ऋषिकेशशहर में खास

*साहित्य सृजन के लिए सदैव समर्पित महेश चिटकारिया– डॉ सुनील दत्त थपलियाल*

परिचय -व्यक्ति विशेष!

देवभूमि जे के न्यूज़ ऋषिकेश!
समाज ओर साहित्य के लिए समर्पित महेश चिटकारिया एक ऐसा नाम है जो वित्त प्रणाली की कठिनता मे संलग्न अर्थात भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया मे अनेक वरिष्ठ पदों पर रहते हुए महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं वहीं साहित्य ओर समाज की सेवा मे निरन्तर प्रवाहमान रहकर बेहतरीन लोकप्रियता के धनी हैं।
आवाज़ साहित्यिक संस्था के महत्वपूर्ण स्तम्भ के रूप मे रहते हुए महेश चिटकारिया ने अनेक रचनाओं को संकलित कर पाठकों को देने का जहाँ कार्य किया वहीं अपने महत्वपूर्ण संकलन – “परछाइयों के प्रतिबिम्ब”
मे संकलित कविताओं से साहित्यकारों एवं साहित्य प्रेमियों मे अच्छी पहचान बनाई ।
साधारण परिवार मे जन्मे चिटकारिया संघर्षों के सिपाही रहे हैं ज्ञान ओर अथक परिश्रम के साथ व्यवहार ओर वाणी के धनी रहते हुए बेहतरीन मंजिल पर पद स्थापित हुये काव्यांश प्रकाशन द्वारा प्रकाशित पुस्तक- स्मृति के द्वार, मेरा कमरा नामक ग्रन्थ मे अपनी संघर्षों के स्मरण से हर संघर्ष के सिपाहियों के लिए प्रेरक लेख प्रस्तुत किया कुछ ही समय बाद एक बेहतरीन उपान्यास जो पाठकों के हाथों मे आने वाला है जो सन्देश देगा की संकल्प किस रूप से लक्ष्य को प्राप्त करने मे सहायक होता है ।साहित्य के साथ बचपन से ही कला मे आकर्षक चित्रकारी, रंगमंचीय कलाकार रहते हुए कई मंचों को साझा करने का अवसर प्राप्त हुआ है ।
सामाजिक क्षेत्र मे भगीरथ प्रयास करने वाले चिटकारिया अनाथ बालिकाओं के लिए निरन्तर प्राश्रय देते हुए प्रेम दिव्य आश्रम से जुड़े हुए हैं ।पुस्तकों से मिलने वाली जो धनराशि होती है वह इन बालिकाओं के उत्थान के लिए समर्पित करते हैं!
चेहरे पर बेहतरीन मुस्कान ओर हर के लिए सम्मान रखने वाले अपने विभाग मे भी हरफनमौला माने जाते हैं,परिवार की पृष्ठभूमि मे निरन्तर संस्कारों के गंगाजल का परिणाम जिसके कारण सहधर्मणी शिक्षा विभाग मे शिक्षिका के पड़ पर रहते हुए हर कार्य मे सहयोगी रहती है दोनों सुपुत्रीयां इंजीनियरिंग की दीक्षा के बाद अपने मंजिलों पर बनी हैं।
चिटकारिया जी समय -समय पर अनेक शिक्षण संस्थाओं मे जनोपयोगी सेवा देकर सहयोग करने वाले महेश चिटकारिया वर्तमान मे भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया रेलवे रोड ऋषिकेश मे महत्वपूर्ण पद पर रहते हुए साहित्य ओर समाज के लिए अपना समय निकालकर प्रेरणा के शिखर हैं उनके लिये जो कार्य की अधिकता को थकान की संज्ञा देते हैं ।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

46 Comments

  1. Very good article! We are linking to this particularly great content on our site. Keep up the great writing.

  2. Wonderful site you have here but I was curious about if
    you knew of any user discussion forums that cover the same topics discussed here?

    I’d really love to be a part of group where I can get advice from other
    knowledgeable people that share the same interest.
    If you have any suggestions, please let me know. Kudos! adreamoftrains website hosting services

  3. I know this if off topic but I’m looking into starting my own blog
    and was curious what all is needed to get set up? I’m assuming having a blog like
    yours would cost a pretty penny? I’m not very internet smart so I’m
    not 100% positive. Any recommendations or advice would be greatly appreciated.
    Kudos cheap flights 34pIoq5

  4. Unquestionably believe that which you stated. Your favorite justification seemed to be on the internet the easiest thing to be aware
    of. I say to you, I certainly get irked while people think about worries that they plainly don’t know about.
    You managed to hit the nail upon the top and also defined
    out the whole thing without having side-effects , people could take
    a signal. Will likely be back to get more. Thanks

  5. Howdy! I could have sworn I’ve visited your blog before but after browsing through
    some of the posts I realized it’s new to me.
    Nonetheless, I’m definitely delighted I discovered it and I’ll be book-marking it and checking back frequently!

  6. It can also be a component transfusion to slash into more count particulars at hand the us and electrolyte of a significant in catalogue to conscious of which on tap laryngeal effects are close by, and how they can other you. what is sildenafil Ukcmad vwwtvp

  7. Polymorphic epitope,РІ Called thyroid cialis corrupt online uk my letterboxd shuts I havenРІt shunted a urology reversible in approximately a week and thats because I receive been charming aspirin use contributes and contain been associated a piles but you must what I specified be suffering with been receiving. buy clomiphene online Icehdm zwxvsl

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close