Breaking Newsस्वास्थ्य

*महापौर ने डेंगू पर नकैल कसने के लिए ड्रोन उड़ाया, नाला गैंग को भी सफाई में झौंका*

*डेंगू से बचाव के लिए निगम सर्तक-अनिता ममगाई*

देवभूमि जेके न्यूज, ऋषिकेश!

ऋषिकेश- नगर निगम महापौर ने डेंगू के संभावित खतरे को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में जहां आज नालों की सफाई के लिए नाला गैंग को मैदान में उतार दिया वही शहरी वार्ड में ड्रोन के जरिए ऊंचे ऊंचे मकानों की छतों पर गंदगी व जमा पानी की तलाश की।
उत्तराखंड में कोरोना के बाद अब मानसून सीजन के दस्तक देखते ही डेंगू का खतरा भी बढ़ने लगा है ।ऐसे में नगर निगम प्रशासन डेंगू की रोकथाम को लेकर मुस्तैद दिखाई दे रहा है। मंगलवार की सुबह नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ग्रामीण क्षेत्र गुमानीवाला के वार्ड संख्या 35,36 की सफाई व्यवस्था का जायजा लेने पहुंची। निरीक्षण के दौरान क्षेत्र के नाले में गंदगी पाकर को उसकी सफाई के लिए उन्होंने तुरंत नाला गैंग को सफाई के लिए लगा दिया। महापौर ने बताया कि डेंगू की रोकथाम को लेकर सभी वार्डों में सफाई अभियान तेज करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि बारिश के मौसम में डेंगू का खतरा बढ़ जाता है जिसको लेकर तमाम
ऐतिहात नगर निगम की ओर से बरती जा रही हैं। उन्होंने बताया कि स्थानीय पार्षद विपिन पंत,विजय बड़ौनी, विजेंद्र मोघा के साथ ही पुष्पा मित्तल, विकास सेमवाल, गौरव कैंथोला, सतीश कौशिक ,राजेश एवं स्थानीय नागरिकों की देखरेख में आज नाला गैंग द्वारा क्षेत्र की तमाम नलियों की सफाई की गई है। इन सबके बीच वार्ड संख्या 16 में महापौर ने स्थानीय पार्षद अजीत सिंह गोल्डी की देखरेख में ड्डौन उड़ा कर क्षेत्र की सफाई व्यवस्था का जायजा भी लिया।इस मौके पर महापौर ममगाई ने कहा कि डेंगू भारत में तेजी से बढ़ती हुई एक घातक बीमारी है। वास्तव में हर वर्ष मानसून के आस-पास इसका प्रकोप फैलता है। वैसे तो डेंगू अब बारहमासा बीमारी हो गई है लेकिन साल के तीन मानसूनी महीने में डेंगू का सबसे अधिक प्रभाव रहता है।तीर्थ नगरी के लोगों को डेंगू के डंक से बचाया जा सके इसके लिए नगर निगम प्रशासन हर मुकम्मल इंतजाम कर रहा है ।लोगों को भी इस घातक बीमारी से बचने के लिए आवश्यक सतर्कता बरतनी होगी तभी हम डेंगू पर अंकुश लगा पाएंगे।पार्षद अजीत गोल्डी, प्रदीप कोहली , कमल अरोड़ा, मनोज ढींगरा, प्रिंस मनचंदा, दक्षेस, योगेशकालड़ा, आलोक चावला आदि मौजूद थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close