Breaking Newsऋषिकेशशहर में खास

*स्व इन्द्रमणि बडोनी के सपनों को साकार करना हर उत्तराखंडी का फर्ज-अनिता ममगाई*

*पुण्यतिथि पर नगर निगम ने याद किया पर्वतीय गांधी को*

देवभूमि जे के न्यूज!

ऋषिकेश- उत्तराखंड आंदोलन के प्रणेता स्व. इंद्रमणि बडोनी की पुण्यतिथि पर नगर निगम प्रशासन ने उनका भावपूर्ण स्मरण कर उन्हें श्रद्वांजलि अर्पित की। महापौर अनिता ममगाई के नेतृत्व में देहरादून रोड़ स्थित इंद्रमणि बडोनी चौक पर स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए महापौर ने कहा कि उत्तराखंड राज्य को सही दिशा देने के लिए पार्टियों से ऊपर उठकर विचार करना होगा। स्वर्गीय इंद्रमणी बडोनी ने इसी सोच के साथ राज्य आंदोलन को आगे बढ़ाया था।
मंगलवार को पहाड़ के गांधी व उत्तराखंड आंदोलन के प्रणेता स्व.इंद्रमणि बडोनी की पुण्य तिथि मनाई गई। नगर निगम महापौर व पार्षदों ने ने स्व. इंद्रमणी बडोनी की मूर्ति पर माल्यापर्ण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर महापौर ममगाई ने कहा कि उत्तराखंड के गांधी कहे जाने वाले इंद्रमणी बडोनी ने जिस उत्तराखंड की कल्पना की थी, उसे साकार करने के लिए सामूहिक प्रयास करने होंगे। राज्य का निर्माण एक बड़े जन आन्दोलन के रूप में हुआ है जिसमें उत्तराखंड के हर वर्ग में अपनी महत्व पूर्ण भूमिका निभाई। उत्तराखंड के गाँधी के नाम से मशहूर इन्द्रमणि बडोनी ने इस पूरे जनांदोलन को एक दिशा दी और राज्य आंदोलन की कर्मभूमि बना ऋषिकेश ,जंहा से ये आंदोलन सांस्कृतिक रूप में निकल कर उत्तराखंड के गांव गांव से दिल्ली दरबार तक पहुंचा ।


श्रद्वांजलि अर्पित करने वालों मे जिला मंत्री भाजप पंकज शर्मा, मंडल मंत्री सुनील उनियाल, पार्षद विजय बडोनी, पार्षद विजेंद्र मोगा, पार्षद चेतन चौहान, पार्षद राकेश मियां, पार्षद विपिन पंथ, पार्षद सोनू प्रभाकर, पार्षद अनीता रैना, पार्षद शकुंतला शर्मा, पार्षद विजय लक्ष्मी,पार्षद राजेश दिवाकर,पंकज गुप्ता, अनिल ध्यानी, राजपाल ठाकुर, मनु कोठारी, कमलेश जैन, गौरव कैंथोला, राजू शर्मा, शैलेंद्र रस्तोगी, डी पी रतूड़ी,रूपेश गुप्ता, राजेश गौतम, सुजीत यादव, रणवीर सिंह, अक्षत खेरवाल आदि शामिल थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close