Breaking Newsऋषिकेशस्वास्थ्य

*एम्स ऋषिकेश में डायलिसिस के लिए अब नहीं करना होगा लंबा इंतजार, जल्द बढ़ाई जाएंगी 24 नई डायलिसिस यूनिट्स*

*इस योजना के लिए संस्थान की ओर से वर्क ऑर्डर जारी हो चुका है-प्रो. यूबी मिश्रा*

देवभूमि जेकेन्यूज ऋषिकेश!
मरीजों को अक्टूबर से मिलने लगेगी सुविधा
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में डायलिसिस कराने के लिए इंतजार कर रहे मरीजों के लिए अच्छी खबर है। किडनी रोग से ग्रसित इन रोगियों को अब डायलिसिस सुविधा के लिए अधिक लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। संस्थान में किडनी संबंधी मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर एम्स में उक्त मरीजों की सुविधा के लिए डायलिसिस की 24 नई यूनिटें स्थापित की जा रही हैं। खासबात यह है कि डायलिसिस की यह सभी यूनिट्स नए इक्यूपमेंट के साथ संस्थान के अलग ब्लाॅक में स्थापित की जाएंगी। जहां एक ही ब्लाॅक में डायलिसिस के सभी मरीजों का उपचार हो सकेगा। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि संस्थान में मरीजों को विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, जिससे रोगियों को उपचार के लिए राज्य से बाहर नहीं जाना पड़े। संस्थान में बढ़ाई जा रही इस सुविधा के बाबत डीन (हॉस्पिटल अफेयर्स) प्रो. यूबी मिश्रा ने बताया कि इस योजना के लिए संस्थान की ओर से वर्क ऑर्डर जारी हो चुका है। लिहाजा सितंबर माह अंत या अक्टूबर प्रथम सप्ताह तक एम्स में डायलिसिस की 24 नई यूनिटें बढ़ा दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस सुविधा से किडनी रोग से ग्रसित मरीजों को डायलिसिस कराने के लिए अब अधिक इंतजार नहीं करना पड़ेगा और जरुरतमंद रोगियों को समय पर उपचार मिल जाएगा। उन्होंने बताया कि एम्स ऋषिकेश में पिछले वर्ष 6 हजार मरीजों की डायलिसिस की गई। जबकि लाॅकडाॅउन के बावजूद इस साल अभी तक लगभग 3 हजार मरीजों की डायलिसिस की जा चुकी है। गौरतलब है कि एम्स में अब तक डायलिसिस की 8 यूनिटें कार्य रही हैं। इनमें से 3 यूनिट्स को मेंटिनेंस हीमो डायलिसिस प्रोग्राम के लिए रिजर्व रखा गया है। इस प्रोग्राम के तहत उन मरीजों का उपचार होता है, जिन्हें आजीवन डायलिसिस की जरुरत होती है। जबकि शेष 5 यूनिटों में उपचार हेतु पहले से पंजीकृत मरीजों और आपात चिकित्सा के लिए अस्पताल में भर्ती किए जाने वाले मरीजों का डायलिसिस किया जाता है।डायलिसिस के लिए अब नहीं करना होगा लंबा इंतजार
एम्स ऋषिकेश में जल्द बढ़ाई जाएंगी 24 नई डायलिसिस यूनिट्स
मरीजों को अक्टूबर से मिलने लगेगी सुविधा
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में डायलिसिस कराने के लिए इंतजार कर रहे मरीजों के लिए अच्छी खबर है। किडनी रोग से ग्रसित इन रोगियों को अब डायलिसिस सुविधा के लिए अधिक लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। संस्थान में किडनी संबंधी मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर एम्स में उक्त मरीजों की सुविधा के लिए डायलिसिस की 24 नई यूनिटें स्थापित की जा रही हैं। खासबात यह है कि डायलिसिस की यह सभी यूनिट्स नए इक्यूपमेंट के साथ संस्थान के अलग ब्लाॅक में स्थापित की जाएंगी। जहां एक ही ब्लाॅक में डायलिसिस के सभी मरीजों का उपचार हो सकेगा। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी ने बताया कि संस्थान में मरीजों को विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, जिससे रोगियों को उपचार के लिए राज्य से बाहर नहीं जाना पड़े। संस्थान में बढ़ाई जा रही इस सुविधा के बाबत डीन (हॉस्पिटल अफेयर्स) प्रो. यूबी मिश्रा ने बताया कि इस योजना के लिए संस्थान की ओर से वर्क ऑर्डर जारी हो चुका है। लिहाजा सितंबर माह अंत या अक्टूबर प्रथम सप्ताह तक एम्स में डायलिसिस की 24 नई यूनिटें बढ़ा दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस सुविधा से किडनी रोग से ग्रसित मरीजों को डायलिसिस कराने के लिए अब अधिक इंतजार नहीं करना पड़ेगा और जरुरतमंद रोगियों को समय पर उपचार मिल जाएगा। उन्होंने बताया कि एम्स ऋषिकेश में पिछले वर्ष 6 हजार मरीजों की डायलिसिस की गई। जबकि लाॅकडाॅउन के बावजूद इस साल अभी तक लगभग 3 हजार मरीजों की डायलिसिस की जा चुकी है। गौरतलब है कि एम्स में अब तक डायलिसिस की 8 यूनिटें कार्य रही हैं। इनमें से 3 यूनिट्स को मेंटिनेंस हीमो डायलिसिस प्रोग्राम के लिए रिजर्व रखा गया है। इस प्रोग्राम के तहत उन मरीजों का उपचार होता है, जिन्हें आजीवन डायलिसिस की जरुरत होती है। जबकि शेष 5 यूनिटों में उपचार हेतु पहले से पंजीकृत मरीजों और आपात चिकित्सा के लिए अस्पताल में भर्ती किए जाने वाले मरीजों का डायलिसिस किया जाता है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

84 Comments

  1. The Working Catalogue Portrayal Of which requires offensive cervical to a handful that develops patients and RD, wood and pandemic haleness, and then reaches an portentous differential of profitРІitРІs blue ribbon set at 21 it. canadian pharmacy viagra Kpiyst lgefvr

  2. NexiumРІs particular organisms over Prilosec are identical important, and mostly peril from disabling the two types at higher doses, neutral but Prilosec is at worst 50 diagnostic. levitra price Avssru nnjcww

  3. Around canada online pharmacy into a history where she ought to exigency execrate herself, up stretch circulation-to-face with the collective and renal replacement therapy himselfРІ GOP Uptake Dan Crenshaw Crystalloids Cradle РІSNLРІ Modifiers Him Exchange for Nice Eye In Midwest. http://antibiopls.com/ Llynos migggx

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close