ऋषिकेश

*28 अगस्त से कड़ा रुख अपनाते हुए पुलिस और प्रसाशन के सहयोग से रंभा नदी क्षेत्र से अतिक्रमण हटाने का काम शुरू होगा!*

देवभूमि जेकेन्यूज ऋषिकेश!
ऋषिकेश, रम्भा नदी क्षेत्र में अनधिकृत रूप से किये गए अतिक्रमण को लेकर प्रसाशन और अतिक्रमण कारी आमने सामने हैं।वन विभाग द्वारा 19 अगस्त को आम मुनादी कराकर अतिक्रमणकारियों को स्वयं अतिक्रमण हटाने की सूचना जारी की गई थी,किन्तु अतिक्रमणकारियों द्वारा स्वयं अतिक्रमण हटाने के बजाए धरना देकर विरोध के स्वर मुखर किये जा रहे है।इसके चलते सोमवार की शाम वनक्षेत्राधिकारी कार्यालय में पेयजल निगम एवं वन विभाग की ओर से संयुक्त बैठक की गई है।वनक्षेत्राधिकारी ऋषिकेश एमएस रावत ने बताया कि 28 अगस्त से कड़ा रुख अपनाते हुए पुलिस और प्रसाशन के सहयोग से नदी क्षेत्र से अतिक्रमण हटाते हुए माननीय एनजीटी नियमों का पालन करते हुए अतिक्रमण हटाने का निर्णय लिया गया है।उन्होंने कहा कि यह कदम नमामि गंगे परियोजना के तहत गंगा स्वच्छता से जुड़ा है,अतिक्रमण हटाने के साथ ही उक्त भूमि पर सीवरेज बिछाने का कार्य किया जाएगा जिससे स्थानीय लोगों को ही फायदा होगा।काफी लोग इस कार्य हेतु अपनी सहमति दे चुके हैं जिनमें क्षेत्रीय पार्षद भी शामिल हैं।वन क्षेत्राधिकारी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति किसी के बहकावे न आये उन्होंने कहा की सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।उन्होंने लोगों से शान्ति व्यवस्था बनाये रखने और गंगा स्वच्छता के इस कार्य मे सहयोग करने की अपील की जाती है।ताकि नमामि गंगे के तहत चल रहे कार्य सुगमता से किये जा सकें।गौरतलब है कि रम्भा क्षेत्र में नदी तट पर हुए अतिक्रमण के कारण कार्य योजना की अवधि से अधिक समय लग रहा है।जिस पर जिलाधिकारी देहरादून द्वारा जिला गंगा सुरक्षा समिति की पिछली बैठक में नाराजगी जताते हुए शीघ्र कार्यवाही के निर्देश दिए गए थे।बैठक में पेयजल निगम के परियोजना अधिकारी निर्माण ( गंगा )एके चतुर्वेदी,जेई सुशील बहुगुणा,वन क्षेत्राधिकारी एम एस रावत प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

11 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close