ऋषिकेशशहर में खास

रेखा आर्य, तहसीलदार ऋषिकेश का स्थानांतरण डोईवाला तहसील में हुआ!

उनके कार्यों को लोगों ने खूब सराहा ,भावभीनी विदाई दी!

देवभूमि जे के न्यूज़, ऋषिकेश!
आज दिनांक 30 जून 2020 को ऋषिकेश की प्रथम शासकीय कोरोना वॉरियर्स रेखा आर्य तहसीलदार ऋषिकेश का स्थानांतरण डोईवाला तहसील में हो गया है इस विषाद और हर्ष के अवसर पर पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट ,पार्षद विजेंद्र मोघा,पार्षद विजय बडोनी,रंजन अंथवाल ने पुष्पगुच्छ भेंट कर तहसीलदार म

को उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की साथ ही कहा कि विषाद इस बात का कि एक योग्य कर्मठ अधिकारी हमारे ऋषिकेश क्षेत्र से जा रहा है जिसने कोरोनामहासंकट में ऋषिकेश का ख्याल रखा और हर्ष इस बात का कि तरक्की के लिए यह आवश्यक है ।
कोरोना काल में उनके द्वारा बहुत ही अच्छे ढंग से प्रवासियों की सेवा की गई और ऋषिकेश में कोरोनावायरस फैलने नहीं दिया गया, जब प्रवासियों का आगमन शुरू हुआ तो दिन रात प्रवासियों का आगमन लगा रहा ,तहसील प्रशासन द्वारा तहसीलदार रेखा आर्य के नेतृत्व में किसी भी प्रवासी की भोजन व्यवस्था रहन-सहन, छोटे बच्चों के लिए दूध और साबुन, मच्छर नाशक अगरबत्तियां उपलब्ध हर समय उपलब्ध रही, किसी भी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली क्योंकि समय से पहले ही सभी आवश्यक इंतजाम कर दिए जाते थे , ट्रांजिट कैंप को रोज नगर निगम के सहयोग से सैनिटाइज किया जाता था। ऋषिकेश पुलिस का भी विशेष सहयोग रहा पुलिस ने सभी व्यवस्थाओं को बनाने में पूरी जिम्मेदारी और कर्तव्य निष्ठा का पालन किया,
तहसीलदार ने कहा कि ट्रांजिट कैम्प श्री भरत मंदिर इण्टर कॉलेज ऋषिकेश में प्रधानाचार्य मेजर गोविंद सिंह रावत , प्रवक्ता रंजन अंथवाल का विशेष योगदान रहा,
बताया कि लॉकडाउन में रंजन अंथवाल अपनी टीम संजय प्रेम सिंह बिष्ट, रवि शाह, अंकित सैनी ,विजय बुड़ाकोटी,सूरज पुंडीर,अमित पाल ,शोभू जग्गी पंवार ,गौती हर्षित धीमान ,शिवनाथ मौर्य आदि के साथ सदैव प्रवासियों की सेवा में समर्पित रहे,
विदाई अवसर पर नायब तहसीलदार विजयपाल सिंह ,पटवारी सतीश जोशी,पटवारी रिजवान, पटवारी संजय वर्मा, अमीन प्रमोद, मनोज कुमार ,गम्भीर सिंह बिष्ट, आदि उपस्थित थे,

जय कुमार तिवारी

*हमेशा सच का साथ देना! ईमानदारी से आगे बढ़ना, दीनहीनों की आवाज को आगे पहुंचाना। सादा जीवन उच्च विचार और प्रकृति के बनाए हुए दायरे में जीवन निर्वहन करना। झूठ बोलने वालों और फरेब से दूर रहना, कभी किसी के अहित की बात नहीं सोचना। ईश्वर मेरे साथ हमेशा खड़े हैं!*

Related Articles

42 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Close