाहता है तो उसका खर्चा 4 से 5 हजार के बीच में आता है । यह ऑर्गेनिक खाद नर्सरी में 8 से 10 रुपया और ऑनलाइन 50 से 100 किलो तक बिक रही है ,जिससे रोजगार भी उत्पन्न होगा।इस अवसर पर पार्षद राकेश मियां ,सहायक अभियंता आनंद मिश्रवान, जेई भरत जोशी, सफाई निरीक्षक धीरेंद्र सेमवाल, सफाई निरीक्षक अभिषेक मल्होत्रा, रोहित प्रताप आदि मोजूद रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close