Breaking Newsस्वास्थ्य

जनपद देहरादून के जिलाधिकारी द्वारा नये अनलॉक की दी गई जानकारी,ई-पास के लिए यहां आवेदन करें!

देवभूमि जे के न्यूज़!
देहरादून दिनांक 18 जुलाई 2020 (जि.सू.का), जिलाधिकारी देहरादून डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया है कोविड-19 संक्रमण के निंयत्रण हेतु क्रियावित तालाबन्दी की क्रमवार समाप्ति विषयक (अनलाॅक-1)उत्तराखण्ड शासन के आदेश 17 जुलाई 2020 में वर्णित प्राविधानों के अन्तर्गत RT-PCR परीक्षण किये बिना प्रतिदिन अधिकतम 1500 लोग (रेल व वायुयान से आने वालों को छोड़कर) को अन्य राज्यों से उत्तरखण्ड में यात्रा करने की अनुमति दी गयी है। आकस्मिकता की स्थिति में 1500 से उपर जिला प्रशासन देहरादून 50 लोगों को पास जारी कर सकेगा। जिलाधिकारी द्वारा शासन के निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने तथा पास निर्गम हेतु अपर जिला मजिस्टेªट (प्रशासन) देहरादून अरविन्द पाण्डेय को अधिकृत किया गया है एवं आकस्मिकता की स्थिति में जिन व्यक्तियों को पास की आवश्यकता है वे जिला प्रशासन देहरादून की ईमेल आईडी [email protected] पर आवेदन कर सकते है।
आज जनपद में लाॅकडाउन अवधि में कोविड-19 संक्रमण के निंयत्रण एवं डेगूं की रोकथाम हेतु नगर निगम देहरादून एवं ऋषिकेश सहित समस्त नगर पालिका परिषदों में अवस्थित बाजारों, सार्वजनिक स्थानों, अस्पतालों, कार्यालयों, बैंक एटीएम, मंडी परिसर में फाॅंगिम एंव सेनिटाजेशन के साथ ही जनमानस को उक्त बीमारियों से बचाव हेतु जागरूक भी किया गया।
जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में आज जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में जिला प्रशासन की टीम द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने पर कुल 151 व्यक्तियों के चालान किये गये, जिनमें, ऋषिकेश में 134, तहसील सदर में 17 चालान शामिल है। इसके अतिरिक्त पुलिस टीम द्वारा जनपद अन्तर्गत सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग न करने पर 317 व्यक्तियों के चालान किये गये।
जिला प्रशासन द्वारा आज जनपद के विभिन्न चयनित स्थानों पर अधिकृत 15 मोबाईल वैन के माध्यम से 106 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। दुग्ध विकास विभाग द्वारा कन्टेंनमेंट जोन क्षेत्रान्तर्गत 29 ली दुध विक्रय किया गया। विज्ञप्ति जारी किये जाने तक वायुसेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे 421 प्रवासी व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में क्वारेंटीन किया गया है। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 289 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया। विज्ञप्ति जारी किये जाने तक काठगोदाम से देहरादून पंहुचे 112, देहरादून रेलवे स्टेशन से दिल्ली हेतु 205 तथा काठगोदाम हेतु 122 व्यक्ति गये। कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत जिला आपदा कन्ट्रोलरूम में 42 काल प्राप्त हुई, जिनमें सभी काल पास प्राप्त हुई।जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्याें के अन्तर्गत आतिथि तक 1632 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 23355 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए उक्त कार्य में योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया।
लाॅकडाउन अवधि में शासकीय विभागों द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों के दृष्टिगत आज के कोरोना वाॅरियर-
कोरोना वाॅरियर (शासकीय विभाग से),
श्री आशुतोष उपाध्याय,
फार्मासिस्ट/ सर्पोटिंग स्टाफ, क्वारेंटीन सेन्टर
कोविड-19, के अन्तर्गत दिये गये दायित्वों का कुशलपूर्वक निर्वहन कर रहे है।
—-0—-
देहरादून दिनांक 18 जुलाई 2020 (जि.सू.का), जिलाधिकारी डाॅं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 69 सैम्पल जाचं हेतु भेजे गये तथा 153 सैम्पल की रिपार्ट प्राप्त हुई जिनमें 41 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पाॅजिटिव संक्रमितों की संख्या 1039 हो गई है, जिनमें 244 व्यक्ति वर्तमान में उपचाररत् हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज कुल 656 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गये।
आशा कार्यकर्तियों द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न कन्टेंमेंट जोन में व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत 1122 व्यक्तियों का फाॅलोअप किया जा चुका है। अन्य राज्यों से जनपद में पंहुचे कुल 866 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत क्वारेंटीन किया गया।
आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों द्वारा आज जनपद में शहरी क्षेत्र, विकासखण्ड विकासनगर, रायपुर क्षेत्रान्तर्गत 162465 व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया गया, जिनमें 58 को-मोर्बिडिटी अवस्था वाले व्यक्तियों को चिन्हित किया गया। आज को-मोर्बिडिटी माॅनिटरिंग और सर्विलांस कन्ट्रोलरूम से को-मोर्बिडिटी अवस्था वाले कुल 393 व्यक्तियों से दूरभाष पर सम्पर्क कर उनके स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी।
कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों का विक्रय प्रतिबन्धित किये जाने के उपरान्त समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा जनपद में कुल 87 व्यक्तियों को चिकित्सकीय पर्ची के आधार पर सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयां विक्रय की गयी। आज विभिन्न चिकित्सालयों/ स्वास्थ्य कार्मिकों को 90 एन-95 मास्क, 810 ट्रिपल लेयर मास्क, 98 सेनिटाइजर, 20 सर्जिकल गलब्स, 1200 एग्सामिनेशन गलब्स वितरित किये गये।
——0——-
देहरादून दिनांक 18 जुलाई 2020 (जि.सू.का), जिलाधिकारी द्वारा आज आशारोड़ी चैक पोस्ट पर निरीक्षण किया एवं इस दौरान उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि शासन द्वारा जारी आदेशानुसार स्थापित ैव्च् (मानक संचालन कार्यविधियां) का अक्षरशः पालन करते हुए अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासियों की पूर्णरूप से स्वास्थ्य प्रमाण-पत्रों की जांच उपरांत ही जनपद में प्रवेश हेतु अनुमत किया जाय। जनपद में प्रवेश के दौरान कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत लक्षण प्रतीत होने पर ऐसे संदिग्ध व्यक्तियों की अनिवार्यतः रैण्डम टेस्टिंग भी कराई जाय।
इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी द्वारा मण्डी परिसर निरंजनपुर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने मण्डी परिसर में नालियां अवरूद्ध पाये जाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए मण्डी सचिव को निर्देशित किया कि ऐसे 12 व्यवसाईयों जिनकी दुकानों के समीप गंदगी व नालियां अवरूद्ध पाई गयी को कारण बाताओं नोटिस जारी करने तथा संतुष्टि पूर्वक उत्तर प्राप्त न हाने की दशा में ऐसे व्यवसाईयों के लाईसेंस निरस्तीकरण की कार्यवाही करने के निर्देश मण्डी सचिव को दिये। जिलाधिकारी के आदेशों के अनुपालन में 12 व्यापारियों को नोटिस जारी किये गये तथा नगर निगम द्वारा उक्त 12 व्यवासियों को 5-5 हजार रू0 प्रति प्रतिष्ठान चालान की कार्रवाई करते हुए दुकानों में रखे पानी के ड्रम भी जब्त दिये गये। जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए स्पष्ट निर्देश दिये कि यदि किसी की दुकान के आसपास गंदगी, ठहरा हुआ पानी, पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध महामारी अधिनियम एवं आपदा प्रबन्धन अधिनियम में वर्णित प्राविधानों के अनुरूप कार्यवाही की जायेगी।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

error: Content is protected !!
Close