Breaking Newsऋषिकेशशहर में खास

*उत्तराखंड राज्य मंत्री कृष्ण कुमार सिंघल के प्रयास रंग लाए, 4 अगस्त से खुलेंगे जन आधार केंद्र*

ऋषिकेश- गढ़वाल मंडल विकास निगम के उपाध्यक्ष राज्य मंत्री कृष्ण सिंघल के प्रयास रंग लाए।

देवभूमि जे के न्यूज़ ऋषिकेश!

लाँकडाउन के दौरान तहसील से सम्बंधित विभिन्न आवश्यक कार्यों से वंचित हो गए प्रदेशवासियों को एक बड़ी राहत मिल गई है। इस संदर्भ में राज्यमंत्री सिंघल द्वारा लोगों की परेशानियों को देखते हुए मुख्यमंत्री से वार्ता की गई थी।प्रदेशवासियों को अब अपने मूल निवास प्रमाण पत्र ,चरित्र प्रमाण पत्र ,जाति प्रमाण पत्र ,आय प्रमाण पत्र सहित कई अन्य कार्य करवाने के लिए परेशान होना नहीं पड़ेगा ।उत्तराखंड सरकार द्वारा अगस्त माह कि 4 तारीख से तमाम ई केंद्र खोलने के आदेश दे दिए गए हैं। शुक्रवार को राज्यमंत्री द्वारा उप जिलाधिकारी वरुण चौधरी को फोन कर सरकार द्वारा दिए गए आदेश की जानकारी जुटाने पर उन्होंने राज्य मंत्री को अवगत कराया कि सरकार की ओर से तहसीलों में स्थापित जनाधार केंद्रों को खोलने के आदेश दे दिए गए हैं इस संदर्भ में उनके द्वारा भी आवश्यक कारवाई सुनिश्चित कर दी गई है।उल्लेखनीय है कि ई-डिस्टिक्ट परियोजना ई-गवरनेन्स योजना के अर्न्तगत चलने वाली स्टेट मिशन मोड परियोजना है जिसका मुख्य उदेश्य जन केन्द्रित सेवाओ को कम्पयूटरीकरण करने का है। इस परियोजना में सम्पूर्ण व्यवस्था क्रम को कम्पयूटराइज किया गया है । ई-डिस्टिक्ट परियोजना भारत सरकार द्वारा पोषित परियोजना है , जिसमें कि प्रमाण पत्र , शिकायत एवं सूचना अधिकार , जन वितरण प्रणाली , पेन्शन, खतौनी , राजस्व वाद एवं रोजगार केन्द्रो मे पंजीकरण संबंधी सेवाओं को सम्मिलित किया गया है। लेकिन कोरोनावायरस काल की वजह से उक्त योजना से प्रदेश की जनता वंचित हो गई थी लेकिन राज्यमंत्री सिंघल के प्रयासों से तहसीलों में स्थापित की जन आधार केन्द्र आगामी 4 अगस्त से एक बार फिर से जनता के लिए खोल दिए जाएंगे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close