देशभक्ति

*उत्तराखण्ड में झांसी की रानी के समदृष्ट तिलु रौतेली-डॉक्टर राजे नेगी!*

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश!

गढ़वाल महासभा द्वारा वीरांगना तिलु रौतेली की 359वीं जयंती पर महासभा के ऋषिकेश स्थित प्रदेश कार्यालय में उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए उन्हें याद कर नमन किया।इस अवसर पर महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजे सिंह नेगी ने बताया कि वीरांगना तिलु रौतेली गढ़वाल की एक ऐसी वीरांगना थी जो केवल 15 वर्ष की आयु में रणभूमि में कूद पड़ी थी और लगातार सात वर्षों तक जिसने अपने दुश्मन राजाओं को छठी का दूध याद दिलाया था।पंद्रह से बीस वर्ष की आयु में सात युद्ध लड़ने वाली तिलु रौतेली संभत्व विश्व की एक मात्र वीरांगना थी।उन्हें उत्तराखण्ड में झांसी की रानी के समदृष्ट माना जाता है।महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष पर्यावरणविद विनोद जुगलान विप्र ने कहा कि हमें गर्व है कि हमने उस धरती पर जन्म लिया है जो न केवल देवभूमि है बल्कि यह भूमि वीर-वीरांगनाओं की जन्मभूमि भी है।गढ़वाल महासभा की ओर से अगले वर्ष सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं को वीरांगना तिलु रौतेली पुरुस्कार से सम्मानित किया जाएगा इस अवसर पर महासभा के प्रदेश महासचिव उत्तम सिंह असवाल ने कहा कि ऋषिकेश नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत वीरांगना तिलु रौतेली के स्मारक के निर्माण हेतु शीघ्र ही नगर निगम महापौर से भेंटकर स्मारक निर्माण की माँग की जाएगी,जो कि वीरभूमि की वीरांगना को तीर्थ और योगनगरी की ओर से सच्ची श्रद्धाजंलि होगी।मौके पर मनोज नेगी,प्रमोद असवाल,मनोज नौटियाल, पदम शर्मा,लक्ष्मण सिंह मौजूद रहे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

6 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close