Breaking Newsऋषिकेशस्वास्थ्य

कोविड19 काल में यदि चिकित्सक इस चुनौती को स्वीकार नहीं करते तो हम लोगों का जीवन नहीं बचा सकते-पद्मश्री प्रोफेसर डॉ रवि कांत ,एम्स निदेशक

संस्थान की ओर से उल्लेखनीय कार्य करने वाले चिकित्सकों को सम्मानित किया गया।

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश! अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में डॉक्टर्स डे पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस मौके पर संस्थान की ओर से उल्लेखनीय कार्य करने वाले चिकित्सकों को सम्मानित किया गया। इसके अलावा डॉक्टर्स डे पर ऋषिकेश की मेयर अनीता ममगाईं, लायंस क्लब ऋषिकेश देवभूमि व रोटरी क्लब की ओर से एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी समेत संस्थान के आधा दर्जन से अधिक चिकित्सकों को सम्मानित किया गया।

उन्होंने कोविड19 के विश्वव्यापी प्रकोप के दौर में एम्स संस्थान के चिकित्सकों की कर्तव्यपरायणता व मरीजों की संकल्पबद्ध सेवा की सराहना की। बुधवार को डॉक्टर्स डे पर एम्स संस्थान में कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड19 काल में यदि चिकित्सक इस चुनौती को स्वीकार नहीं करते तो हम लोगों का जीवन नहीं बचा सकते थे। उन्होंने चिकित्सक की परिभाषा व उसके मायने समझाते हुए एक चिकित्सक की जिम्मेदारियों पर प्रकाश डाला। कहा कि एक कुशल चिकित्सक को अन्य चिकित्सकों से लगातार सीखने की ललक होनी चाहिए और उसे अपने विषय का गूढ़ ज्ञान होना चाहिए। कोरोना महामारी ने हमें चुनौतियों का सामना करना सिखाया है। सही मायने में हमारा जीवन तभी सफल माना जाएगा जब हम समाज के लिए कुछ बेहतर कर सकें। डीन हॉस्पिटल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा ने कहा कि चिकित्सक ही एक सच्चे कोरोना वॉरियर्स हैं, कोरोना महामारी एक गिद्ध की भांति हमारे सामने चुुनौती बनकर खड़ी है और इसमें प्रत्येक चिकित्सक एक योद्धा के रूप में जंग लड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस महामारी से विश्व समाज बुरी तरह से प्रभावित हुआ है, यह बीमारी भावनात्मकतौर पर भी हमें काफी सीख दे रही है। इस दौरान एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत जी व डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता जी ने संस्थान की ओर से सेवा कार्य में जुटे चिकित्सकों डा. दीपज्योति कलिता, डा. प्रसन्न कुमार पांडा, डा. मधुर उनियाल, डा. पुनीत गुप्ता, महेंद्र सिंह, प्रदीप अग्रवाल, डा. मुकेश बैरवा,डा. संदीप सैनी,डा. रजनीश अरोड़ा, डा. योगेश बहुरूपी समेत कोविड19 में दिन-रात सेवारत संस्थान के करीब 19 चिकित्सकों को प्रशस्तिपत्र भेंटकर सम्मानित किया। इस अवसर पर प्रो. एसके अग्रवाल, प्रो. किम जैकब मेमन, प्रो सोम प्रकाश बसु , प्रो. ब्रिजेंद्र सिंह, प्रो. शालिनी राव, प्रो. जया चतुर्वेदी, प्रो. प्रतिमा गुप्ता, प्रो. लतिका मोहन, डा. अनुभा अग्रवाल, डा. सुलेखा रावत आदि मौजूद थे।
उधर, संस्थान परिसर में लायंस क्लब ऋषिकेश देवभूमि की ओर से आयोजित कार्यक्रम में क्लब की ओर से संस्थान के डीन अकादमिक प्रो. मनोज गुप्ता,डीन हॉ​स्पिटल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा, डा. प्रसन्न कुमार पांडा,डा. दीपज्योति कलिता,डा. योगेश बहुरूपी,डा. महेंद्र सिंह आदि चिकित्सकों को स्मृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया गया। इस दौरान निदेशक एम्स ने क्लब की ओर से चिकित्सकों को स्मृति चिह्न भेंट किए। क्लब के अध्यक्ष व चार्टर्ड अध्यक्ष लाॅयन गोपाल नारंग ने कहा कि कोविड 19 महामारी के इस दौर में भी एम्स ऋषिकेश के चिकित्सक मरीजों की सेवा में 24 घंटे तत्परता से कार्य कर रहे हैं,लिहाजा उनके इसी समर्पण से क्षेत्र में लोग स्वयं को कोविड के दुष्प्रभाव से सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इस दौरान नोडल आफिसर कोविड डा. मधुर उनियाल, प्रो. एसपी अग्रवाल, जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल, लाॅयन गोपाल नारंग, क्लब अध्यक्ष विशाल बिंदल, विनय भाटिया, कमल कालड़ा, राजेंद्र पंत आदि मौजूद थे। उधर डाक्टर्स डे पर ऋषिकेश नगर निगम की मेयर अनीता ममगाईं ने एम्स संस्थान में पहुंचकर चिकित्सकों को चिकित्सा दिवस की बधाई दी। इस दौरान मेयर ने कोरोना काल में एम्स के चिकित्सकों के योगदान की प्रशंसा की, साथ ही उन्होंने निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत व नोडल ऑफिसर कोविड डा. मधुर उनियाल को स्मृति चिह़्न भेंटकर सम्मानित किया। इस अवसर पर पार्षद विजेंद्र मोगा, विजय बडोनी, गुरविंदर सिंह, मनीष मनवाल, राजेश दिवाकर,राकेश मियां, विजय लक्ष्मी शर्मा, मनीष शर्मा, अजीत गोल्डी, देवेंद्र प्रजापति,विपिन कुकरेती आदि मौजूद थे। इसके अलावा रोटरी क्लब ऋषिकेश की ओर से एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत को स्मृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर क्लब अध्यक्ष नितिन राघव, सचिव संजय अग्रवाल, प्रो. ब्रिजेंद्र ​सिंह, मनोज वर्मा आदि मौजूद थे।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

24 Comments

  1. Thanks for any other great post. The place else may anybody get that type of information in such an ideal approach of writing?
    I have a presentation subsequent week, and I’m on the search for
    such information.

  2. It’s in reality a great and helpful piece of info.
    I’m happy that you simply shared this helpful info with us.
    Please stay us up to date like this. Thanks for
    sharing.

  3. I’m really loving the theme/design of your site.
    Do you ever run into any web browser compatibility problems?
    A number of my blog readers have complained about my blog not working
    correctly in Explorer but looks great in Firefox. Do you have any advice to help fix this problem?

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close