Breaking Newsस्वास्थ्य

*पटना में शादी में आये 72 लोगों को हुआ कोरोना, दूल्हे की मौत से हड़कंप*

दुखद समाचार!

देवभूमि जे के न्यूज ऋषिकेश!
बिहार में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से फ़ैल रहा है। कोरोना संकट की इस घड़ी में शादी या किसी अन्य बड़े समारोह का आयोजन करना काफी जानलेवा साबित हो सकता है। ताजा मामला पटना का है, जहां एक शादी समारोह में शामिल 72 लोगों को कोरोना हो गया है। जिसके कारण पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है।
मामला पटना जिले के पालीगंज इलाके की है। जहां एक शादी समारोह में शामिल हुए 72 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। एक साथ इतनी भारी मात्रा में कोरोनावायरस मरीज मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के मुताबिक डीहपाली गांव में बीते 15 जून को शादी थी। काफी धूमधाम से शादी समारोह का आयोजन किया गया था।
इस शादी में सैकड़ों लोग शामिल हुए थे। बाहर से भी कई मेहमान आये हुए थे। दूल्हे के रिश्तेदार भी आये हुए थे।
बताया जा रहा है कि दूल्हा दिल्ली में रहता था। हाल ही में वह दिल्ली से पटना लौटा था। 15 जून को शादी के बाद ही अचानक उसकी तबियत ख़राब हो गई। आनन-फानन में उसकी जांच कराइ गई। दूल्हे की तबियत ज्यादा ख़राब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन दुर्भाग्य रहा कि शादी के सिर्फ 2 दिन बाद ही 17 जून को ही उसकी मौत हो गई। ग्रामीणों का कहना है कि कोरोना से ही दूल्हे की भी मौत हुई थी। हालांकि आधिकारिक तौर पर इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है। क्योंकि उसकी कोरोना जांच भी नहीं कराई गई थी।
दूल्हे की मौत के बाद हरकत में आई प्रशासनिक टीम ने शादी में शामिल 125 लोगों के स्वाब को जांच के लिए भेजा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा अपडेट में उनमें से 72 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। फिलहाल आसपास के सभी मुहल्लों को सील कर दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक डीहपाली गांव में 15 जून को शादी थी। युवक दिल्ली से हाल में ही अपनी कार से आया था। लड़का दिल्ली में एक प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर था। जब वह बिहार लौटा था तब सूबे में क्वारंटाइन सेंटर बंद हो चुके थे। इसलिए उसे होम क्वारंटाइन में रहने का निर्देश दिया गया था। बीडीओ चिरंजीवी पांडेय ने बताया कि संक्रमित पाए जाने वाले गांव और मुहल्ले को चिन्हित करके सील कर दिया गया है।

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

33 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close